राष्ट्रीय

Nagaland firing news : सुरक्षा अभियानों के दौरान नगालैंड में मारे गए कई नागरिक, 1 जवान शहीद, अमित शाह ने गहरी संवेदना जताई, SIT जांच

Janjwar Desk
5 Dec 2021 5:56 AM GMT
Nagaland firing news : सुरक्षा अभियानों के दौरान  नगालैंड में मारे गए कई नागरिक, 1 जवान शहीद, अमित शाह ने गहरी संवेदना जताई, SIT जांच
x
Nagaland firing news : नगालैंड के मुख्यमंत्री नेफियू रियो ने राज्य में "नागरिकों की हत्या" को "दुर्भाग्यपूर्ण घटना" करार दिया है। उन्होंने इस पर दुख व्यक्त किया है। साथ ही उच्च स्तरीय विशेष जांच दल से जांच के आदेश भी दिए हैं।

Nagaland firing news : म्यांमार की सीमा से लगे नगालैंड के मोन जिले के ओटिंग गांव में सुरक्षा अभियानों के दौरान कथित तौर पर "गलत पहचान" की वजह से कई लोगों के मारे जाने की खबर सामने आने के बाद यह मामला गंभीर हो गया है। इस घटना में सुरक्षा बल का एक जवान भी शहीद हो गया। घटना के बाद से नगालैंड में तनाव की स्थिति है। इस बीच केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इस घटना पर गहरी संवेदना जताई है।


अमित शाह ने क्या कहा?


केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी इस घटना पर दुख जाहिर किया है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा है, 'नगालैंड के ओटिंग, मोन में एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना से दुखी हूं। जिन लोगों ने अपनी जान गंवाई, उनके परिवारों के प्रति मैं अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं। राज्य सरकार द्वारा गठित एक उच्च स्तरीय एसआईटी इस घटना की गहन जांच करेगी, ताकि शोक संतप्त परिवारों को न्याय मिल सके।

सीएम रियो ने की सभी से शांति की अपील

नागालैंड के मुख्यमंत्री नेफियू रियो ने राज्य में "नागरिकों की हत्या" को "दुर्भाग्यपूर्ण घटना" करार दिया है। उन्होंने इस पर दुख व्यक्त किया है। साथ ही उच्च स्तरीय विशेष जांच दल से जांच के आदेश भी दिए हैं। मुख्यमंत्री नेफियू रियो ने सभी से शांति की अपील की है।


सीएम ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि-मोन के ओटिंग में दुर्भाग्यपूर्ण घटना में नागरिकों की हत्या अत्यंत निंदनीय है। शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना। उच्च स्तरीय एसआईटी जांच करेगी और देश के कानून के मुताबिक न्याय मिलेगा। सभी वर्गों से शांति की अपील।

सुरक्षा एजेंसियों की बड़ी चूक

नगालैंड की घटना दिल दहला देने के साथ ही हमारी सुरक्षा एजेंसियों की चूक है। नगालैंड में सुरक्षा बलों के एक आतंकवाद विरोधी ऑपरेशन में 'गलत पहचान' के चलते कई स्थानीय लोग मार दिए गए। पुलिस सूत्रों के मुताबिक मरने वालों की संख्या करीब एक दर्जन है। वहीं, सुरक्षा बल का एक जवान की भी मौत हो गई।

सेना के अधिकारेियों ने भी जताया दुख

भारतीय सेना ने एक आधिकारिक अपने बयान में कहा कि विद्रोहियों के संभावित आंदोलन की विश्वसनीय खुफिया जानकारी के आधार पर एक विशेष अभियान चलाने की योजना बनाई गई थी। 'गलत पहचान' सूचना के की वजह से हुई इस घटना को लेकर सेना के लिए दुखद घटना है। सेना ने इस पर गहरा खेद भी जताया है। दुर्घटना में जान गंवाने के कारणों की उच्च स्तर पर जांच की जा रही है और कानून के अनुसार उचित कार्रवाई की जाएगी। इस घटना में सुरक्षा बलों को गंभीर चोटें आई हैं, जिसमें एक सैनिक भी शामिल है, जिसकी मौत हो गई।

Next Story

विविध

Share it