उत्तर प्रदेश

Fatehpur News: वाहनों की भिड़ंत में खून से लाल हो गई सड़क, 8 की मौत 8 घायल, लोकसभा में उठ चुका है मुद्दा

Janjwar Desk
23 Jun 2022 3:42 AM GMT
Fatehpur News: वाहनों की भिड़ंत में खून से लाल हो गई सड़क, 8 की मौत 8 घायल, लोकसभा में उठ चुका है मुद्दा
x

Fatehpur News: वाहनों की भिड़ंत में खून से लाल हो गई सड़क, 8 की मौत 8 घायल, लोकसभा में उठ चुका है मुद्दा

Fatehpur News: बुधवार शाम यूपी के हमीरपुर कानपुर-सागर हाईवे एनएच 34 पर मौदहा के मकरांव गांव के निकट लोडर व ऑटो में भिड़ंत हो गई। हादसे में पिता और उसकी सात वर्षीय पुत्री समेत आठ लोगों की मौत हो गई।

Fatehpur News: बुधवार शाम यूपी के हमीरपुर कानपुर-सागर हाईवे एनएच 34 पर मौदहा के मकरांव गांव के निकट लोडर व ऑटो में भिड़ंत हो गई। हादसे में पिता और उसकी सात वर्षीय पुत्री समेत आठ लोगों की मौत हो गई। हादसे में आठ लोग घायल हो गए। सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घटना में शोक व्यक्त किया और अधिकारियों को हर संभव मदद करने के लिए कहा है।


दुर्घटना में इन आठ की मौत

गांव पचखुरा के रहने वाले श्यामबाबू (45), उसकी पुत्री दीपांजलि (7), भतीजी रागिनी (15), इंगोहटा निवासी पंचा (65), आटो चालक राजेश वर्मा (25), रजुलिया (45), भौनिया निवासी सिद्धा उर्फ श्यामबाबू (40) व बिहार प्रांत के छपरा निवासी विजय कुमार (30) की मौत हो गई।


हादसे में घायल

मृतक श्यामबाबू की पत्नी ममता (40), उसका बेटा सूर्यांश (2), महोबा के खरेला निवासी प्रमोद (20), कुरारा के सरसई निवासी नीरज (16), मुस्करा के इमिलिया निवासी जयकिशोर प्रजापति का बेटा मानव(6) कुलदीप (30), इंगोहटा निवासी प्रियंका (16) को गंभीर घायल हो गये। जिनका इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है। मृतक श्यामबाबू अपने परिवार के साथ इमिलिया गांव स्थित अपनी ससुराल में एक शादी समारोह से वापस लौट रहे थे।

सड़क हादसे में हुई आठ लोगों की मौत पर चारों तरफ चीत्कार थी। खून से रंगी सड़क और शवों को देखकर निकलने वाले लोगों की आंखे नम हो गई। घायलों के परिजन जिला अस्पताल आये और नजारा देख सहम गये। घायलों की दर्द भरी कराहें लोगों को झकझोर रही थी। हादसे पर एआरटीओ आरपी सिंह ने बताया आटो का परमिट तीन सवारी व एक चालक मिलाकर चार लोगों का होता है। लेकिन चालक 4 से अधिक सवारियां लेकर चलते हैं जो हादसे का सबब बनता है।


लोकसभा में उठ चुका है सड़क का मुद्दा

हमीरपुर-महोबा की इस खूनी हो चुकी सड़क को लेकर सांसद पुष्पेद्र सिंह लोकसभा में मुद्दा उठा चुके हैं। उन्होंने दुर्घटनाओं का हवाला देकर इस हाईवे को छह लेन बनाए जाने की मांग की थी। इसके अलावा स्थानीय लोग भी धरना प्रदशर्न करके, कैडल मार्च निकाल कर विरोध प्रदर्शन कर चुके हैं।

अस्पताल पहुंचे अधिकारी

जिलाधिकारी डॉ. चंद्रभूषण, पुलिस अधीक्षक शुभम पटेल देर शाम अस्पताल पहुंचे। उन्होंने चिकित्सकों को हर संभव उपचार दिये जाने के निर्देश दिये है। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि वाहनों के खिलाफ नियमानुसार कार्यवाही की जायेगी।

Next Story

विविध