राष्ट्रीय

तिहाड़ में मर्डर : 4 लोगों ने पीट-पीटकर की थी गैंगस्टर अंकित गुर्जर की हत्या, जेल अधीक्षक की भूमिका संदिग्ध

Janjwar Desk
5 Aug 2021 4:57 AM GMT
तिहाड़ में मर्डर : 4 लोगों ने पीट-पीटकर की थी गैंगस्टर अंकित गुर्जर की हत्या, जेल अधीक्षक की भूमिका संदिग्ध
x

तिहाड़ जेल में अक्सर ऐसी वारदातें होती रहती हैं. (फाईल फोटो)

इससे पहले भी एशिया की सबसे सुरक्षित जेल कही जाने वाली तिहाड़ में कत्ल, चाकूबाजी, ब्लेडबाजी के मामले सामने आते रहे हैं। खुद यहां की ड्यूटी में तैनात अफसर व मुलाजिम जेल के भीतर मोबाइल, नशा, कैश इत्यादी पहुँचाने में शामिल रहते हैं...

जनज्वार, बागपत/दिल्ली। 2014 में दादरी स्थित अपने घर के बाहर भाजपा नेता विजय पंडित की कथित तौर पर हत्या करने वाला 29 वर्षीय गैंगस्टर अंकित गुज्जर बुधवार को तिहाड़ जेल परिसर में मृत पाया गया। प्रारंभिक जांच से पता चला है कि उसे चार लोगों ने कथित तौर पर पीट-पीट कर मार डाला था, और जेल अधिकारी भी हत्या के संबंध में उप-अधीक्षक की भूमिका की जांच कर रहे हैं।

यूपी के बागपत के गुर्जर ने कथित तौर पर तीन अन्य सहयोगियों के साथ पंडित की हत्या कर दी थी। उसे 2015 में गिरफ्तार किया गया था। हत्या और रंगदारी के आठ मामलों सहित 22 अन्य मामलों में भी उसका नाम सामने आया है।

हत्या के एक मामले में तिहाड़ में था गुर्जर

गुर्जर के पिता विक्रम सिंह ने आरोप लगाया है कि उनके बेटे को प्रोटेक्शन मनी देने से इनकार करने के बाद जेल अधिकारियों ने उसकी हत्या कर दी। 'मेरा बेटा पिछले एक साल से तिहाड़ जेल में बंद था, और उसे जेल अधिकारियों ने पीट-पीटकर मार डाला। वे उससे सुरक्षा राशि के रूप में 10,000 रुपये की मांग कर रहे थे, लेकिन उसने इनकार कर दिया और उन्होंने उसे निशाना बनाना शुरू कर दिया।'

डीजी (तिहाड़) संदीप गोयल ने कहा कि वह जेल नंबर 3 में बंद था और बुधवार सुबह मृत पाया गया। "न्यायिक जांच जारी है। तिहाड़ जेल प्रशासन ने भी घटना की जांच शुरू कर दी है। अतिरिक्त डीसीपी (पश्चिम) प्रशांत गौतम ने कहा कि गुर्जर की मौत के संबंध में पुलिस को बुधवार सुबह करीब सबा 9 बजे फोन आया था।

प्रशांत गौतम ने बताया कि, 'पुलिस टीम मौके पर पहुंची और जेल नंबर 3 के डिस्पेंसरी बेड में अंकित को मृत पाया। उसके सेल के दो कैदी, गुरप्रीत और उसका भाई गुरजीत घायल हो गए और उन्हें डीडीयू अस्पताल ले जाया गया। मजिस्ट्रेट द्वारा पूछताछ की कार्यवाही चल रही है। जांच रिपोर्ट और पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।'

अधिकारियों ने कहा कि गुज्जर दक्षिण दिल्ली के जेल में बंद गैंगस्टर रोहित चौधरी का करीबी सहयोगी था और उसे पिछले साल दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ ने हरियाणा के झज्जर से गिरफ्तार किया था।

हाल ही में तिहाड़ जेल में एक कैदी की मौत का यह अकेला मामला नहीं है। पिछले महीने, दिल्ली उच्च न्यायालय ने केंद्रीय जांच ब्यूरो को 14 मई को जेल में श्रीकांत राम स्वामी नाम के एक कैदी की हत्या की जांच करने का आदेश दिया था। स्वामी, एक विचाराधीन कैदी, तिहाड़ की जेल संख्या 2 में मृत पाया गया था।

गौरतलब है कि, तिहाड़ जेल के भीतर यह कोई पहला मामला नहीं है जब इस तरह की संगीन वारदात को अंजाम दिया गया हो। इससे पहले भी एशिया की सबसे सुरक्षित जेल कही जाने वाली तिहाड़ में कत्ल, चाकूबाजी, ब्लेडबाजी के मामले सामने आते रहे हैं। खुद यहां की ड्यूटी में तैनात अफसर व मुलाजिम जेल के भीतर मोबाइल, नशा, कैश इत्यादी पहुँचाने में शामिल रहते हैं।

Next Story

विविध

Share it