Top
मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश : ग्वालियर में मास्क न लगाने वालों से वसूला गया 22 लाख रुपये जुर्माना

Janjwar Desk
7 Aug 2020 8:11 AM GMT
मध्य प्रदेश : ग्वालियर में मास्क न लगाने वालों से वसूला गया 22 लाख रुपये जुर्माना
x
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा राज्य में कोरोना की स्थिति और व्यवस्थाओं की समीक्षा के दौरान बताया गया कि ग्वालियर में गत एक सप्ताह में पॉजिटिविटी रेट 10 प्रतिशत आया है, जिले में मास्क न पहनने पर अभी तक 22 लाख रूपए के चालान काटे गए हैं.....

ग्वालियर। मध्य प्रदेश में कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए अनिवार्य तौर मास्क पहनने का अभियान चलाया जा रहा है। ग्वालियर जिले में मास्क का उपयोग न करने वालों पर जुर्माना लगाने के साथ ही उन्हें नि:शुल्क मास्क दिए जा रहे है। यहां मास्क न पहनने वालों से अब तक बतौर जुर्माना 22 लाख रुपये वसूले गए हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा राज्य में कोरोना की स्थिति और व्यवस्थाओं की समीक्षा के दौरान बताया गया कि ग्वालियर में गत एक सप्ताह में पॉजिटिविटी रेट 10 प्रतिशत आया है। जिले में मास्क न पहनने पर अभी तक 22 लाख रूपए के चालान काटे गए हैं। मास्क न पहनने पर यहां प्रति 100 रूपए का जुर्माना लगाया जा रहा है। हालांकि उन्हें नि:शुल्क मास्क दिए जाते हैं।

ग्वालियर के जिलाधिकारी कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने विशेष तौर पर बनाईं गई कोरोना स्क्वोयड को रवाना करते हुए कहा है कि ये स्क्वोयड शहर के विभिन्न बाजारों में घूम-घूमकर सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क पहनने तथा भीड़भाड़ न होने देने जैसे निर्देशों का कड़ाई से पालन करायेंगी। साथ ही मास्क न पहनने वालों और सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करने वालों से जुर्माना भी वसूलेंगी। हर स्क्वोयड में जिला प्रशासन व नगर निगम के जिम्मेदार अधिकारियों के साथ पुलिसकर्मी भी तैनात किए गए हैं।

बताया गया है कि कोरोना स्क्वोयड द्वारा की जाने वाली कार्रवाई के लिये चैक लिस्ट भी निर्धारित की गई है। जिसके तहत शहर में शॉपिंग मॉल, होटल, दुकानों व अन्य व्यवसायिक प्रतिष्ठान तथा धार्मिक व पूजा स्थलों सहित अन्य संस्थानों व बाजारों में कोरोना गाइडलाइन का पालन कराया जाएगा। साथ ही लोगों को जागरूक भी किया जाएगा।

कोरोना स्क्वोयड वाहनों की स्मार्ट सिटी के एकीकृत कमांड कंट्रोल सेंटर के माध्यम से निगरानी होगी। इसके तहत सभी वाहनों में जीपीएस सिस्टम लगाए जा रहे हैं। स्मार्ट सिटी की सीईओ जयति सिंह ने बताया कि स्मार्ट सिटी के कमांड सेंटर में वाहनों की निगरानी के लिये विशेष व्यवस्था की गई है।

Next Story

विविध

Share it