राष्ट्रीय

UP : लखीमपुर खीरी में भाजपाईयों ने दिलाई महाभारत की याद, दु:शासन की तरह सपा महिला नेता की खींचने लगे साड़ी

Janjwar Desk
8 July 2021 3:52 PM GMT
UP : लखीमपुर खीरी में भाजपाईयों ने दिलाई महाभारत की याद, दु:शासन की तरह सपा महिला नेता की खींचने लगे साड़ी
x

(लखीमपुर खीरी में सपा महिला प्रत्याशी रितू सिंह की प्रस्तावक अनीता यादव की साड़ी खींचते देशप्रेमी भाजपा वाले)

पुलिस की ही मौजूदगी में यह सब होता रहा और पुलिस मूकदर्शक बनी रही, भाजपा कार्यकर्ताओं ने सपा महिला प्रस्तावक की साड़ी तक उतार देने का प्रयास किया...

जनज्वार, लखनऊ। उत्तर प्रदेश में आज पंचायत अध्यक्ष चुनाव के बाद ब्लॉक प्रमुख चुनाव के लिए नामांकन की प्रक्रिया चल रही थी। इस दौरान सत्ता पक्ष की गुंडई इस कदर दिखी की जिसे प्रदेश का पत्रकार भी ना बोल पाने की हैसियत से ऐसी नौकरी शायद ही बचाकर जी पाए। अगर हां, उसमें जमीर कुछ बचा है तो।

सूबे के कई जिलों में मारपीट, हिंसा और बलवे की तस्वीरें देखी गईं। एक वक्त वो भी आया जब सत्ताधारी दल भाजपा के लोग पुलिस की मौजूदगी में ही बवाल काट रहे थे। कई जगहों से नामांकन पर्चा छीनने तो तमाम जगहों से छीनकर फाड़ देने की भी खबरें आईं। लेकिन लखीमपुर खीरी में जो कुछ हुआ वह मानवता को कहीं ना कहीं झकझोरता है।

दरअसल, आज लखीमपुर खीरी में मतदान के दौरान कुछ ऐसा हुआ जिससे महाभारत काल के किरदार दु:शासन की याद आ गई। ये भाजपा वाले थे, जो एक महिला की साड़ी ही उतार देने का प्रयास कर रहे थे। जिले में आज गुरुवार 8 जुलाई को ब्लॉक प्रमुख चुनाव के नामांकन के दौरान लखीमपुर के पसगवां ब्लॉक में बड़ा बवाल हो गया।

यहां की सपा प्रत्याशी रीतू सिंह का नामांकन तक भाजपाइयों ने नहीं होने दिया। ब्लाक में दाखिल हो रहीं प्रत्याशी की प्रस्तावक रहीं अनीता यादव को सड़क से खींच लिया गया। उनके साथ मारपीट की गई। इसके बाद सपा के पूर्व जिला उपाध्यक्ष क्रांति कुमार सिंह को बवाली गेट से खींचकर लाया गया लाए। उन्हें बंधक बनाने का भी प्रयास हुआ। भाजपा का घेरा तोड़कर सपा प्रत्याशी ब्लाक के अंदर चली गईं। वहां उन्होंने आरओ के सामने परचा भरकर दिया।

पुलिस की ही मौजूदगी में यह सब होता रहा और पुलिस मूकदर्शक बनी यह सबकुछ देखती रही। भाजपा कार्यकर्ताओं ने सपा महिला प्रस्तावक अनीता यादव की साड़ी तक उतार देने का प्रयास किया। एक महिला को राष्ट्रवादी पार्टी कहलाने वाली भाजपा के समर्थकों ने भरी सभा में नंगा कर देने का प्रयास किया।

इस बीच सपा का आरोप है कि आरओ के सामने अंदर घुसे भाजपाई नामांकन परचा छीन ले गए और फाड़ दिया। प्रत्याशी को भी पीटा गया। उसके कपड़े फट गए। यह सब पुलिस के सामने हुआ। आरोप है कि पुलिस ने किसी बवाली को रोकने की कोशिश नहीं की।

सपा प्रत्याशी की महिला प्रस्तावक कि साड़ी खींचते हुए देशभक्त

इससे पहले सपा प्रत्याशी की कार को रास्ते में भाजपा के लोागों ने घेर ली। बाद में पहुंची पुलिस प्रत्याशी को ब्लाक की बजाय थाने ले गई। इस बीच तीन बज गए और सपा प्रत्याशी का नामांकन नहीं हो सका। यह बवाल भी पुलिस के सामने ही होता रहा, ऐसा आरोप है।

सपा नेता क्रांति कुमार सिंह ने जनज्वार से बात करते हुए हैरत भरी आवाज में कहा कि 'आज तक के इतिहास में मैने कई चुनाव लड़े और लड़वाए। तमाम गणित और समीकरण लगाए गये, जाते रहे, लेकिन कभी ऐसा ना देखा ना हुआ जो अब हो रहा है। भाजपा वाले आम-जनता को रामराज का हलुआ दे रहे हैं, लेकिन जनता को समझना होगा कि पूरे तौर पर जंगलराज और रावणराज चल रहा है।'

Next Story

विविध

Share it