शिक्षा

इस पूर्व CM ने 86 की उम्र में पास की दसवीं की परीक्षा, अंग्रेजी में लाए 88 नम्बर तो सबसे बुजुर्ग परीक्षार्थी भी बने

Janjwar Desk
5 Sep 2021 5:35 AM GMT
इस पूर्व CM ने 86 की उम्र में पास की दसवीं की परीक्षा, अंग्रेजी में लाए 88 नम्बर तो सबसे बुजुर्ग परीक्षार्थी भी बने
x

हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला ने 86 की उम्र में 10वीं की परीक्षा पास की है (File pic)

ओम प्रकाश चौटाला ने दसवीं कक्षा की परीक्षा में अंग्रेजी के पेपर में 100 में से 88 अंक हासिल किए हैं, इसके साथ ही दसवीं की परीक्षा प्रथम श्रेणी में पास करनेवाले वे सबसे बुजुर्ग परीक्षार्थी भी बन गए हैं..

जनज्वार। हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला पर यह कहावत अक्षरशः चरितार्थ हुई है कि पढ़ने व सीखने की कोई उम्र नहीं होती। चौटाला ने 86 वर्ष की उम्र में दसवीं की परीक्षा पास कर ली है। बीते 18 अगस्त को उन्होंने दसवी की परीक्षा दी, जिसका परिणाम शनिवार को घोषित हुआ। इसमें चौटाला ने अंग्रेजी विषय में 88 प्रतिशत अंक प्राप्त किए।

ओम प्रकाश चौटाला ने दसवीं कक्षा की परीक्षा में अंग्रेजी के पेपर में 100 में से 88 अंक हासिल किए हैं। इसके साथ ही दसवीं की परीक्षा प्रथम श्रेणी में पास करनेवाले वे सबसे बुजुर्ग परीक्षार्थी भी बन गए हैं।

राज्य के स्कूल शिक्षा बोर्ड ने शनिवार को यह जानकारी दी। बता दें कि बोर्ड ने पूरक परीक्षा के नतीजे घोषित कर दिए हैं। गत 18 अगस्त को अंग्रेजी विषय की परीक्षा दी थी। इसका परिणाम आज घोषित हुआ जिसमें चौटाला ने 88 प्रतिशत अंक प्राप्त किए हैं। दसवीं ओपन की परीक्षा के परिणामों की घोषणा के बाद शिक्षा बोर्ड चेयरमैन डॉ. जगबीर सिंह ने चौटाला को फोन कर उनके 10वीं के परिणाम की सूचना दी।

सिंह ने बताया कि चौटाला का 10वीं का अंग्रेजी विषय का परिणाम न आने के चलते हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने उनका 12वीं का परिणाम भी रोक रखा है। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री को अब एक प्रार्थना पत्र बोर्ड को देना होगा जिसमें इस बात का उल्लेख हो कि उनका 10वीं का परिणाम घोषित कर दिया गया है तथा उनका 12वीं का लंबित परिणाम भी घोषित किया जाए। वह आगे बोले कि इसके बाद हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड सोमवार को उनका 12वीं का परीक्षा परिणाम भी घोषित करने में सक्षम हो पाएगा।

गौरतलब है कि 10वीं ओपन की अंग्रेजी विषय की परीक्षा पूर्व मुख्यमंत्री ने सिरसा स्थित आईएस सीनियर सेकंडरी स्कूल में राइटर (10वीं की छात्रा मल्कियत कौर) के माध्यम से दी थी। अंग्रेजी विषय के अंकों को जोड़ऩे के बाद पूर्व मुख्यमंत्री अब प्रथम श्रेणी में 10वीं कक्षा पास कर चुके हैं। इससे पूर्व, अंग्रेजी विषय के अंकों को जोड़े बगैर अन्य विषयों में उनके लगभग 54 प्रतिशत अंक थे।

सूबे के बेसिक शिक्षा भर्ती मामले में दिल्ली की तिहाड़ जेल में उन्होंने सजा काटने के वक्त 10वीं की परीक्षा दी थी। वैसे, तब वह अंग्रेजी के पेपर में नहीं बैठ पाए थे। इसी वजह से इंग्लिश के पेपर में उनकी कंपार्टमेंट आई थी।

ओम प्रकाश चौटाला देश के पूर्व उप-प्रधानमंत्री चौधरी देवीलाल (ताऊ देवी लाल के नाम से भी मशहूर) के बेटे हैं। ओमप्रकाश के दो पुत्र (अजय सिंह चौटाला और अभय सिंह चौटाला) हैं, जबकि तीन बेटियां हैं। शिक्षक भर्ती घोटाला केस में 10 साल जेल की सजा काटने के बाद जेल से रिहा हो चुके हैं।

Next Story

विविध

Share it