Top
उत्तर प्रदेश

UP के लखीमपुर में भाजपा विधायक की गुंडई, छेड़छाड़ के आरोपी को जबरन लॉकअप से छुड़ाया

Janjwar Desk
17 Oct 2020 7:25 AM GMT
UP के लखीमपुर में भाजपा विधायक की गुंडई, छेड़छाड़ के आरोपी को जबरन लॉकअप से छुड़ाया
x

जनज्वार, लखीमपुर खीरी। उत्तर प्रदेश के बलिया गोलीकांड में भाजपा विधायक सुरेन्द्र सिंह का आरोपी के फक्ष में खड़े हो जाने के बाद लखीमपुर में भी एक भाजपा विधायक आरोपी के साथ खड़ा हो गया। इस आरोपी पर छोड़छाड़ का आरोप था, जिसे पुलिस ने लॉकअप में लाकर बन्द कर दिया था। इसके बाद यहां के भाजपा विधायक अपने समर्थकों के साथ आकर छेड़छाड़ के आरोपी अपने साथी को जबरन लॉकअप से छुड़ा ले गए।

मामला मोहम्मदी कोतवाली का है, जहाँ शुक्रवार 16 अक्टूबर की देर रात भाजपा कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा काटा। कार्यकर्ताओं का आरोप है कि पुलिस ने उनकी पार्टी के एक युवक को कोतवाली के भीतर लाठी-डंडों से पीटा है, जिसके बाद स्थानीय विधायक लोकेंद्र प्रताप सिंह की अगुवाई में पहुंचे सैंकड़ों कार्यकर्ताओं ने जमकर बवाल काटा और पुलिस से भिड़ गए।

भाजपा विधायक के साथ पहुँचे समर्थकों ने जमकर गाली-गलौज भी की। खुद भाजपा विधायक ने जबरन सिपाही से लॉकअप की चाभी लेकर पुलिस अभिरक्षा से तथाकथित कार्यकर्ता छेड़छाड़ के आरोपी को छुड़ाकर ले गए।

बताया जा रहा हैं कि शुक्रवार 16 अक्टूबर को भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व सांसद रेखा वर्मा क्षेत्र में मौजूद थीं। उनके स्वागत समारोह के कार्यक्रम में तमाम भाजपाई इकट्ठा हुए थे। इसी कार्यक्रम में भाजपा के कार्यकर्ताओं पर महिला पुलिसकर्मियों के साथ अभद्रता करने का आरोप लगा था। ड्यूटी पर मौजूद महिला पुलिसकर्मियों ने वापस आकर अपने साथ हुई घटना की जानकारी कोतवाल बृजेश त्रिपाठी को दी। इस बीच जिस कार्यकर्ता पर यह आरोप लग रहा था वह भी कोतवाली पहुंच गया और पुलिस से जा भिड़ा।

लॉकअप में बंद छेड़छाड़ के कार्यकर्ता शिवेंद्र सिंह का आरोप है कि कोतवाली में पुलिस ने उसको जमकर लाठी-डंडों से पीटा और हवालात में बंद कर दिया। इस मामले की सूचना मिलते ही विधायक लोकेंद्र प्रताप सिंह अपने तमाम समर्थकों को लेकर कोतवाली पहुंच गए और जमकर गाली-गलौज व हंगामा किया। मामला इस कदर गर्माया कि हाथापाई तक की नौबत आ गई तो पुलिस को सब्र करना पड़ा। जिसके बाद विधायक बाद कोतवाली के भीतर से आरोपी कार्यकर्ता को छुड़ाकर ले गए।

घटना के सम्बंध में सीओ मोहम्मदी अभय प्रताप सिंह ने जनज्वार को बताया कि वह लोग यूपी पुलिस के कार्यक्रम मिशन शक्ति में शामिल होने गए थे। सभी जिलों के सीओ मौजूद थे। देर रात 4 बजे वह मोहम्मदा लौटे हैं। मामला संज्ञान में ले रहा हूँ। आवश्यक जाँच करवाई जाएगी। जो भी कार्वाई होगी आपको अवगत कराऊंगा।

Next Story

विविध

Share it