राष्ट्रीय

Manish Gupta Murder Case : पिटाई के बाद मनीष को लाश की तरह टांगकर ले जाती दिखी पुलिस, सामने आया होटल का CCTV फुटेज

Janjwar Desk
7 Oct 2021 10:06 AM GMT
kanpur news
x

(गोरखपुर के मनीष हत्याकांड में आरोपी इंस्पेक्टर और दारोगा गिरफ्तार कर लिए गए हैं)

Manish Gupta Murder Case : वीडियो में बेजान मनीष को दूसरे दारोगा और अन्य पुलिसकर्मियों के साथ लिफ्ट से नीचे भिजवाया। यह सीसीटीवी फुटेज अब एसआईटी ने अपने कब्जे में ले ली है...

Manish Gupta Murder Case (जनज्वार) : उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में पुलिस उत्पीड़न का शिकार कानपुर के प्रॉपर्टी डीलर मनीष गुप्ता मामले में एक नया वीडियो वायरल हुआ है। होटल में हुई घटना के बाद का सीसीटीवी फुटेज सामने आया है। इस सीसीटीवी फुटेज में मनीष गुप्ता के शरीर में कोई हरकत होती नहीं दिख रही है। मनीष को होटल के कमरे से जब लाउंज में लाया गया, तब मौके पर इंस्पेक्टर जगत नारायण सिंह भी मौजूद है।

दरअसल, कारोबारी मनीष गुप्ता को 27 सितंबर की रात जब पुलिसकर्मी होटल के रूम नंबर-512 से बाहर लाए तो उनके शरीर में कोई भी हरकत नहीं थी। मौके पर मौजूद इंस्पेक्टर जगत नारायण सिंह ने ही बेजान मनीष को दूसरे दारोगा और अन्य पुलिसकर्मियों के साथ लिफ्ट से नीचे भिजवाया। यह सीसीटीवी फुटेज अब एसआईटी ने अपने कब्जे में ले ली है।

वायरल हो रहे इस सीसीटीवी फुटेज में 27 सितंबर की रात 12 बजकर 10 मिनट पर तत्कालीन चौकी इंचार्ज अक्षय मिश्रा बेजान लग रहे मनीष गुप्ता को कमरे से बाहर लेकर आए थे। इसके बाद वह नीचे उतर गए। साथ में मौजूद दूसरे दरोगा ने अन्य पुलिसकर्मियों और होटल के दो स्टाफ से मनीष के हाथ-पैर पकड़वाकर होटल की लिफ्ट से नीचे उतरवाया। करीब 12 बजे के आसपास इंस्पेक्टर जगत नारायण सिंह, चौकी इंचार्ज अक्षय मिश्रा के साथ होटल कृष्णा पैलेस पहुंचे थे।

कमरे में सवाल-जवाब के बीच जो हालात हुए हो, लेकिन कमरा नंबर 512 के बाहर का नजारा साफ है। इसमें साफ दिखाई दे रहा है कि पुलिसकर्मी मनीष का हाथ-पैर पकड़कर बाहर आ रहे हैं। इस सीसीटीवी फुटेज में एक दरोगा ने तौलिया रिसेप्शन पर खड़े एक शख्स को दे दिया। बता दें कि 512 नंबर कमरे से एक तौलिया मिला था, जो खून से सना हुआ था। माना जा रहा है कि कहां ये वही तौलिया तो नहीं है, जो रिसेप्शन पर खड़े शख्स को दरोगा ने दिया था। फिलहाल सभी सीसीटीवी फुटेज एसआईटी के पास है।

चश्मदीद ने ये किया था खुलासा

इस बीच प्रॉपर्टी डीलर मनीष गुप्ता की हत्या के मामले में चश्मदीद हरवीर सिंह ने अहम खुलासा किया है। एक निजी चैनल से बात करते हुए हरवीर सिंह ने बताया कि होटल में कमरा खुलवाने पर मारपीट की शुरुआत पहले दरोगा अक्षय और जेएन सिंह ने की थी, अक्षय ने पहले उसे थप्पड़ मारा, फिर जेएन सिंह ने मनीष को थप्पड़ मारा था। कानपुर में एसआईटी टीम को बयान देने पहुंचे हत्याकांड के चश्मदीद मनीष गुप्ता के दोस्त हरवीर सिंह ने कहा कि मारपीट पहले दारोगा अक्षय मिश्रा और थानेदार जेएन सिंह ने शुरू की थी।

Next Story

विविध

Share it