Top
मध्य प्रदेश

उमा भारती ने सभी भाजपा शासित राज्यों में शराबबंदी की पैरवी की, नीतीश की लगातार जीत का दिया उदाहरण

Janjwar Desk
22 Jan 2021 4:57 AM GMT
उमा भारती ने सभी भाजपा शासित राज्यों में शराबबंदी की पैरवी की, नीतीश की लगातार जीत का दिया उदाहरण
x
उमा भारती ने कहा है कि नीतीश कुमार को लगातार शराबबंदी के कारण ही जीत मिल रही है और इससे होने वाले राजस्व घाटे को अन्य जगहों से पूरा किया जा सकता है, इसलिए इस दिशा में कदम उठाना चाहिए...

जनज्वार। भाजपा की वरिष्ठ नेता व मध्यप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने पूर्ण शराबबंदी की पैरोकारी की है। उन्होंने अपनी पार्टी को सुझाव दिया है कि वह सभी भाजपा शासित राज्यों में शराबबंदी के फैसले को लागू करे। उमा भारती ने यह सलाह ऐसे वक्त में दी है जब उनके गृह प्रदेश मध्यप्रदेश में जहरीली शराब कांड की खबरें मीडिया में सुर्खिया बनी हुई हैं और हाल के दिनों में इससे दो दर्जन से ज्यादा लोगों की मौत हो गयी।


उमा भारती ने कहा कि शराबबंदी कहीं से भी घाटे का सौदा नहीं है। शराबबंदी से राजस्व को हुई क्षति को कहीं से भी पूरा किया जा सकता है, किंतु शराब के नशे में बलात्कार, हत्याएं, दुर्घटनाएं, छोटी लड़कियों के साथ बलात्कार जैसी घटनाएं भयावह हैं और देश एवं समाज के लिए कलंक है।

उमा भारती ने जदयू अध्यक्ष व बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का उदाहरण देते हुए कहा है कि राजनीतिक दलों पर चुनाव जीतने का दबाव रहता है और बिहार की भाजपा की जीत ने यह साबित किया है कि शराबबंदी के कारण ही महिलाओं ने एकतरफा वोट नीतीश कुमार को दिए।

कानून व्यवस्था को मेंटन करने के लिए हजारों करोड़ रुपये खर्च होते हैं, समाज में संतुलन बनाए रखने के लिए शराबबंदी एक महत्वपूर्ण कदम है, इस पर एक डिबेट शुरू की जा सकती है।

उमा भारती ने इस बात संतोष व्यक्त किया कि मध्यप्रदेश में शराब की दुकानों की संख्या को बढाने के बारे में सरकार ने अभी कोई निर्णय नहीं लिया है। उन्होंने इस संबंध में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के बयान का हवाला दिया है।

मालूम हो कि पिछले दिनों जहरीले शराब कांड के बाद मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा था कि वे मुख्यमंत्री को यह सुझाव देंगे कि गांव में सरकारी लाइसेंसी शराब की दुकानों की संख्या बढायी जाए ताकि जहरीली शराब पीने से मौतों की नियंत्रित किया जा सकता है।

Next Story

विविध

Share it