Top
उत्तर प्रदेश

यूपी : गुटखा कंपनी के मैनेजर को गुंडों की तरह गोली मारने की धमकी देने के आरोप में भाजपा नेता गिरफ्तार

Janjwar Desk
12 Aug 2020 3:15 AM GMT
यूपी : गुटखा कंपनी के मैनेजर को गुंडों की तरह गोली मारने की धमकी देने के आरोप में भाजपा नेता गिरफ्तार
x

भाजपा विधायक महेश त्रिवेदी, अभिजीत सांगा के साथ आरोपी नीरज पांडेय पीली शर्ट में बाएं से सबसे पहले।

कानपुर की इस घटना का आॅडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने पर भी स्थानीय पुलिस मामले को संज्ञान में नहीं ले रही थी। अपराध को लेकर लगातार किरकिरी झेल रही यूपी पुलिस के डीआइजी के हस्तक्षेप व फटकार के बाद प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई की गई...

जनज्वार। उत्तर प्रदेश के कानपुर देहात के भाजपा जिला उपाध्यक्ष को मंगलवार देर रात पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। भाजपा नेता पर एक गुटखा कंपनी के मैनेजर को धमकी देने व रंगदारी मांगने का आरोप है। पुलिस ने रंगदारी गाली-गलौच और धमकी देने की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।

भाजपा देहात जिला उपाध्यक्ष नीरज पांडेय ने एक पान-मसाला कंपनी के मैनेजर पवन कुमार गुप्ता को फोन पर धमकी दी थी। उसने मैनेजर से कहा कि तुमने कंपनी की एजेंसी नहीं दी थी, वह गोली मार देगा। इस फ़ोन की काल रिकॉर्डिंग सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी। 9 मिनट की इस रिकॉर्डिंग में जिला उपाध्यक्ष लगातार गालियां देते हुए सुनाई दे रहा है।

गलियों के साथ वह कह रहा है कि बताओ तुम्हें अभी वहीं आकर गोली मार दूँ। और मार दूंगा गोली। इस दौरान वह मैनेजर पवन गुप्ता से यह भी कहता है कि जाकर प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह से बता देना की नीरज पांडेय ने धमकी दी थी, देखूं वह भी क्या कर लेंगे। इसी के साथ उसने मैनेजर से रुपये देने की बात भी कही। नीरज कहता है कि यदि कानपुर देहात में रहना है तो नीरज नीरज कहना है, ध्यान रखना।

पीड़ित मैनेजर के मुताबिक नीरज जबरन गुटखे की एजेंसी लेना चाह रहा है। मना करने पर उसने धमकी दी तथा गोली मार देने की बात भी कही। सीओ कल्याणपुर अजय कुमार ने बताया कि आरोपी नीरज पांडेय को गिरफ्तार कर लिया गया है। दोनों के बीच हुई बातचीत का ऑडियो टेप भी जांच में शामिल किया गया है।

उत्तरप्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह के साथ नीरज पांडेय।

बचाने में लगे रहे थानेदार

सोमवार 10 अगस्त की रात मैनेजर पवन ने चौकी जाकर मामले की तहरीर और कॉल रिकॉर्डिंग पुलिस को सौंपी थी। इसके बावजूद एसओ पनकी शैलेन्द्र कुमार का कहना था कि तहरीर मिली ही नहीं। जब धमकी का ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तब भी अफसरों को तहरीर नहीं मिलने की बात कहकर गुमराह किया गया। मामले में जब डीआईजी ने फटकार लगाई तब जाकर एफआईआर दर्ज की गई। जिसके बाद सीओ ने पूरी कार्रवाई कर गिरफ्तारी कराई।

Next Story

विविध

Share it