राष्ट्रीय

कोरोना महामारी के दौरान बिलों में दुबकर बैठे भाजपा नेताओं को राष्ट्रीय नेतृत्‍व का आदेश, जनता की करें मदद

Janjwar Desk
23 May 2021 5:00 AM GMT
कोरोना महामारी के दौरान बिलों में दुबकर बैठे भाजपा नेताओं को राष्ट्रीय नेतृत्‍व का आदेश, जनता की करें मदद
x

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा 

अधिकतर जिलों से लगातार खबरें आ रही थीं कि वहां के विधायक और सांसद जनता का फोन नहीं उठा रहे हैं। जनता की कोई मदद नहीं कर रहे हैं। ऐसे मामले भाजपा शासित राज्यों में सबसे ज्यादा देखने में आये।

जनज्वार ब्यूरो। कोरोना महामारी की दूसरी लहर अब धीरे-धीरे थम रही है। कोरोना संक्रमण के मामले कम होने लगे हैं। ऐसे में अब जाकर भारतीय जनता पार्टी का राष्ट्रीय नेतृत्व जागा है। पार्टी के राष्ट्रीय नेतृत्व ने भाजपा के नेताओं से ज्यादा सहानुभूति और संवेदना के साथ लोगों की मदद के लिए उतरने का आह्वान किया है। हमने देखा है महामारी के कारण बीते दिनों लाखों केस सामने आ रहे है। हर दिन करीब चार हजार से ज्यादा मौतें हुई है। इस दौरान महामारी से लड़ने में केंद्र सरकार और राज्यों की सरकारें भी फेल साबित हुई हैं।

लोगों में है गुस्सा-

कोरोना महामारी की तबाही के दौरान भाजपा नेताओं का जमीन से गायब रहना लोगों में गुस्से का एक बड़ा कारण है।अधिकतर जिलों से ऐसी खबरें आ रही थी कि वहां के विधायक और सांसद जनता का फोन नहीं उठा रहे हैं। जनता की कोई मदद नहीं कर रहे हैं। ऐसे मामले भाजपा शासित राज्यों में सबसे ज्यादा देखने में आये। उत्तर प्रदेश के लगभग हर जिले का यही हाल था। जिसका एक कारण पंचायत चुनाव भी था। कोई जनप्रतिनिधि जनता का फोन नही उठा रहा था। इस वजह से लोगों में अपने क्षेत्रीय विधायकों व सांसदों के प्रति गुस्सा है।

साख बचाने में जुटा भाजपा का शीर्ष नेतृत्व-

जानकारी के अनुसार पार्टी के नेतृत्व ने नेताओं को अपनी सामाजिक गतिविधियों को बढ़ाने का आदेश दिया है। उन्हें लोगों को दवाओं की डिलीवरी, हॉस्पिटल में बेड उपलब्ध कराने, स्वास्थ्य क्षेत्र की निगरानी रखने और सरकारी अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट लगाए जाने जैसे कामों में आगे रहकर शामिल होने के निर्देश दिए हैं।

पहले भारी लापरवाही अब आँसू पोछने की कोशिश-

जिस समय संक्रमण के मामले बढ़ना शुरू हुये थे उस समय देश में एक तरफ राज्यों में विधानसभा चुनाव तो दूसरी तरफ उत्तराखंड में कुम्भ मेले का आयोजन किया जा रहा था। उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव ने बीमारी को गांव-गांव तक फैला दिया। उस समय सरकार ने संक्रमण को रोकने हेतु तत्काल जरूरी कदम नही उठाये और न ही महामारी से लड़ने हेतु कोई पूर्व तैयारी की गयी थी। ऐसे समय में भी प्रधानमंत्री चुनावी रैलियों को संबोधित कर रहे थे। इन कारणों से हुई मानवीय क्षति अब हम लोगों के सामने है।

भाजपा नेताओं के अनुसार कोरोना महामारी से पीड़ित लोगों को राहत और पुनर्वास मुहैया कराना पार्टी की योजना का अगला हिस्सा है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने शनिवार को भाजपा शासित राज्यों से कोरोना महामारी के कारण अनाथ हुए बच्चों के लिए योजनाएं और कार्यक्रम तैयार करने का आग्रह किया है। इन कार्यक्रमों को मोदी सरकार की सातवीं वर्षगांठ यानी 30 मई से पहले लांच करने का आदेश दिया गया है।

राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भाजपा शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों को चिट्ठी लिखकर उनसे आवेदन किया है कि वह भाजपा सरकार की वर्षगांठ पर कोई कार्यक्रम का आयोजन न करें बल्कि इस दौरान लोगों का आभार जताने के लिए अलग-अलग कल्याणकारी योजनाएं लांच की जायें। आपको बता दें कि बड़े स्तर पर भाजपा की आलोचना के बाद पार्टी ने सेवा ही संगठन- 2 नाम से कार्यक्रम भी शुरू किया है।

Next Story

विविध

Share it