राष्ट्रीय

अमिताभ ठाकुर की गिरफ्तारी पर बिहार के IPS ने पत्र भेजकर सीएम योगी को दी चुल्लू भर 'गंगाजल' में डूब मरने की सलाह

Janjwar Desk
28 Aug 2021 5:17 AM GMT
अमिताभ ठाकुर की गिरफ्तारी पर बिहार के IPS ने पत्र भेजकर सीएम योगी को दी चुल्लू भर गंगाजल में डूब मरने की सलाह
x

(बिहार के आईपीएस ने योगी को दी डूब मरने की सलाह)

1994 बैच के आईपीएस अमिताभ कुमार दास ने योगी आदित्यनाथ के सरकारी आवास 5, कालीदास मार्ग में पत्र भेजकर अमिताभ ठाकुर की गिरफ्तारी पर रोष व्यक्त किया है। यहां तक की उन्होने योगी आदित्यनाथ को चुल्लू भर पानी में डूब मरने की बात कही है...

जनज्वार, लखनऊ। पूर्व आईपीएस (IPS) अमिताभ ठाकुर की गिरफ्तारी के बाद लगातार सूबे की योगी सरकार का विरोध हो रहा है। राजनैतिक दलों सहित तमाम पूर्व अधिकारियों और पत्रकारों ने सरकार के इस कदम की कड़ी निंदा की है।

इसी कड़ी में अब बिहार (Bihar) से 1994 बैच के आईपीएस अमिताभ कुमार दास ने योगी आदित्यनाथ (अजय सिंह बिष्ट) के सरकारी आवास 5, कालीदास मार्ग में पत्र भेजकर अमिताभ ठाकुर की गिरफ्तारी पर रोष व्यक्त किया है। यहां तक की उन्होने योगी आदित्यनाथ को चुल्लू भर पानी में डूब मरने की बात कही है।

पत्र के जरिए दास ने 1992 बैच के आईपीएस अमिताभ ठाकुर (Amitabh Thakur) को लेकर तीन सूत्रीय बातें कहीं हैं, जिसमें लिखा गया है कि, 'ठाकुर की गिरफ्तारी के वीडियो वायरल हुए हैं। उन्हें चप्पल तक पहनने की अनुमति नहीं दी गई। श्री ठाकुर ने हाल ही में आपके विरूद्ध चुनाव लड़ने की घोषणा की थी।'

दास ने पत्र में आगे लिखा है, 'उत्तर प्रदेश में मेरे बैच के कई आईपीएस तैनात हैं। उन्होने मुझे बताया कि आप (योगी) ठाकुर (राजपूत) अपराधियों को खुलकर संरक्षण देते हैं। इसी वजह से माफिया डॉन राजा भैया (रघुराज प्रताप सिंह) के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं होती।'

योगी के लिए IPS अमिताभ कुमार दास का पत्र

आईपीएस दास द्वारा तीसरे नंबर पर लिखा गया है कि, 'राजा भैया को संरक्षण और अमिताभ ठाकुर की गिरफ्तारी बताती है कि उत्तर प्रदेश में माफिया राज है। यदि आप में थोड़ी सी भी लज्जा बची है, तो चुल्लू भर गंगा जल में डूब मरें। ये मेरा विनम्र सुझाव है।'

गौरतलब है कि कल पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर को उनके गोमती नगर स्थित विराम खंड आवास से पुलिस ने जबरन गिरफ्तार कर लिया। आरोप है कि सुप्रीम कोर्ट के बाहर आत्मदाह कर मरने वाली लड़की को सांसद सहित पुलिस ने आत्मदाह के लिए मजबूर किया था, जिसमें ठाकुर का भी नाम था।

Next Story

विविध

Share it