Begin typing your search above and press return to search.
राष्ट्रीय

राजस्थान की राजधानी में अब शिक्षिका को पेट्रोल डालकर फूंक डाला रिश्तेदारों ने, उधार के पैसों को लेकर चल रहा था विवाद

Janjwar Desk
17 Aug 2022 9:45 AM GMT
राजस्थान की राजधानी में अब शिक्षिका को पेट्रोल डालकर फूंक डाला रिश्तेदारों ने, उधार के पैसों को लेकर चल रहा था विवाद
x

राजस्थान की राजधानी में अब शिक्षिका को पेट्रोल डालकर फूंक डाला रिश्तेदारों ने, उधार के पैसों को लेकर चल रहा था विवाद

Jaipur News : एक दलित शिक्षिका पर उसके ही कुछ रिश्तेदारों ने पेट्रोल डालकर शिक्षिका को आग के हवाले कर दिया, अस्पताल में बुधवार की तड़के शिक्षिका की दर्दनाक मौत हो गई है...

Jaipur News : राजस्थान के जालौर जिले में एक दलित बच्चे की पिटाई से हुई मौत की खबर की स्याही सूखने से पहले एक और हृदयविदारक खबर प्रदेश की राजधानी जयपुर से आ रही है। इस घटना में एक दलित शिक्षिका पर उसके ही कुछ रिश्तेदारों ने पेट्रोल डालकर शिक्षिका को आग के हवाले कर दिया। अस्पताल में बुधवार की तड़के शिक्षिका की दर्दनाक मौत हो गई है। इस मामले में हैरान करने वाली बात यह है कि सूचना देने के बाद भी पुलिस मौके पर नहीं पहुंची। अलबत्ता अब लीपापोती के पूरे प्रयास हो रहे हैं।

मामला जयपुर ग्रामीण में स्थित जमवारामगढ़ क्षेत्र में स्थित रायसर थाना क्षेत्र का है। मृतका अनिता देवी और आरोपियों के बीच उधर की रकम को लेकर लेनदेन विवाद था। इसी विवाद के चलते दोनों पक्षों में भी झगड़ा हुआ था। लेकिन उस समय मामला सुलट गया था। लेकिन बाद में रैगर मोहल्ले में वीणा मेमोरियल स्कूल की टीचर अनीता रेगर (32) जब अपने बेटे राजवीर (6) के साथ स्कूल जा रही थी तो इन लोगों ने अनीता को घेरकर उस पर हमला कर दिया।

अनीता खुद को बचाने के लिए अपने बच्चे के साथ पास ही में कालूराम रैगर के घर में घुस गई। अपनी जान बचाने की नियत से महिला टीचर अनीता ने 100 नंबर और रायसर थाने को सूचना भी दी। लेकिन इल्जाम यह है कि पुलिस मौके पर ही नहीं पहुंची। इसी दौरान आरोपियों ने अनीता पर पेट्रोल छिड़ककर अनीता को आग लगा दी। बाद में अनीता को बुरी तरह जली हालत में जयपुर के एसएमएस अस्पताल के बर्न वार्ड में भर्ती कराया गया लेकिन बुधवार की तड़के अनिता ने एसएमएस अस्पताल में दम तोड़ दिया। इस लोमहर्षक घटना का किसी ने वीडियो भी बनाया है, जो अनीता की मौत के बाद वायरल होने लगा है।

इस पूरे मामले में पुलिस की भूमिका बेहद संदिग्ध बताई जा रही है। इस घटना के बाद फिलहाल पुलिस अधिकारी किसी भी प्रकार की जानकारी देने से बचते नजर आ रहे हैं। मामले में करीब दस लोग जिम्मेदार बताए जा रहे हैं। शेष विवरण की प्रतिक्षा है।

Janjwar Desk

Janjwar Desk

    Next Story