राष्ट्रीय

Uttar Pradesh Crime News : ठेकेदार पर पेट्रोल डालकर बिल्डर ने जिंदा जलाया, इलाज के दौरान मौत

Janjwar Desk
20 July 2022 2:37 PM GMT
Uttar Pradesh Crime News : ठेकेदार पर पेट्रोल डालकर बिल्डर ने जिंदा जलाया, इलाज के दौरान मौत
x

Uttar Pradesh Crime News : ठेकेदार पर पेट्रोल डालकर बिल्डर ने जिंदा जलाया, इलाज के दौरान मौत

Uttar Pradesh Crime News : उत्तर प्रदेश के कानपुर के श्याम नगर में बुधवार दोपहर एक बिल्डर ने अपने घर के भीतर ही ठेकेदार को जिंदा फूंक दिया, चार घंटे तक वह ठेकेदार जिंदगी के लिए जंग लड़ता रहा, आखिर में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई...

Uttar Pradesh Crime News : उत्तर प्रदेश के कानपुर के श्याम नगर में बुधवार दोपहर एक बिल्डर ने अपने घर के भीतर ही ठेकेदार को जिंदा फूंक दिया। चार घंटे तक वह ठेकेदार जिंदगी के लिए जंग लड़ता रहा। आखिर में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। बता दें कि पुलिस ने आरोपी बिल्डर को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस की जांच में सामने आया कि 18 लाख रुपये के लेनदेन के विवाद में वारदात को अंजाम दिया गया। वहां मौजूद प्रत्यक्षदर्शियों से पुलिस पूछताछ कर घटना के संबंध में और अधिक जानकारी जुटा रही है।

बिल्डर और ठेकेदार के बीच तीन साल से चल रहा था विवाद

लाल बंगला एनटू रोड स्थित एमईएस कालोनी में राजेंद्र पाल (59 वर्ष) का परिवार रहता है। मिलेट्री इंजीनियरिंग सर्विसेस में कार्यरत उनके बेटे अरविंद व पत्नी मीना पाल ने बताया कि राजेंद्र ठेकेदारी का काम करते थे। काफी समय तक वह श्याम नगर डी ब्लॉक निवासी बिल्डर शैलेंद्र श्रीवास्तव के साथ काम किया। राजेंद्र को शैलेंद्र से 18 लाख रुपये लेने थे। शैलेंद्र पैसे नहीं दे रहा था। इसको लेकर करीब तीन साल से दोनों के बीच विवाद चल रहा था। इसलिए राजेंद्र उसके पास काम करना भी बंद कर दिया था।

पुलिस ने किया आरोपी बिल्डर को गिरफ्तार

परिजनों के अनुसार और आज बुधवार सुबह करीब दस बजे राजेंद्र घर से निकले थे। दोपहर करीब साढ़े बारह बजे उनके परिजनों को घटना की जानकारी हुई। परिजन व पुलिस मौके पर पहुंचकर राजेंद्र को पहले कांशीराम और फिर उर्सला में भर्ती कराया। शाम करीब साढ़े चार बजे राजेंद्र की मौत हो गई। पुलिस ने आरोपी बिल्डर शैलेंद्र को गिरफ्तार कर लिया है। वारदात में किसी और की भूमिका है या नहीं, इस पहलू की पुलिस तफ्तीश कर रही है।

आरोपी बिल्डर ने किया ये दावा

डीसीपी पूर्वी प्रमोद कुमार ने बताया कि घटना शैलेंद्र के मकान के भीतर आंगन की है। वहां पर कोई भी सीसीटीवी नहीं लगा है। आरोपी व उसके परिवार वालों ने बताया कि वह सभी लोग कमरे में थे। शैलेंद्र पूजा कर रहे थे। तभी बाहर से चीखने-चिल्लाने की आवाज आई। जब वह बाहर आए तो देखा कि राजेंद्र आग में जल रहे थे। किसी तरह आग बुझाई। सूचना शैलेंद्र ने ही पुलिस को दी। हालांकि इस दावे के संबंध में कोई साक्ष्य उपलब्ध नहीं है।

लेबर ठेकेदार कर्ज में डूबे हुए थे

राजेंद्र के परिवार में उनकी पत्नी मीना पाल व बेटा अरविंद है। उनकी बेटी पुष्पा की शादी हो चुकी है। डीसीपी ने बताया कि राजेंद्र लेबर ठेकेदार थे। शैलेंद्र की साइड पर वह काम करते रहे हैं। साइड के लिए वह लेबर उपलब्ध कराते थे। परिजनों के मुताबिक शैलेंद्र ने पैसे दिए नहीं थे। इधर राजेंद्र कर्ज लेकर भुगतान कर चुके थे। इसलिए वह बेहद परेशान थे।

जांच के आधार पर होगी कार्रवाई

ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर आनंद प्रकाश कानून व्यवस्था का कहना है कि आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। गहनता से पूरे मामले की छानबीन की जा रही है। लेनदेन के विवाद की बात सामने आई है। तहरीर के आधार पर केस दर्ज किया गया है। जैसे तथ्य सामने आएंगे उस आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

Next Story

विविध