पंजाब

#ArrestCharanjitChanni पंजाब का पहला दलित CM बनते ही उठने लगी गिरफ्तारी की मांग, ट्वीटर पर हुआ ट्रेंड

Janjwar Desk
20 Sep 2021 8:56 AM GMT
punjab news
x

चरनजीत चन्नी (file photo)

चरनजीत सिंह चन्नी का पंजाब के नए मुख्यमंत्री के तौर पर जैसे ही नाम का ऐलान हुआ उसके कुछ समय बाद ही उनसे जुड़े विवाद भी एक बार फिर से सामने आने लगे व लोग उनपर आपत्तिजनक टिप्पडी करने लगे

Punjab News (जनज्वार) : दलित नेता चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjeet Singh Channi) पंजाब के नए मुख्यमंत्री की शपथ ले चुके है। लंबे मंथन के बाद कांग्रेस हाईकमान ने चरणजीत सिंह चन्नी को विधायक दल का नेता चुन लिया है। वही इसकी जानकारी कांग्रेस के पंजाब प्रभारी हरीश रावत ने ट्वीट कर दी।

मालवीय ने ट्वीट कर दी जानकारी

इस संबंध में भाजपा के आईटी सेल (BJP IT Cell) के प्रमुख अमित मालवीय (Amit Malviya) ने भी इस मामले को अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा है कि यह मामला 2018 का है। चरणजीत सिंह चन्‍नी पर आरोप लगा था कि उन्होंने एक महिला आईएएस अधिकारी को 2018 में अश्‍लील मैसेज भेजा था।

वही महिला IAS ने उनके खिलाफ आधी रात को आपत्तिजनक मैसेज भेजने के लिए शिकायत की थी। बाद में कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने कहा था कि मामला सुलझा लिया गया है। हालांकि, यह मामला आज दोबारा सामने आया, जब पंजाब महिला आयोग ने राज्य सरकार को नोटिस भेजकर इस आरोप पर जवाब मांगा है।

वही मालवीय ने ट्वीट कर यह भी कहा कि," कुछ दिन पहले कांग्रेस ने राजस्थान में बाल विवाह को पंजीकृत कराने के लिए एक बिल पास किया और उसके बाद कई लड़कियों के साथ बुरे काम भी किये गए।

पार्षद से मुख्यमंत्री तक का सफर

चरणजीत सिंह चन्नी चमकौर साहिब विधानसभा सीट से विधायक हैं और कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार में तकनीकी शिक्षा और औद्योगिक प्रशिक्षण मंत्री थे। इससे पहले वह 2015 से 2016 तक पंजाब विधानसभा में विपक्ष के नेता थे। कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार में 16 मार्च 2017 को 47 साल की उम्र में कैबिनेट मंत्री बनाया गया व चमकौर साहिब सीट से चन्नी तीसरी बार भी विधायक हैं।

मोहाली के खरड़ से है गहरा नाता

चरनजीत सिंह चन्नी का मोहाली के खरड़ से गहरा नाता है। पढ़ाई-लिखाई के बाद उन्होंने खरड़ से ही अपना राजनीतिक जीवन एक पार्षद के रूप से शुरू किया था। खरड़ में उनके मुख्यमंत्री बनने के बाद से खुशी का माहौल है। चरनजीत के घर लोग उनको बधाइयां व शुभकामनाएं देने पहुँचे।

अब देखना यह होगा कि पंजाब के नए CM पर लग रहे सवालों से उनकी कुर्सी पर कितना फर्क पड़ेगा, क्या वह इन सवालों को पूरी तरह झुटला पाएंगे ओर अपनी कुर्सी पर किसी भी तरह की आंच नहीं आने देंगे।

Next Story

विविध

Share it