राष्ट्रीय

Singhu Border : निहंग सिक्खों ने दी पुलिस को चेतावनी, अब कोई गिरफ्तारी मांगी तो सरेंडर हुए चारों साथियों को भी छुड़ा लेंगे

Janjwar Desk
17 Oct 2021 8:20 AM GMT
singhu border
x

(सिंघु बॉर्डर में हुआ था लखबीर नामक युवक का कत्ल)

Singhu Border : निहंगों ने सोनीपत पुलिस-प्रशासन को चेतावनी दी कि अब अगर किसी और निहंग को गिरफ्तार करने की बात की गई तो वह अपने उन चारों साथियों को भी छुड़वा लाएंगे जिन्होंने इस मामले में सरेंडर किया है...

Singhu Border (जनज्वार) : सिंघु बॉर्डर पर बैठी निहंग जत्थेबंदियों ने 2 दिन पहले हुई लखवीर सिंह की हत्या मामले में हरियाणा पुलिस को चुनौती दी है। शनिवार 16 अक्टूबर की रात दो निहंगों भगवंत सिंह और गोविंदप्रीत सिंह के सरेंडर के बाद निहंगों ने स्पष्ट कर दिया कि अब वह अपने किसी और साथी का सरेंडर नहीं करवाएंगे।

सरेंडर के बाद निहंगों ने सोनीपत पुलिस-प्रशासन को चेतावनी दी कि अब अगर किसी और निहंग को गिरफ्तार करने की बात की गई तो वह अपने उन चारों साथियों को भी छुड़वा लाएंगे जिन्होंने इस मामले में सरेंडर किया है।

सिंघु बॉर्डर पर भगवंत सिंह और गोविंदप्रीत सिंह के सरेंडर से पहले निहंग बाबा राजा राम सिंह ने कहा, 'प्रशासन अब हमसे और गिरफ्तारियां न मांगे। अगर पुलिस अधिकारियां ने किसी होर नू गिरफ्तार करण दी गल्ल कित्ती तां जेहड़े चार बंदे अंदर हैं, अस्सी ओहनां नूं वी बाहर कड्ढ ल्यावांगे।'

इससे पहले शनिवार शाम को सिंघु बॉर्डर पर डेरा बनाकर बैठी सभी निहंग जत्थेबंदियों ने इस मामले पर मीटिंग कर चर्चा की। उसके बाद बाबा अमनदीप सिंह सरेंडर करने वाले दोनों निहंगों भगवंत सिंह और गोविंदप्रीत को लेकर बाबा राम सिंह के पास पहुंचे।

दोनों निहंगों को लेने पहुंचे कुंडली थाने के इंचार्ज रवि कुमार ने यहीं पर बाबा अमनदीप सिंह, बाबा राम सिंह और दूसरी निहंग जत्थेबंदियों के प्रमुखों से बात की। इस दौरान बाबा अमनदीप सिंह ने एक बार फिर कहा कि बाबा राजा राम सिंह पहले ही स्पष्ट कर चुके हैं कि गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी करने वालों को यही सजा मिलेगी और इस मुद्दे पर निहंग जत्थेबंदियां कोई समझाैता नहीं करेंगी।

कानून हाथ में लेने को किया मजबूर

निहंग भगवंत सिंह और गोविंदप्रीत सिंह के सरेंडर से पहले निहंग जत्थेबंदी के प्रमुख बाबा राजा राम सिंह ने कहा, 'साल 2015 के बाद से पंजाब और दूसरे राज्यों में श्री गुरु ग्रन्थ साहिब की बेअदबी की घटनाएं बढ़ी हैं। किसी ने इनका हिसाब दिया? हालात देखते हुए हमारे साथियों को मजबूरन बेअदबी करने वालों को सजा देनी पड़ी।

उन्होने आगे कहा कि, अगर हमें 2015 से लेकर अब तक इंसाफ मिल जाता तो कानून हाथ में लेना ही नहीं पड़ता। जो करना पड़ा, वो हालात देखकर करना पड़ा। भाजपा किसानों को कुचल दे तो वह कानून के हिसाब से ठीक है और यदि हम कोई सजा दे दें तो उस पर कानून के सवाल उठते हैं। यह नहीं चलेगा।'

मायावती न उठाएं सवाल

बहुजन समाज पार्टी (BSP) सुप्रीमो मायावती की ओर से लखवीर सिंह की हत्या पर सवाल उठाए जाने पर निहंग बाबा राम सिंह ने कहा कि बसपा ब्राह्मणों की पार्टी बनकर रह गई है। अब दलितों से उसका कोई लेना-देना नहीं रहा। यह सब भाजपा के ही चट्टे-बट्टे हैं। बसपा महासचिव सतीश मिश्रा ब्राह्मण हैं और आज की तारीख में वो ही बसपा है। बाबा राम सिंह ने गुरु की बेअदबी के लिए शिरोमणि अकाली दल को भी जिम्मेदार ठहराया।

Next Story

विविध

Share it