राष्ट्रीय

'चलो मुजफ्फरनगर': किसान महापंचायत के तैयारियां जोरों पर, जुटेंगे 5 लाख से ज्यादा किसान

Janjwar Desk
4 Sep 2021 2:49 PM GMT
चलो मुजफ्फरनगर: किसान महापंचायत के तैयारियां जोरों पर, जुटेंगे 5 लाख से ज्यादा किसान
x
गौरव टिकैत ने बताया कि शहर में अलग-अलग जगह पांच सौ भंडारों में भोजन की व्यवस्था की गई है। एक-एक भंडारे में हलवाई समेत दस दस लोग लगाए गए हैं। भंडारों के अलावा 110 गांवों से खाना बनकर आएगा....

जनज्वार। सितंबर 2020 में पारित किए गए तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसान दिल्ली में डटे हुए हैं। वहीं दूसरी ओर संयुक्त किसान मोर्चा के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में किसान महापंचायत की तैयारियां जोरों पर है। यह किसान महापंचायत 5 सितंबर यानि कल मुजफ्फरनगर के जीआईसी ग्राउंड में होनी है। किसानों की ओर से दावा किया जा रहा है कि इसमें देशभर से पांच लाख से ज्यादा किसान पहुंचेंगे। भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष नरेश टिकैत के बेटे गौरव टिकैत खुद तैयारियों में जुटे हुए हैं।

जीआईसी ग्राउंड में विशाल टैन्ट लगाया गया है। चौतरफा लाउडस्पीकर लगाए गए हैं। बीच-बीच हो रही बारिश के चलते जमा पानी की निकासी भी किसान कर रहे हैं। इसके साथ ही किसानों के लिए खाना तैयार करने में पांच हजार कारीगर जुटे हैं। अलग-अलग जगहों पर पांच सौ भंडारे होंगे। दूसरी ओर शहर जगह-जगह होर्डिंग्स लगाए गए हैं जिनमें 'किसान एकता जिंदाबाद', 'किसानों की ताकत देखेगा भारत' जैसे नारे लिखे हुए हैं। इसके साथ ही बड़ी संख्या में किसानों के जत्थे भी पहुंचने शुरू हो गए हैं।

जीआईसी ग्राउंड में किसान महापंचायत के लिए एक बड़ा मंच बनाया गया है जो करीब सौ फीट लंबा और सौ फीट चौड़ा है और ऊंचाई दस फीट है। यहीं से महापंचायत में आने वाले किसानों को संबोधित किया जाएगा। यहां पहुंचने वाले किसानों के लिए खाने-पीने, रुकने की व्यवस्था की गई है। इसका जिम्मा भारतीय किसान यूनियन के नेता गौरव टिकैत देख रहे हैं।

गौरव टिकैत ने बताया कि शहर में अलग-अलग जगह पांच सौ भंडारों में भोजन की व्यवस्था की गई है। एक-एक भंडारे में हलवाई समेत दस दस लोग लगाए गए हैं। भंडारों के अलावा 110 गांवों से खाना बनकर आएगा। अन्य जगह भी भट्ठी चढ़ा दी गई है।

खबरों के मुताबिक लाखों किसान यहां पहुंचने शुरू हो गए हैं। एक जत्थे में 100 से 250 तक किसान शामिल हैं। इन में बच्चे और महिलाएं भी भारी संख्या में आ रहे हैं।

वहीं किसानों की इतनी बड़ी तैयारी देख प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए हैं। किसान महापंचायत की सुरक्षा व्यवस्था उसके चुनौती बन गई है। मेरठ जोन के एडीजी राजीव सभरवाल, डीआईजी सहारनपुर प्रतिंदर सिंह और एसएसपी मुजफ्फरनगर अभिषेक यादव सुरक्षा इंतजामों का जायजा ले रहे हैं। आठ कंपनी पीएसी, आरएएफ, यूपी पुलिस, एटीएस की टीम तैनात की गई है। करीब तीन हजार जवान सुरक्षा में लगेंगे।

एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने ऐसे अधिकारियों को जिम्मेदारी दी है, जो पहले मुजफ्फरनगर में तैनात रहे हैं और किसानों-भाकियू नेताओं में अच्छी पहचान रखते हैं। अपर पुलिस उपायुक्त लखनऊ से श्रवण कुमार सिंह और अपर पुलिस अधीक्षक शाहजहांपुर सें संजीव बाजपेई को लगाया गया है। अपर पुलिस अधीक्षक आगरा से शिवराम यादव, नोएडा से प्रबल प्रताप सिंह लगाए हैं। यह चारों ही अफसर मुजफ्फरनगर में लंबे समय तक तैनात रहे हैं। कई आईपीएस अफसर भी दूसरे जिलों से लगाए गए हैं।

सोशल मीडिया पर चलो मुजफ्फरनगर हैशटैग के साथ किसान महापंचायत में पहुंचने की अपील की जा रही है।





Next Story

विविध

Share it