Top
राष्ट्रीय

चीन का नाम न लेकर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने किया हमारी सेना का अपमान क्यों : राहुल गांधी

Janjwar Desk
18 Jun 2020 1:30 AM GMT
चीन का नाम न लेकर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने किया हमारी सेना का अपमान क्यों : राहुल गांधी
x
पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में सोमवार 15 जून की रात भारत व चीनी सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हो गई, जिसमें एक अधिकारी सहित भारतीय सेना के 20 सैनिक शहीद हो गए।

जनज्वार। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के बयान में 'चीन का जिक्र नहीं होने' को लेकर निशाना साधा और कहा कि उन्हें 'गुमराह करने' के बजाय सामने आकर जवाब देना चाहिए। राहुल ने यह सवाल भी किया कि जवानों की शहादत पर दुख प्रकट करने में राजनाथ सिंह को दो दिन का समय क्यों लगा? उन्होंने कहा कि अगर यह इतना दर्दनाक था तो अपने ट्वीट में चीन का नाम न लेकर भारतीय सेना का अपमान क्यों किया?

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने एक ट्वीट में कहा, 'अगर यह (शहादत) बहुत पीड़ादायक थी तो फिर आपने अपने ट्वीट में चीन का नाम क्यों नहीं लिया? दुख जताने में दो दिन का समय क्यों लगा? जब हमारे जवान शहीद हो रहे थे तो आप रैलियां क्यों कर रहे थे? आप क्यों छिप गए और 'क्रोनी मीडिया' को सेना को जिम्मेदार ठहराने दिया?'

राजनाथ सिंह ने बुधवार 17 जून की दोपहर को एक अधिकारी सहित 20 भारतीय सैनिकों की शहादत पर शोक व्यक्त करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की, जिसके बाद कांग्रेस नेता की यह टिप्पणी सामने आई। रक्षामंत्री ने चीनी सेना के साथ हिंसक झड़प में शहीद हुए भारतीय जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि गलवान घाटी में सैनिकों को गंवाना बहुत परेशान करने वाला और दुखद है।

रक्षामंत्री ने कहा कि भारतीय जवानों ने कर्तव्य का पालन करते हुए अदम्य साहस एवं वीरता का प्रदर्शन किया और अपनी जान न्यौछावर कर दी। राजनाथ ने ट्वीट किया, 'देश अपने सैनिकों की बहादुरी और बलिदान को कभी नहीं भूलेगा। शहीद सैनिकों के परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं। देश इस मुश्किल समय में उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है। हमें भारत के वीरों की बहादुरी और साहस पर गर्व है।'

पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में सोमवार 15 जून की रात भारत व चीनी सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हो गई, जिसमें एक अधिकारी सहित भारतीय सेना के 20 सैनिक शहीद हो गए।

Next Story

विविध

Share it