राष्ट्रीय

लखनऊ से गिरफ्तार धर्मांतरण गिरोह के कानपुर से भी जुड़े हैं तार, मूक-बधिर आदित्य को बनाया अब्दुल कादिर : UP पुलिस का आरोप

Janjwar Desk
22 Jun 2021 2:31 AM GMT
लखनऊ से गिरफ्तार धर्मांतरण गिरोह के कानपुर से भी जुड़े हैं तार, मूक-बधिर आदित्य को बनाया अब्दुल कादिर : UP पुलिस का आरोप
x

यूपी एटीएस का दावा : एक हजार लोगों का धर्म परिवर्तन करा चुके हैं ये दोनों मौलाना

उमर गौतम पहले खुद हिंदू से मुस्लिम बना और फिर बड़ी संख्या में हिंदूओं को मुसलमान बनाने लगा, उमर गौतम का असली नाम श्याम प्रताप सिंह है। 1982 में उसने अपना धर्म और नाम बदल लिया और उमर गौतम बन गया। उसने अपनी पत्नी राजश्री का नाम भी बदलकर रजिया बेगम कर दिया था...

जनज्वार, लखनऊ/कानपुर। सोमवार को यूपी एटीएस ने धर्मांतरण कराने वाले दो लोगों को लखनऊ से दबोचा था। आरोप है कि इन लोगों ने अब तक 1 हजार लोगों का धर्म परिवर्तन करवाया है। गिरफ्तारी के बाद एटीएस ने खुलासा किया है कि इनके निशाने पर अधिकतर गरीब हिंदूओं सहित मूक-बधिर लोग व महिलाएं होती थीं। पकड़े गए दो लोगों में एक उमर गौतम खुद धर्म बदलकर मुसलमान बना था।

एडीजी प्रशांत कुमार ने बताया कि गिरफ्तार किया गया उमर गौतम पहले खुद हिंदू से मुस्लिम बना और फिर बड़ी संख्या में हिंदूओं को मुसलमान बनाने लगा। उमर गौतम का असली नाम श्याम प्रताप सिंह है। 1982 में उसने अपना धर्म और नाम बदल लिया और उमर गौतम बन गया। उसने अपनी पत्नी राजश्री का नाम भी बदलकर रजिया बेगम कर दिया था।

प्रशांत कुमार के मुताबिक उमर का सहयोगी जहांगीर जामियानगर दिल्ली का रहने वाला है। वह धर्मांतरण तथा विवाह आदि से संबंधित प्रमाणपत्र गैरकानूनी तरीके से बनाता था। एसीजेएम सत्यवीर सिंह की अदालत ने दोनो आरोपियों को तीन जुलाई तक के लिए जेल भेज दिया है, साथ ही एटीएस दोनो के खातों की भी जांच कर रही है।

आदित्य को बना दिया अब्दुल कादिर


एटीएस की गिरफ्त में आए दोनो आरोपियों ने कानपुर काकादेव के मूक-बधिर छात्र 24 वर्षीय आदित्य गुप्ता को पैसे और शादी का लालच देकर दिल्ली बुलाया तथा धर्म परिवर्तन करा दिया। आदित्य का नाम बदलकर अब्दुल कादिर रख दिया। उसके खाते में विदेस से हर महीने सात हजार रूपये आने लगे। आदित्य के अधिवक्ता पिता राकेश कुमार ने बताया कि वह काफी समय से उसके स्वभाव में बदलाव देख रहे थे। कई मर्तबा उसे घर में चोरी-छुपे नमाज पढ़ते भी देखा गया है। आदित्य की तलाशी लेने पर उसके पास धर्मांतरण संबंधी कागज मिले थे।

पुलिस को भी थी जानकारी

आदित्य के धर्मांतरम संबंधी जानकारी कानपुर पुलिस को भी थी। जब आदित्य घर से अचानक गायब हुआ तब परिजनो ने कल्याणपुर पुलिस को एक-एक बात बताई थी। पुलिस ने खानापूर्ती करते हुए अपहरण का केस दर्ज कर हाथ पर हाथ घरकर बैठ गई। आदित्य की मां लक्ष्मी के मुताबिक उनका बेटा 10 मार्च को घर से लापता हुआ था।

कानपुर में कई लोगों का कराया धर्म परिवर्तन

एटीएस के मुताबिक आरोपियों के तार शहर से भी जुड़े हैं। जो गरीब और जरूरतमंदों को अपने जाल में फंसाकर धर्म परिवर्तन करा रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक आरोपियों ने अब तक कई लोगों का धर्मांतरण कराया है। तो कई को प्रेरित कर रहे हैं। इस गैंग के कई लोग शहर में सक्रिय हैं। पुलिस इनका नेटवर्क तलाश रही है।

Next Story
Share it