Top
उत्तर प्रदेश

यूपी : पतित पावन पार्टी भाजपा ने रेपिस्ट कुलदीप सेंगर की पत्नी को फतेहपुर से बनाया जिला पंचायत प्रत्याशी

Janjwar Desk
9 April 2021 6:01 AM GMT
यूपी : पतित पावन पार्टी भाजपा ने रेपिस्ट कुलदीप सेंगर की पत्नी को फतेहपुर से बनाया जिला पंचायत प्रत्याशी
x
उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव होने जा रहे हैं और संगीता सेंगर को उन्नाव जिले के फ़तेहपुर चौरासी तृतीय से ज़िला पंचायत सदस्य का टिकट दिया गया है....

जनज्वार/ उन्नाव। उत्तर प्रदेश के उन्नाव में भाजपा ने जिला पंचायत सदस्य प्रत्याशियों के नामों की लिस्ट जारी कर दी है। उम्मीदवारों की जारी लिस्ट में उन्नाव रेप केस में सजायाफ्ता पूर्व भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर की पत्नी संगीता सेंगर को भाजपा ने जिला पंचायत की टिकट दी है। भाजपा ने कुलदीप सिंह सेंगर को तमाम किरकिरी होने के बाद पार्टी से बाहर कर दिया था। लेकिन सेंगर की पत्नी को टिकट देकर भाजपा कहीं ना कहीं कुलदीप सेंगर के दबदबे और रूतबे का इस्तेमाल करना चाहती है।

बता दें कि उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव होने जा रहे हैं और संगीता सेंगर को उन्नाव जिले के फ़तेहपुर चौरासी तृतीय से ज़िला पंचायत सदस्य का टिकट दिया गया है। अंदरखाने की माने तो कुलदीप सिंह सेंगर की पत्नी को टिकट दिलाने में उन्नाव के सांसद साक्षी महाराज का भी अहम योगदान बताया जा रहा है। इससे पहले साक्षी महाराज बलात्कारी सेंगर कोे अपना परिवार बताकर जन्मदिन की बधाइयां देते रहे हैं।

उन्नाव के बांगरमऊ से चार बार पार्टियां बदल-बदलकर विधायक रहे कुलदीप सिंह सेंगर को साल 2017 में उन्नाव के चर्चित रेप केस में गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद भाजपा ने कुलदीप सिंह सेंगर को अगस्त 2019 में पार्टी से निष्काषित कर दिया था। सेंगर 2017 के बाद से जेल में सजा भुगत रहा है।


सेंगर को बलात्कार और अपहरण के मामले में भी दोषी करार दिया गया था। दोषी करार दिए जाने के बाद उसे उम्रकैद की सजा सुनाई गई थी। अदालत ने कहा था, दोषी विधायक को अपनी बाकी बची उम्र के अंतिम सांस तक जेल में काटनी होगी। कोर्ट ने इसे एक लोकतांत्रिक पदाधिकारी का दुष्टतापूर्ण कृत्य करार दिया था। कोर्ट ने कठोर संदेश देते हुए दोषी को उम्रकैद की अधिकतम सजा सुनाने का निर्णय किया और कहा कि दोषी अपनी स्वाभाविक उम्र की अंतिम सांस तक जेल में रहेगा।

वहीं रेप सर्वाइवर के पिता की पुलिस हिरासत में हुई मौत के मामले में भी सेंगर सहित सभी दोषियों को कोर्ट ने 10 साल की सजा सुनाई थी। बताते चलें कि बांगरमऊ से विधायक सेंगर पर रेप का आरोप लगने के बाद उसने पीड़िता के परिवार के कई सदस्यों को एक-एककर मरवा दिया था। मामला अदालत में गया तब जज ने इसे जघन्य अपराध मानते हुए सेंगर को उम्रकैद की सजा दी थी। जिसकी पत्नी को अब पतित पावन पार्टी भाजपा ने टिकट से नवाजा है।

Next Story

विविध

Share it