Top
राजस्थान

राजस्थान : बस में होने लगी उल्टियां तो कंडक्टर ने युवक को बीच रास्ते में उतारा, इलाज न मिलने से मौत

Janjwar Desk
21 Nov 2020 2:08 PM GMT
राजस्थान : बस में होने लगी उल्टियां तो कंडक्टर ने युवक को बीच रास्ते में उतारा, इलाज न मिलने से मौत
x
इस घटना के बाद से ग्रामीण आक्रोशित हैं। गुस्साए ग्रामीणों ने तालेड़ा मार्ग पर जाम लगाया है। मृतक के परिजन और ग्रामीण आरोपी कंडक्टर के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं....

जयपुर। राजस्थान के केशवरायपाटन से इंसानियत को शर्मसार करने वाला एक मामला सामने आया है। दरअसल यहां एक बस ड्राइवर और कंडक्टर ने एख युवक को इसलिए बीच रास्ते में उतार दिया क्योंकि उसे उल्टियां हो रही थीं। इस दौरान युवक को जब बीच रास्ता में कोई इलाज नहीं मिला तो उसकी मौत हो गई।

खबरों के मुताबिक यह घटना केशवरायपाटन से तालेड़ा जाने वाले मार्ग पर सुवांसा के पास हुई। रोडवेज बस कंडक्टर की कथित लापरवाही के चलते खलूदा गांव के रमाशंकर प्रजापति (26 वर्षीय) की मौत हो गई।

वहीं दूसरी ओर इस घटना के बाद से ग्रामीण आक्रोशित हैं। गुस्साए ग्रामीणों ने तालेड़ा मार्ग पर जाम लगाया है। मृतक के परिजन और ग्रामीण आरोपी कंडक्टर के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

मृतक रमाशंकर प्रजापति पांच बहनों में इकलौता भाई था। मृतक के रिश्ते के भाई हाड़ौती प्रजापति कोटा संभाग के उपाध्यक्ष जगदीश प्रजापति ने बताया कि रामशंकर दोपहर 3 बजे गांव से मक्का लेकर बहन के घर बूंदी जा रहा था। सुवांसा से रोडवेज बस में सवार होने के थोड़ी देर बाद ही उसे उल्टी होने लगी तो बस की महिला कंडेक्टर ने गाड़ी धीमी करवाकर उसे बस से उतार दिया। मक्के का कट्टा भी उस पर ही फेंककर उसे अपने हाल पर छोड़ दिया और बस लेकर रवाना हो गए।

इस घटना के थोड़ी देर बाद ही सड़क के किनारे ही उसकी मौत हो गई। मौत की सूचना पर परिवार व ग्रामीण मौके पर पहुंच गए और सड़क जाम कर दी। बता दें, मृतक के परिजनों को 10 लाख मुआवजा व एक बहन को सरकारी नौकरी देने की मांग कर रहे हैं।

वहीं, लोगों के गुस्से को शांत करने देर रात पहुंचे पूर्वमंत्री हरिमोहन शर्मा ने ग्रामीण व परिजनों को कार्रवाई का आश्वासन दिया, लेकिन देर रात तक ग्रामीण जाम हटाने को तैयार नहीं हुए थे। जिसके बाद जाम की लंबी कतारें सड़क पर लग गई थीं।

Next Story

विविध

Share it