Top
उत्तर प्रदेश

अमेठी में प्रधान के कहने पर ट्रांसफर करने का आरोप लगाकर महिला एसआई ने उच्चाधिकारियों पर लगाए गंभीर आरोप

Janjwar Desk
21 Sep 2020 6:05 AM GMT
अमेठी में प्रधान के कहने पर ट्रांसफर करने का आरोप लगाकर महिला एसआई ने उच्चाधिकारियों पर लगाए गंभीर आरोप
x

उपनिरीक्षक सुधा वर्मा.

SP का कहना है कि स्थानांतरण बोर्ड की अनुशंसा पर महिला एसआइ का ट्रांसफर किया गया है। अगर उन्हें कोई शिकायत थी तो उन्हें व्यक्तिगत रूप से उसे बताना चाहिए...

जनज्वार, अमेठी। अपराधियों लुटेरों से मिल रही चुनौतियों से कराह रही खाकी को अब विभाग के लोग भी चुनौती देने लगे हैं। अमेठी में एक दिन पहले जारी कप्तान के स्थानांतरण आदेश के खिलाफ दूसरे दिन एक महिला दरोगा ने मोर्चा खोल दिया। महिला दारोगा का आरोप है कि उसका स्थानांतरण क्षेत्र के प्रधान के दबाव में किया गया है। इतना ही नहीं महिला एसआई ने एएसपी पर दुर्व्यवहार तथा प्रताड़ना का भी आरोप लगाया है।

एसएसपी दिनेश सिंह द्वारा शनिवार की शाम प्रशासनिक आधार पर एक थाना प्रभारी समेत सोलह उप निरीक्षकों सहित तमाम हेड कांस्टेबल व कांस्टेबल का स्थानांतरण किया गया था। स्थानांतरण आदेश के मुताबिक फुर्सतगंज थाने में तैनात उपनिरीक्षक सुधा वर्मा को महिला थाना स्थानांतरित किया गया था। स्थानांतरण आदेश जारी होने के दूसरे ही दिन यानी रविवार को एसआई सुधा वर्मा पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंच गई।

रविवार का दिन होने के चलते कोई जिम्मेदार अधिकारी मौजूद नहीं था। महिला एसआई ने कहा कि विभाग के एसपी द्वारा दुर्व्यवहार व प्रताड़ना की जा रही है, वहीं उसने फुर्सतगंज थाने के इंस्पेक्टर पर भी दुर्व्यवहार करने का आरोप लगाया है। उसका कहना है कि उसका स्थानांतरण क्षेत्र के प्रधान के दबाव में कराया गया है प्रधान ने 15 दिन पहले ही उसे स्थानांतरण कराने की धमकी दी थी। जिसके बाद उसका स्थानांतरण किया गया है।

महिला दरोगा ने विभागीय अधिकारियों पर भी गंभीर आरोप लगाए। उसने कहा कि 25 नवंबर को उसने छुट्टी के लिए आवेदन किया था, जिस पर एडिशनल ने मना कर दिया. जब वह आवास पर गई एडिशनल ने कहा कि जाओ मर जाओ। फु्र्सतगंज के इंस्पेक्टर को लेकर महिला दरोगा ने कहा कि जब उसने पशुओं से लदी गाड़ी पकड़ी तो इंस्पेक्टर ने छोड़ दिया जिसका उसने विरोध किया तो पता लगा कि इंस्पेक्टर पैसा लेते हैं। इंस्पेक्टर व एडिशनल द्वारा मिलकर उसे प्रताड़ित किया जा रहा है।

मामले में एसपी दिनेश सिंह ने जनज्वार को बताया कि स्थानांतरण के लिए स्थापना बोर्ड गठित है, उसके अनुमोदन के उपरांत कई उपनिरीक्षक और हेड कांस्टेबल के स्थानांतरण किए गए हैं। यदि महिला एसआई को उससे कोई आपत्ति थी तो उन्हें व्यक्तिगत मिलकर कहना था। फिलहाल अभी मुझे शिकायत नहीं प्राप्त हुई है।

Next Story

विविध

Share it