Top
राष्ट्रीय

INS विक्रांत से संवेदनशील डाटा चुराने के मामले में बिहार का सुमित कुमार और राजस्थान का दया कुमार गिरफ्तार

Janjwar Desk
11 Jun 2020 8:52 AM GMT
INS विक्रांत से संवेदनशील डाटा चुराने के मामले में बिहार का सुमित कुमार और राजस्थान का दया कुमार गिरफ्तार
x
शिपयार्ड के एयरक्राफ्ट कैरियर से डाटा चुराने वालों को एनएसए ने दबोचा, बिहार के मुंगेर और राजस्थान के हनुमानगढ़ के इन शातिरों पर एनएसए ने 5 लाख के इनाम की घोषणा की थी।

जनज्वार ब्यूरो, जयपुर। भारत के पहले स्वदेशी युद्धपोत से जुड़े शिपयार्ड के एयरक्राफ्ट करियर से संवेदनशील डाटा व उपकरण चोरी के मामले में राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी ने दो शातिरों को दबोच लिया है। इनमें से एक बिहार के मुंगेर और दूसरा राजस्थान के हनुमानगढ़ का रहने वाला बताया जाता है।

एनआईए के प्रवक्ता ने बताया कि एजेंसी ने बिहार के मुंगेर जिले के निवासी सुमित कुमार सिंह (23) और राजस्थान के निवासी दया राम (22) को गिरफ्तार किया है। दोनों के ऊपर 5 लाख का इनाम घोषित किया गया था।

नपर आरोप है कि गत वर्ष इन्होंने आईएनएस विक्रांत के केरल स्थित शिपयार्ड के इडिजिनस एयरक्राफ्ट कैरियर से संवेदनशील डाटा और कुछ उपकरणों की चोरी की थी। जो जानकारी सामने आ रही है उसके अनुसार पिछले वर्ष सितंबर महीने में केरल के एर्नाकुलम पुलिस स्टेशन में कोच्चि शिपयार्ड ऑथोरिटी द्वारा मामला दर्ज कराया गया था।

बाद में यह मामला राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी को सौंप दिया गया था। इनको दबोचने कर के लिए एनएसए ने बिहार, गुजरात और राजस्थान में एक साथ छापामारी की। इस छापामारी में मुंगेर के सुमित कुमार सिंह और हनुमानगढ़ के दयाराम को गिरफ्तार कर लिया गया।एनएसए द्वारा दोनों से पूछताछ चल रही है।

नएसए की टीम द्वारा इन्हें गिरफ्तार कर केरल ले जाए जाने की सूचना है। सूत्र बता रहे हैं कि कुछ वर्ष पूर्व ये दोनों पोत पर पेंटिंग का काम भी कर चुके हैं। इन दोनों पर एयरक्राफ्ट कैरियर से माइक्रो प्रोसेसर, सॉलिड स्टेट ड्राइवर, हार्ड डिस्क आदि चुराए जाने के आरोप हैं।

पलब्ध जानकारी के अनुसार केरल में मामला दर्ज होने के बाद जांच का जिम्मा मिलने पर एनएसए ने शिपयार्ड पर कार्यरत लगभग 4 हजार कर्मियों से पूछताछ शुरू की थी।सभी के फिंगरप्रिंट लिए गए थे।मामला हाथ मे आने के बाद एनआईए ने दुबारा 26 सितंबर 2019 को एफआईआर दर्ज कर छानबीन शुरू की थी।

ह मामला काफी संवेदनशील बताया जा रहा है, इसलिए एनएसए अभी ज्यादा खुलासा करने से बच रही है। आरोपियों से पूछताछ होने के बाद और खुलासा होने की उम्मीद है।

Next Story

विविध

Share it