Top
उत्तर प्रदेश

किडनी भी एक है दो होतीं तो एक बेंच देती' गरीबी और तंगी से लाचार माँ ने सोते में घोंट दिया मासूम बेटी का गला

Janjwar Desk
14 Oct 2020 8:15 AM GMT
किडनी भी एक है दो होतीं तो एक बेंच देती गरीबी और तंगी से लाचार माँ ने सोते में घोंट दिया मासूम बेटी का गला
x
पीएम मोदी खुद के लिए 84 हजार करोड़ का जहाज ला रहे हैं। वहीं देश के भीतर ऐसे भी सीन सामने आ रहे हैं जब बाल बच्चे पाल ना पाने और गरीबी में किसी को अपने बच्चे तक मार देने पड़ रहे हैं। महिला ने बताया कि उसके पति रत्नेश तिवारी के पाँव में लगी चोंट के बाद बहुत मेहनत करने पर भी घर का गुजारा नहीं चल पा रहा था।

जनज्वार, प्रयागराज। उत्तर प्रदेश के प्रयागराज स्थित हंडिया में एक माँ ने अपनी ही बेटी का गला घोंटकर मार दिया। गला घोंटने की जो वजह सामने आ रही है वह आर्थिक तंगी है। महिला के पति की चोंट के बाद उनके घर की आर्थिक स्थिति दिनोदिन खराब होती जा रही थी। पुलिसिया पूछताछ में भी महिला ने स्वीकार किया है कि उसने पाल पोष ना पाने और अपनी गरीबी को यादकर बिटिया का गला घोंट दिया।

पीएम मोदी खुद के लिए 84 हजार करोड़ का जहाज ला रहे हैं। वहीं देश के भीतर ऐसे भी सीन सामने आ रहे हैं जब बाल बच्चे पाल ना पाने और गरीबी में किसी को अपने बच्चे तक मार देने पड़ रहे हैं। महिला ने बताया कि उसके पति रत्नेश तिवारी के पाँव में लगी चोंट के बाद बहुत मेहनत करने पर भी घर का गुजारा नहीं चल पा रहा था। जब उनकी दो वक्त की रोटी के लिए मुश्किल है तो ऐसे में बिटिया को बड़ाकर उसकी शादी के लिए पैसा कहां से आएगा। किडनी भी एक है, दो होती तो बेंच देती।

महिला का पति उस रात कहीं गया हुआ था। महिला के दो लड़के 9 वर्षीय आदर्श और एक वर्षीय आदेश भी घर पर ही सो रहा था। जिस बेटी अकांक्षा का गला घोंटा उसकी उम्र 6 वर्ष थी। फिलहाल पुलिस ने बेटी के मर्डर के आरोप में माँ उषा को हिरासत में ले लिया है। पत्नी के खिलाफ खुद उसके पति रत्नेश तिवारी ने पुलिस को तहरीर दी है। पुलिस महिला को मानसिक विक्षिप्त मानकर चल रही है। पति का एक्सीडेंट और आर्थिक तंगी से उसकी मानसिक स्थिति खराब हो चुकी थी।

मामले में चौंकाने वाली बात यह रही की सोते वक्त बेटी का गला दबाकर मारने वाली माँ चुपचाप जाकर आराम से सो भी गई। सुबह सब बिस्तर से उठे लेकिन मर चुकी अकांक्षा नहीं उठी। उसकी दादी उसे जगाने के लिए जब अंदर गईं तो वह मरी पड़ी थी। सीन देखकर परिवार में तहलका मच गया। उसे मारने वाली माँ उषा भी सभी के साथ बैठकर रो रही थी। मौके पर पुलिस ने पहुँचकर डेड बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। मामले की रिपोर्ट जब थाने पहुँची तो पुलिस के भी होश उड़ गए।

मंगलवार 13 अक्टूबर को पुलिस जब इस घर पहुँची उससे पहले ही मर्डर की बात साफ हो चुकी थी। आरोपी पुलिस के सामने था। लेकिन पुलिस के अनुसार घर का हर एक सदस्य संदिग्ध नजर आ रहा था। माँ उषा ने मर्डर खुद किए जाने कात को कबूल कर लिया। कारण भी बताया कि उसने गरीबी और तंगी में बेटी को ना पाल सकने के चलते उसका गला घोंटा हैं।

थाना हंडिया के इंचार्ज शमशेर बहादुर सिंह ने जनज्वार को बताया 'मृतका के पिता की तहरीर पर रिपोर्ट दर्जकर माँ उषा को गिरफ्तार किया गया है। जानकारी हुई है कि महिला मानसिक विक्षिप्त है और घर की आर्थिक हालत भी खराब होना भी सामने आया है। फिलहाल जाँच चल रही है, जाँच होने पर ही कुछ सामने आएगा। पीएम की जो रिपोर्ट आई है उसमे बालिका की मौत गला घोंटने से होने की पुष्टी हुई है।'

Next Story

विविध

Share it