Begin typing your search above and press return to search.
राष्ट्रीय

कल पटना लाया जाएगा रामविलास पासवान का पार्थिव शरीर, राजकीय सम्मान के साथ होगा अंतिम संस्कार

Janjwar Desk
8 Oct 2020 6:01 PM GMT
कल पटना लाया जाएगा रामविलास पासवान का पार्थिव शरीर, राजकीय सम्मान के साथ होगा अंतिम संस्कार
x

File photo

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का पार्थिव शरीर कल पटना लाया जाएगा। उनके निधन के बाद देश में शोक की लहर है, कई बड़े नेताओं ने संवेदना व्यक्त की है, दलित सेना और लोजपा के संस्थापक रहे रामविलास पासवान का आज निधन दिल्ली में हो गया है..

जनज्वार ब्यूरो, पटना। केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का पार्थिव शरीर कल पटना लाया जाएगा। उनके निधन के बाद देश में शोक की लहर है। कई बड़े नेताओं ने संवेदना व्यक्त की है। दलित सेना और लोजपा के संस्थापक रहे रामविलास पासवान का आज निधन दिल्ली में हो गया है।

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का दिल्ली के एक अस्पताल में इलाज चल रहा था। अभी कुछ दिनों पहले ही उनके दिल का एक ऑपरेशन भी हुआ था। उनकेपुत्र चिराग पासवान ने ही ट्वीट कर शेयर की थी। चिराग पासवान ने अपने उस ट्वीट में इस बात का भी जिक्र किया था कि आने वाले दिनों में उनके पिता का एक और ऑपरेशन किया जाना था।

बताया जा रहा है कि रामविलास पासवान के पार्थिव शरीर को कल पटना लाया जायेगा। राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया जायेगा। उधर उनके निधन के बाद देश भर में दुःख की लहर है। बिहार समेत अन्य राज्यों के बड़े नेता उन्हें श्रद्धांजलि दे रहे हैं।

रामविलास पासवान के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दुःख व्यक्त किया है। दोनों नेताओं ने ट्वीट कर गहरी संवेदना व्यक्त की है। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद और राबड़ी देवी ने भी रामविलास पासवान के निधन पर शोक व्यक्त किया है। तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर उन्हें श्रद्धांजलि दी है।

रामविलास पासवान देश के सबसे अनुभवी नेताओं में से एक थे। उनके पास 5 दशक से भी ज्यादा का संसदीय अनुभव था जिसमें वह 9 बार लोकसभा और दो बार राज्यसभा सांसद रहे।

रामविलास पासवान को भारतीय राजनीति का ऐसा नेता माना जाता है जो बहुत जल्द ही हवा का रुख पहचान लेते थे। कभी कांग्रेस की सत्ता के खिलाफ इमरजेंसी के दौरान वह जेल गए तो उसी की अगुवाई वाली यूपीए सरकार में मंत्री भी रहे। तब जो बीजेपी उनकी नीतियों का विरोध करती थी उसी एनडीए की सरकार में पासवान मंत्री भी रहे।

Next Story