Top
राजस्थान

भाजपा सांसद जसकौर मीणा का बयान, 'किसान आंदोलन में AK-47 लेकर बैठे हैं आतंकवादी, मोदी हैं युगपुरुष'

Janjwar Desk
21 Jan 2021 4:52 AM GMT
भाजपा सांसद जसकौर मीणा का बयान, किसान आंदोलन में AK-47 लेकर बैठे हैं आतंकवादी, मोदी हैं युगपुरुष
x

 जसकौर मीणा.   Photo - Social Media.

भाजपा सांसद जसकौर मीणा ने पूरे ठंड के मौसम में सड़क पर हजारों किसानों के अपनी मांगों के लिए रात गुजारने को देश के लिए रूकावट बताया है जबकि पीएम मोदी को देश बदल देने वाला युग पुरुष करार दिया है...

जनज्वार। किसान आंदोलन पर भाजपा नेताओं द्वारा विवादित बयान देने का सिलसिला जारी है। राजस्थान के दौसा से भाजपा की सांसद जसकौर मीणा ने कहा है कि किसान आंदोलन में एके-47 लेकर आतंकवादी बैठे हुए हैं और वहां खालिस्तानी झंडा लगाया गया है।

इसके साथ ही जसकौर मीणा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को युग पुरुष बताया है। कांग्रेस की राजस्थान इकाई ने बुधवार को जसकौर मीणा का एक वीडियो शेयर कर उनके बयान पर सवाल उठाया। वीडियो में जसकौर यह कह रही हैं कि अभी कृषि कानून का ही देख लीजिए, आतंकवादी बैठे हुए हैं और एके 47 रखी हुई है और खालिस्तान का झंडा लगाया है। उन्होंने कहा कि ऐसी परिस्थिति में हम कैसे सोचें कि इस देश की कितनी रूकावट है।

राजस्थान कांग्रेस ने जसकौर मीणा का वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा कि दौसा से भाजपा की सांसद जसकौर मीणा की घृणित सोच और अमर्यादित भाषा सुनिए, सत्ता के अहंकार में इतने अंधे हो गए हैं कि इन्हें देश का अन्नदाता आतंकी दिखता है। विरोध करने वालों को आतंकवादी और खालिस्तानी बताने का संस्कार तो इन्हें संघ से ही मिला होगा।

जसकौर मीणा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ऐसा युगपुरुष बताया है जो देश को बदलना चाहते हैं और कृषि कानून इसी के लिए उठाया गया एक कदम है।

वहीं, जसकौर के इस बयान पर राजस्थान कांग्रेस के अध्यक्ष व राज्य सरकार में मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि राजस्थान के लोग जसकौर मीणा को सांसद चुनने में शर्म महसूस कर रहे हैं, जो एक सांसद के रूप में ऐसी घृणित मानसिकता रखती हैं। उन्होंने कहा कि इन्हंे भविष्य के साथ इतिहास माफ नहीं करेगा।

वहीं, भाजपा नेता रामलाल शर्मा ने कहा कि जसकौर मीणा का उद्देश्य किसानों को आतंकवादी कहना नहीं है। उनका कहने का उद्देश्य था कि कुछ लोग जो खालिस्तान की मांग कर रहे हैं या उसका झंडा उठाये हुए हैं या उसके लिए नारे लगा रहे हैं वे किसान आंदोलन के बीच घुसपैठ कर गए हैं। उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस को किसानों की चिंता होती तो सात लाख किसानों को राहत मिल चुकी होती जो कर्जदार है और उन्हें अब कर्ज नहीं मिल रहा है।

मालूम हो कि कोरोना संकट के क्षेत्र वासियों ने सांसद जसकौर मीणा के लापता होने का पोस्टर दौसा संसदीय क्षेत्र में पड़ने वाले सिकराय में लगाया था और सांसद को ढूंढ लाने वालों को 21 हजार रुपये नकद और पता बताने वालों को 11 हजार रुपये का इनाम देने की घोषणा की गयी थी। हालांकि इसके बाद भाजपा नेताओं की ओर से सांसद की छवि धूमिल करने की कोशिश का आरोप लगाते हुए पुलिस में मामला दर्ज कराया गया था।

Next Story

विविध

Share it