राष्ट्रीय

MHA की ओर से हिजबुल-लश्कर सहित अन्य संगठनों के आतंकी घोषित 10 में से 6 का ठिकाना है पाकिस्तान

Janjwar Desk
5 Oct 2022 9:44 AM GMT
केंद्र ने HM, Lashkar और अन्य संगठनों के 10 लोगों को किया आतंकवादी घोषित, 6 का ठिकाना है पाकिस्तान
x

केंद्र ने HM, Lashkar और अन्य संगठनों के 10 लोगों को किया आतंकवादी घोषित, 6 का ठिकाना है पाकिस्तान

MHA : पीएफआई पर नकेल कसने के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ( MHA ) ने पाक समर्थित आतंकी संगठनों व उससे जुड़े 10 लोगों को आतंकवादी घोषित किया। इनमें आतंकियों का सरगना हबीबुल्लाह मलिक भी शामिल है।

MHA News : पापुलर फ्रंट आफ इंडिया पर नकेल कसने के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ( MHA ) ने आतंकी संगठनों के खिलाफ सख्त फैसला लिया है। जिस समय गृह मंत्री अमित शाह ( Amit shah ) जम्मू-कश्मीर के दौरे पर थे ठीक उसी समय केंद्र सरकार ने हिज्बुल मुजाहिदीन ( Hizbul Mujahideen ), लश्कर ए तैयबा ( LeT ) और अन्य प्रतिबंधित संगठनों के कुल 10 सदस्यों को यूएपीए ( UAPA ) के तहत आतंकवादी ( Terrorist ) घोषित कर दिया।

एमएचए ( MHA ) की ओर से जारी एक अधिसूचना के मुताबिक घोषित आतंकवादियों में एक पाकिस्तानी नागरिक सहित 6 आतंकवादी ( Terrorist ) ऐसे हैं जिनका ठिकाना पाकिस्तान ( Pakistan ) हैं। यानि 10 से एक आतंकवादी पाकिस्तानी है, पांच अन्य रहने वाले तो कश्मीर घाटी के हैं लेकिन पकड़े जाने के डर से पाकिस्तान में रहते हैं, जिन्हें पाक सरकार और वहां के चरम आतंवादी संगठनों का समर्थन हासिल है। चार अन्य कश्मीर घाटी के निवासी हैं।

आतंकवादियों का सरगना है हबीबुल्लाह मलिक

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने जिन 10 लोगों को आतंकवादी घोषित किया है उन सबका सरगना हबीबुल्लाह मलिक उर्फ साजिद जट है। हबीबुल्लाह पाकिस्तानी नागरिक है। वह ड्रोन से हमला बोलने ओर हथियार गिराने का एक्सपर्ट है। हबीबुल्लाह जून 2013 में श्रीनगर के हैदरपोरा में सेना के जवानों पर फिदायीन हमले और दिसंबर 2013 में बडगाम में एक स्टेशन हाउस अधिकारी की हत्या शामिल रहा था। मलिक ने घाटी में कट्टर आतंकवादियों का बड़ा नेटवर्क भी बनाया है और कश्मीर में कई आतंकवादी हमलों के पीछे मास्टरमाइंड रहा है। वह मलिक लश्कर-ए-तैयबा और द रेसिस्टेंस फ्रंट से जुड़ा आतंकवादी है।

वहीं लश्कर आतंकी बासित अहमद रेशी लश्कर ए तैयबा का सदस्य है। गृह मंत्रालय ने कहा कि रेशी ने 18 अगस्त 2015 को सोपोर के ताजजौर शरीफ पेठ अस्तन में बाबा अली रैना दरगाह पर एक पुलिस चौकी पर एक आतंकवादी हमले की योजना बनाई और उसे अंजाम दिया था। हमले में एक पुलिस कर्मी और एक नागरिक की मौत हो गई। रेशी युवाओं को आतंकी बनने के लिए प्रेरित करता है।

रेशी भी है पाकिस्तान में

इसके अलावा जम्मू कश्मीर के सोपोर का इम्तियाज अहमद कांडू उर्फ सजाद, पुंछ का जफर इकबाल उर्फ सलीम और पुलवामा का शेख जमील उर रहमान उर्फ शेख साहब भी पाकिस्तान में पनाह लिए हुए है। बिलाल अहमद बेघ उर्फ बाबर श्रीनगर का है लेकिन रहता पाकिस्तान में रहता है। पाकिस्तान में रह रहे अन्य लोग आतंकियों में पुंछ के रफीक नाई उर्फ सुल्तान, डोडा के इरशाद अहमद उर्फ इदरीस, कुपवाड़ा के बशीर अहमद पीर उर्फ लम्तियाज और बारामूला के शौकत अहमद शेख उर्फ शौकत मोची को भी गृह मंत्रालय ने आतंकवादी घोषित किया है।

MHA News : हिजबुल मुजाहिदीन के इम्तियाज अहमद कंडू पर कश्मीर घाटी में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने, युवाओं को आतंकवादी गुटों में शामिल होने के लिए कट्टरपंथ की और प्रेरित करने का आरोप है। वहीं जम्मू-कश्मीर इस्लामिक फ्रंट का प्रमुख और श्रीनगर निवासी बिलाल अहमद बेघ उर्फ बाबर जम्मू-कश्मीर में हथियारों और गोला-बारूद की तस्करी करता है। बिलाल का कुख्यात अंडरवर्ल्ड संस्थाओं के साथ भी संबंध हैं। विदेशों से घाटी में हवाला के जरिए पैसे लाने का काम भी करता है। रफीक नाई तहरीक-उल-मुजाहिदीन और जम्मू कश्मीर गजनवी फोर्स का लॉन्चिंग कमांडर है और पुंछ-राजौरी सेक्टर में नशीले पदार्थों और हथियारों की तस्करी और आतंकवादियों की घुसपैठ कराता है।

Next Story