राष्ट्रीय

Rahul Gandhi : जिसके राज में प्रजा दुखी वह राजा नर्क का अधिकारी, रामचरितमानस के दोहे के साथ राहुल का दशहरा संदेश

Janjwar Desk
15 Oct 2021 5:32 AM GMT
Rahul Gandhi News :  राहुल गांधी ने मोदी पर साधा निशाना, कहा जो भी भाजपा-आरएसएस के नफरत के खिलाफ हैं वो एक साथ आएं
x

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और पीएम नरेंद्र मोदी। 

Rahul Gandhi : कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक संदेश देते हुए देश के लोगों को दशहरे की शुभकामनाएं दी हैं, साथ ही उन्होंने अपने ट्वीट के जरिए मौजूदा सरकार पर अलग अंदाज में तंज कसा है..

Rahul Gandhi : शारदीय नवरात्र (Sharad Navratra) के नौ दिनों तक पूजा व उपासना के बाद आज पूरे देश में विजयादशमी (Vijayadashami) यानी दशहरे (Dussehra) का त्योहार मनाया जा रहा है। विजयादशमी यानी दशहरे के पर्व को बुराई पर अच्छाई, असत्य पर सत्य और अधर्म पर धर्म की जीत का प्रतीक माना जाता है। इन्हीं सब कारणों से इस दिन कई जगहों पर रावण के पुतलों का दहन किया जाता है। विजयादशमी यानी दशहरा पर राहुल गांधी (Rahul Gandhi) समेत कई राजनेताओं ने देशवासियों को सोशल मीडिया के जरिए दशहरे की बधाई दी है।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने एक संदेश देते हुए देश के लोगों को दशहरे की शुभकामनाएं दी हैं। साथ ही राहुल गांधी ने अपने ट्वीट के जरिए मौजूदा सरकार पर अलग अंदाज में तंज कसा है।

राहुल गांधी ने दशहरा की शुभकामनाओं (Greetings of Dashahara) के साथ रामचरितमानस (Ramcharitmanas) की पंक्तियां लिखकर देश की जनता को अलग अंदाज में संदेश दिया। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, "जासु राज प्रिय प्रजा दुखारी, सो नृप अवसि नरक अधिकारी।" जय सिया राम!" राहुल गांधी ने जो पंक्तियां ट्वीट की हैं उनका अर्थ है- जिसके राज में प्रजा दुखी होती है, वह राजा नरक का अधिकारी होता है।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने इससे पहले पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर बृहस्पतिवार को केंद्र सरकार पर निशाना साधा था। राहुल ने दावा किया कि एक दिन जनता दुखी होकर इस 'कुशासन' का खत्मा करेगी।

उन्होंने 'जीडीपी' (गैस, डीजल और पेट्रोल) की कीमतों में बढ़ोतरी को दर्शाने वाला एक ग्राफ भी ट्विटर पर साझा किया।

कांग्रेस नेता ने कहा था, ''पुरानी लोककथाओं में ऐसे लालची कुशासन की कहानी होती थी जो अंधाधुंध कर वसूली करता था। पहले जनता दुखी हो जाती लेकिन अंत में जनता ही उस कुशासन को ख़त्म करती थी। असलियत में भी ऐसा ही होगा।''

गौरतलब है कि पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बृहस्पतिवार को एक बार फिर 35 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई, जिससे देश भर के पंपों पर इनकी खुदरा कीमतें अब तक के उच्चतम स्तर पर पहुंच गईं।

राहुल गांधी ने ट्वीट कर पूछा कि सरकार ने जीडीपी यानी गैस, डीजल और पेट्रोल से 23 लाख करोड़ रुपये कमाए हैं लेकिन ये रुपये गए कहां? कांग्रेस नेता ने ग्राफिक्स के जरिए इस मुद्दे को उठाया। राहुल ने जो ग्राफिक्स शेयर किया है।

वीडियो की पृष्ठभूमि में उनकी आवाज आ रही है, "23 लाख करोड़ रुपये सरकार ने जीडीपी से कमाया है। ग्रॉस डोमेस्टिक वाली जीडीपी नहीं, गैस-डीजल-पेट्रोल वाली जीडीपी। मेरा सवाल है- ये 23 लाख करोड़ रुपये गए कहां? और जनता को ये पूछना चाहिए कि आपके जेब से जो छीना जा रहा है, निकाला जा रहा है, वह कहां जा रहा है?"

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने टैक्स एक्सटॉर्शन यानी कर उगाही और फ्युल प्राइसेज हैशटैग के साथ यह ट्वीट किया था, "पुरानी लोककथाओं में ऐसे लालची कुशासन की कहानी होती थी जो अंधाधुंध टैक्स वसूली करता था। पहले जनता दुखी हो जाती लेकिन अंत में जनता ही उस कुशासन को ख़त्म करती थी। असलियत में भी ऐसा ही होगा।"

Next Story

विविध