राष्ट्रीय

महिला बनकर लड़कियों का अश्लील वीडियो बनाने की थी सनक, अब तक 150 को निशाना बना चुका सिरफिरा ऐसे हुआ अरेस्ट!

Janjwar Desk
2 Sep 2021 4:30 AM GMT
महिला बनकर लड़कियों का अश्लील वीडियो बनाने की थी सनक, अब तक 150 को निशाना बना चुका सिरफिरा ऐसे हुआ अरेस्ट!
x

दिल्ली पुलिस ने लखनऊ से उठाया सिरफिरा आरोपी (photo/ankit singhal)

आरोपी महिला की आवाज में बात कर नाबालिग लड़कियों से खुद को एनआरआई लड़की बताता था। आरोपी अब तक 9 से 15 साल की 150 से ज्यादा लड़कियों के साथ ऐसी करतूत कर चुका है...

जनज्वार ब्यूरो। दिल्ली के फतेहपुर बेरी (Fatehpur Beri) पुलिस ने महिला बनकर नाबालिग लड़कियों से अश्लील फोटो और वीडियो लेकर कई ग्रुप में वायरल करने के आरोपी को उत्तर प्रदेश के लखनऊ ओल्ड महानगर से गिरफ्तार किया है। आरोपी को किशोरियों के अश्लील फोटो और वीडियो रखने व देखने की सनक थी।

आरोपी महिला की आवाज में बात कर नाबालिग लड़कियों से खुद को एनआरआई (NRI) लड़की बताता था। आरोपी अब तक 9 से 15 साल की 150 से ज्यादा लड़कियों के साथ ऐसी करतूत कर चुका है।

डीसीपी साउथ (DCP South) जोन अतुल कुमार ठाकुर के मुताबिक, 15 वर्षीय किशोरी ने 27 जुलाई को दी शिकायत में फतेहपुर बेरी थाना पुलिस से कहा था कि उसने अपने पिता के मोबाइल से इंस्टाग्राम पर अपनी आईडी बनाई थी। इंस्टाग्राम पर वह एक लड़की के संपर्क में आई। वह उससे 'कैसी हो छोटी' व 'कैसी हो मेरी गुड़िया' आदि कहकर बात करती थी।

एक महीने बाद आरोपी महिला ने उसके पास अपने अश्लील फोटो व वीडियो (Video) भेजे और बदले में उससे भी ऐसा ही करने को कहा। उसने पीड़ित किशोरी को अपना मोबाइल नंबर भी दिया। दोनों की वीडियो कॉल होने लगी। आरोपी लड़की वीडियो कॉल में अपना चेहरा नहीं दिखाती थी।

इस पर किशोरी नाराज हो गई और उसकी अनदेखी करने लगी। इसके बाद आरोपी लड़की ने धमकी दी कि वह उसके अश्लील फोटो व वीडियो सोशल मीडिया (Social Media) पर वायरल कर देगी। बाद में पता लगा कि वह लड़की नहीं, लड़का अब्दुल समद है।

थानाध्यक्ष कुलदीप सिंह की देखरेख में एसआई सतेंद्र गुलिया व महिला एसआई नितेश शर्मा की टीम ने जांच के दौरान व्हाट्स एप व इंस्टाग्राम से डिटेल मांगी। इसके बाद लखनऊ में दबिश देकर अब्दुल समद को उसके घर से दबोचकर स्मार्ट फोन जब्त कर लिया गया। इसमें करीब 150 नाबालिग लड़कियों के फोटो और वीडियो मिले हैं। इसमें बीएसएनएल का सिम भी मिला।

23 वर्षीय अब्दुल समद ने पूछताछ में खुलासा किया है कि वह महिला बनकर नाबालिग लड़कियों से बात करता और जाल में फंसाकर उनके अश्लील वीडियो व फोटो मंगाकर देखता था। वह खुद को एनआरआई लड़की बताता था। वह पीड़ित किशोरियों से बात करते समय टेक्स्ट नाउ एप का इस्तेमाल करता।

वहीं दूसरी तरफ आरोपी का नंबर कनाडा का दिखता था। समद ने लखनऊ में हजरतगंज के अमीरोदौला इस्लामिया इंटर कॉलेज से पढ़ाई की थी। 10वीं कक्षा में ही उसने पढ़ाई छोड़ दी और एसी मैकेनिक का काम करने लगा। इसका पिता टेलर है।

Next Story

विविध

Share it