Top
राष्ट्रीय

ABP के पत्रकार की संदिग्ध परिस्थितियों में मिली लाश, ADG जोन को पत्र लिखकर जताई थी हत्या की आशंका

Janjwar Desk
14 Jun 2021 3:44 AM GMT
ABP के पत्रकार की संदिग्ध परिस्थितियों में मिली लाश, ADG जोन को पत्र लिखकर जताई थी हत्या की आशंका
x

प्रतापगढ़ में एबीपी न्यूज के पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की हत्या.पुलिस को पत्र लिखकर जताई थी हत्या की आशंका.

संदिग्ध हालत में मिले शव का देर रात तक यह स्पष्ट नहीं हो सका था कि उनकी मौत कैसे हुई, खास बात यह है कि एक दिन पहले ही उन्होंने आला पुलिस अधिकारियों को पत्र भेजकर अपनी जान को खतरा बताया था...

जनज्वार, लखनऊ। यूपी के प्रतापगढ़ स्थित कटरा मेदनीगंज में एबीपी न्यूज के रिपोर्टर 45 वर्षीय सुलभ श्रीवास्तव की रविवार रात हत्या कर दी गई। घटना तब हुई जब वह समाचार कवरेज करके लालगंज से मोटरसाईकिल से घर लौट रहे थे। उनके सिर पर हल्की चोट के निशान मिले हैं।

संदिग्ध हालत में मिले शव का कल 13 जून को देर रात तक यह स्पष्ट नहीं हो सका था कि उनकी मौत कैसे हुई। खास बात यह है कि एक दिन पहले ही उन्होंने आला पुलिस अधिकारियों को पत्र भेजकर अपनी जान को खतरा बताया था। पुलिस का कहना है कि जांच पड़ताल की जा रही है।

सुलभ हनुमान प्रसाद श्रीवास्तव प्रतापगढ़ में थाना कोतवाली नगर के स्टेशन रोड स्थित सदरपुर पश्चिमी के रहने वाले थे। वह एबीपी चैनल के प्रतापगढ़ जिला संवाददाता के रूप में काम कर रहे थे। रविवार 13 जून की शाम वह लालगंज क्षेत्र में अपराधियों को पकड़े जाने की कार्रवाई की कवरेज में गए थे। रात साढ़े 10 बजे के करीब वह साथियों समेत घर लौट रहे थे।

कटरा मेदनीगंज पहुंचने पर अन्य साथी पीछे थे जबकि बाइक की गति तेज होने के कारण वह मोबाइल पर बात करते हुए थोड़ा आगे निकल गए। कुछ देर बाद साथी पहुंचे तो वह सड़क किनारे मृत पड़े मिले। उनके सिर पर हल्की चोट के निशान थे। सूचना पर पुलिस भी आ गई। जांच पड़ताल के बाद शव को मोर्चरी भिजवा दिया गया।


पुलिस आशंका जता रही है कि सुलभ हादसे का शिकार हो गए। पुलिस का मानना है कि बारिश की वजह से सड़क पर फिसलन थी और इसी वजह से उनकी बाइक अनियंत्रित हो गई और वह हादसे का शिकार हो गए। मामले में एसपी प्रतापगढ़ धवल जायसवाल का कहना है कि प्रारंभिक जांच पड़ताल में यही बात सामने आई है कि मृतक हादसे का शिकार हुआ है। प्रत्यक्षदर्शियों ने भी यही बात बताई है। पड़ताल की जा रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

गौरतलब है कि पत्रकार सुलभ ने एक दिन पहले ही एडीजी प्रयागराज जोन को शिकायती पत्र भेजकर अपनी व अपने परिवार की जान को खतरा बताया था। इसमें बताया था कि पिछले दिनों प्रतापगढ़ जनपद के विभिन्न थाना क्षेत्रों मैं अवैध शराब का जखीरा पकड़े जाने की घटना का कवरेज उन्होंने किया था। इसके बाद 9 जून को न्यूज़ चैनल के डिजिटल प्लेटफार्म पर एक खबर भी चलाई थी।

पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की संदिग्ध परिस्थितियों में मिली लाश पर सवाल उठाते हुए पूर्व आईपीएस सूर्य प्रताप सिंह ने ट्वीट किया है, 'पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव में एक दिन पहले ADG जोन प्रयागराज को पत्र लिखकर अपनी जान पर ख़तरा होने की आशंका जतायी थी। आज एक भट्ठे पर उनका शव मिला है, पत्रकार सुलभ ABP न्यूज के थे। क्या ADG जोन जवाब देंगे? क्या यूपी पुलिस ज़िम्मेदारी लेगी या हर बार की तरह बस जाँच का आदेश होगा?'

जिसे लेकर कुछ लोगों ने बताया था कि शराब माफिया उस खबर को लेकर उनसे नाराज हैं। पत्र में यह भी बताया गया था कि पिछले 2 दिनों से जब भी वह घर से बाहर निकलते हैं तो ऐसा प्रतीत होता है कि कोई उनका पीछा कर रहा है। ऐसे में उन्हें लगता है कि कुछ शराब माफिया, जो उनकी खबर से नाखुश हैं, उन्हें या उनके परिवार को नुकसान पहुंचा सकते हैं। उनका परिवार भी डरा सहमा हुआ है।

Next Story

विविध

Share it