Top
राष्ट्रीय

इन आंकड़ों से समझिए कि आज देश के बेरोजगार 'मोदी बर्थडे' को क्यों बेरोजगारी दिवस के रूप में कर रहे हैं सेलिब्रेट

Janjwar Desk
17 Sep 2020 6:27 AM GMT
इन आंकड़ों से समझिए कि आज देश के बेरोजगार मोदी बर्थडे को क्यों बेरोजगारी दिवस के रूप में कर रहे हैं सेलिब्रेट
x
मोदी हर साल दो करोड़ नौकरियां देने का वादा कर सरकार में आए थे, लेकिन उनके शासन काल में बेरोजगारी दर से शिखर को छूआ, ऐसे मंें देश के करोड़ों युवा आज उनके जन्मदिन को बेरोजगारी दिवस के रूप में मना रहे हैं...

जनज्वार। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाजपा के प्रधानमंत्री उम्मीदवार बनने के बाद से कई सालों तक सोशल मीडिया ट्रेंडिंग में हर अहम मौके पर टाॅप पर रहने में कामयाब रहे हैं। लेकिन, बीते कुछ सप्ताह व महीनों में उनके विरोध वाले हैशटैग टाॅप ट्रेंड बन रहे हैं। आज ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन है, भाजपा दुनिया की सबसे अधिक कार्यकर्ता वाली पार्टी है और करोड़ों उसके समर्थक हैं, लेकिन ट्विटर पर हैपी बर्थडे पीएम मोदी कहने वाले से कई गुणा अधिक बेरोजगारी वाले हैशटैग पर ट्वीट कर सरकार से सवाल पूछ रहे हैं कि आपने दो करोड़ नौकरी देने का जो वादा किया था उसका क्या हुआ।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार पिछले छह सालों में नौकरियां सृजित करने में बुरी तरह विफल रही है। इस लिए नौकरी मांगने वाला नहीं युवाओं को नौकरी देने वाला एंटरप्रोन्योर बनाने जैसा जुमला गढा गया।


आंकड़ों के जून में भारत की औसत बेरोजगारी दर 11 प्रतिशत थी, हालांकि अगर सिर्फ युवाओं की बात करें तो यह 23.70 प्रतिशत दर्ज की गई। अगस्त में 8.35 प्रतिशत दर्ज की गई है। लाॅकडाउन वाले पीरियड यानी अप्रैल-मई में बेरोजगारी दर 23.50 प्रतिशत दर्ज की गई थी जो अपने आप में अबतक का शिखर है। जून में जब अनलाॅक की प्रक्रिया शुरू हुई तो इसमें थोड़ी गिरावट आयी और यह 11 प्रतिशत पर पहुंचा, लेकिन पहले के आंकड़ो से यह बहुत ज्यादा है। हिंदुस्तान में सबसे कम औसत बेरोजगारी दर 6.70 प्रतिशत रहा है।


हरियाणा, हिमाचल, पश्चिम बंगाल, बिहार, ओडिशा, त्रिपुरा व उत्तराखंड ऐसे राज्य हैं जहां बेरोजगारी दर दो डिजीट में है। भाजपा के शासन वाले हरियाणा में 33.5, हिमाचल में 15.8 प्रतिशत बेरोजगारी दर है। भाजपा के ही एक और राज्य में त्रिपुरा में यह 27.9 प्रतिशत हैं। कांग्रेस शासित राजस्थान में 17.5 प्रतिशत, पंजाब में 11 और सिक्किम में 12.5 प्रतिशत बेरोजगारी दर है। उत्तराखंड में 14.3 प्रतिशत, पश्चिम बंगाल में 14.9 प्रतिशत व बिहार में 13.4 प्रतिशत है। केरल जैसे विकसित राज्य में भी वह 11 प्रतिशत है। ये आंकड़े अगस्त 2020 के डेटा पर आधारित है।


बेरोजगारी को लेकर युवा, एक्टिविस्ट व राजनैतिक पार्टियां भाजपा व पीएम मोदी पर हमलावर हैं।

राहुल गांधी ने ट्वीट कर जन्मदिन की बधाई भी दी और बेरोजगारी पर सवाल भी उठाया

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक ट्वीट कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जन्मदिन की बधाई दी है। वहीं, उन्होंने बेरोजगारी के मुद्दे को लेकर अखबार की एक खबर शेयर कर सरकार को घेरा भी है। उक्त खबर में उल्लेख है कि नौकरी मांग रहे हैं एक करोड़ लोग और उपलब्ध है मात्र 1.77 लाख। रिपोर्ट के अनुसार, देश में एक करोड़ तीन लाख लोग नौकरी तलाश रहे हैं, जबकि देश के विभिन्न राज्यों में मात्र एक लाख 77 हजार नौकरी उपलब्ध हैं। देश के तीन बड़ी आबादी वाले राज्य उत्तरप्रदेश, बिहार व बंगाल से सबसे अधिक युवा रोजगार की तलाश कर रहे हैं।




Next Story

विविध

Share it