मध्य प्रदेश

बारिश में छतरी लगाकर पौधों को सींचते शिवराज हुए ट्रोल, लोग बोले इनमें बारिश का पानी नहीं जाता CM कर रहे प्रबंध

Janjwar Desk
11 Sep 2021 8:26 AM GMT
बारिश में छतरी लगाकर पौधों को सींचते शिवराज हुए ट्रोल, लोग बोले इनमें बारिश का पानी नहीं जाता CM कर रहे प्रबंध
x

(बारिश में पौधों को पानी डालते शिवराज सिंह हुए ट्रोल)

एक सादगी तो शिवराज जी में भी है। वरना भरी बरसात में छतरी तले पौधे को पानी देना सबके बस की बात नहीं! विकास हो तो ऐसा वरना ना ही हो...

जनज्वार, इंदौर। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) ने गुरुवार को भोपाल के स्मार्ट पार्क में अशोक का पौधा लगाया, जिसके बाद उनके पौधा लगाते हुए तस्वीरें सोशल मीडिया पर चर्चा में आ गईं। दरअसल इस तस्वीर में सीएम छाता लगाकार पौधा लगा रहे हैं और फिर पानी देते हुए नजर आ रहे हैं।

पानी देने की फोटो सोशल मीडिया (Viral photo) में वायरल हुई तो लोग तरह-तरह का रिएक्शन दे रहे हैं। कुछ लोग मजाक बनाते हुए कह रहे हैं कि सीएम बारिश के मौसम में छाता लगाकर पेड़ को पानी दे रहे हैं। वहीं कोई इसे धूप से बचने की बात कहकर सही भी ठहरा रहा है।

वरिष्ठ पत्रकार अजीत अंजुम (Ajit Anjum) लिखते हैं, 'बारिश का पानी पौधे में नहीं जा पा रहा था मुख्यमंत्री जी उसी का प्रबंध कर रहे हैं।' अभिनव पांडेय लिखते हैं, 'एक सादगी तो शिवराज जी में भी है। वरना भरी बरसात में छतरी तले पौधे को पानी देना सबके बस की बात नहीं! विकास हो तो ऐसा वरना ना ही हो। पार्क, मॉल, म्यूजियम छोड़िए यहां खेतों में भी मार्बल लगवा दिया गया है। है कोई टक्कर में?

संजू गोयल नाम की यूजर ने लिखा, सर, 'मामा जी (Mama Ji) की सादगी के बारे में तो जितना लिखे कम ही होता है...यह तो शुक्र कीजिए इस बार एक इंसान को छाता पकड़ने की ड्यूटी दे रखी है वरना तो कभी-कभी "हाथी घोड़ा पालकी" की कहावत को चरितार्थ करते हुए दिखते हैं।'

बता दें कि शिवराज सिंह चौहान ने अपने ट्विटर अकाउंट (Twitter Account) पर अशोक का पेड़ लगाते हुए एक तस्वीर शेयर की है। तस्वीर शेयर करते हुए सीएम ने लिखा कि भोपाल के स्मार्ट पार्क में आज अशोक का पौधा लगाया। आइये, वर्तमान और भावी पीढ़ियों के स्वस्थ, श्रेष्ठ और मंगलमय जीवन के लिए पौधरोपण करें। इसके अलावा उन्होंने एक कविता भी शेयर की। लोकि अब ट्रोल होने के बाद सीएम के हैंडल से ट्वीट डिलीट कर दिया गया है।

Next Story

विविध

Share it