उत्तर प्रदेश

Fatehpur News: यूपी के फतेहपुर में नहीं थम रहे धर्मान्‍तरण के मामले, लगातार हो रहे चौकाने वाले खुलासे

Janjwar Desk
23 Jun 2022 5:00 AM GMT
Fatehpur News: यूपी के फतेहपुर में नहीं थम रहे धर्मान्‍तरण के मामले, लगातार हो रहे चौकाने वाले खुलासे
x

Fatehpur News: यूपी के फतेहपुर में नहीं थम रहे धर्मान्‍तरण के मामले, लगातार हो रहे चौकाने वाले खुलासे

Fatehpur News: उत्तर प्रदेश के जनपद फतेहपुर में धर्मांतरण के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं, जिसको लेकर आये दिन नये नये खुलासे हो रहे हैं। बीते दिन सदर पुलिस ने सामूहिक धर्म परिवर्तन कराने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया है, जिसमें तीन लोगों को गिरफ्तार करते हुये सात आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है।

Fatehpur News: उत्तर प्रदेश के जनपद फतेहपुर में धर्मांतरण के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं, जिसको लेकर आये दिन नये नये खुलासे हो रहे हैं। बीते दिन सदर पुलिस ने सामूहिक धर्म परिवर्तन कराने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया है, जिसमें तीन लोगों को गिरफ्तार करते हुये सात आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है।

जिला वाराणसी के सिगरा थानाक्षेत्र के हबीबपुरा चंदुआ के रहने वाले सुधांशु चौहान की शिकायत पर पुलिस ने सात आरोपियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया है। बताया कि उसके मोबाइल पर अरमान अली निवासी जिला गाजीपुर ने 14 जून को फोन कर ट्रांसपोर्ट कंपनी में नौकरी लगवाने की बात कही। इस पर दो दिन बाद वह अरमान के बताए पते पर फतेहपुर जिले के आबकारी कार्यालय के पास पहुंचे, जहां से अरमान उसे तुराबअली का पुरवा ले गया और अगले दिन उसे एक मुस्लिम युवक के साथ लखनऊ बाईपास स्थित मार्केटिंग कंपनी के ऑफिस ले गया।

इस दौरान उससे रजिस्ट्रेशन के नाम पर एक हजार रुपये लेने के बाद 10 हजार रुपये और लिए गए। 17 जून को पीडि़त उसी ऑफिस पहुंचा। यहां से मोहसिन व यासीन नाम के युवक उसे लगभग 20 हिंदू लड़कों के साथ 30 से 40 मुस्लिम लोगों की निगहबानी में एक मदरसे में ले गए। मदरसे में बताया कि वह लोग उनके अनुसार चलेंगे तो हर महीने एक से दो लाख रुपये कमा सकते हैं। जिसके बाद वहां एक सेमिनार आयोजित हुआ, जिसमें वक्ताओं ने संगठन से जुड़कर रुपये कमाने की बात कही। 19 जून की सुबह करीब 50 हिंदू और 100 मुस्लिम लड़कों के साथ उसे फिर एक मस्जिद ले जाया गया।

धर्म परिवर्तन के लिए बनाया दबाव

मस्जिद में एक मौलवी ने मुस्लिम धर्म अपनाने और प्रचार प्रसार की बात कहकर सप्ताह भर की ट्रेनिंग के बाद रुपये मिलने की बात कही और उसे मुस्लिम धर्म अपनाने के लिए मजबूर करने लगे। मकान मालिक अलीम ने भी धर्म परिवर्तन के लिए बाध्य करते हुए उसे बंधक बना लिया। इस सब से पीडि़त किसी तरह वह जान बचाकर पुलिस तक पहुंचा। तब सुधांशु की तहरीर पर पुलिस ने कंपनी के हेड इकलाख, यासीन, मकान मालिक अलीम, मोहसिन, मौलवी, अरमान अली और उसके एक अज्ञात मुस्लिम साथी के खिलाफ बंधक बनाने, धर्म परिवर्तन, धोखाधड़ी की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।

इन आरोपियों को किया गया गिरफ्तार

पुलिस ने दबिश देकर मोहसिन अंसारी निवासी मनिहारी थाना फतेहगढ़ जिला फर्रुखाबाद, यासीन मंसूरी निवासी बहादुरगंज थाना मऊ दरवाजा जिला फर्रुखाबाद, मकान मालिक मोहम्मद अलीम को गिरफ्तार किया है। यह सभी लोग अलीम के हाते में शहीद गार्डन तुराब अली का पुरवा में रहते हैं। सीओ सिटी डीसी मिश्रा ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर विवेचना की जा रही है।

शातिरों पर पहले भी दर्ज हैं ठगी के दो मुकदमे

पुलिस के मुताबिक इस पूरे नेटवर्क का मास्टर माइंड इकलाख है, इसने अंतरराज्यीय नेटवर्क फैला रखा है। यह लोग ग्लेज इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के नाम से मार्केटिंग कंपनी संचालित करते हैं। दो साल पहले इकलाख समेत गैंग के अन्य सदस्यों के खिलाफ दो मुकदमे सदर कोतवाली में दर्ज हुए थे। पीड़ित युवकों ने आरोप लगाया था कि उन्हें भी नौकरी के नाम पर बुलाकर रुपये लिए गए और बंधक बनाया गया।

मौलाना उमर गौतम, स्कूल के प्रबंधक और बेटे के खिलाफ दर्ज हुआ था मुकदमा

सुधांशू चौहान धर्मान्‍तरण के मामले के पहले फतेहपुर जिले का नाम धर्मान्‍तरण के मुद्दे में सुर्खियां बटोर चुका है, जिले के मूल निवासी मौलाना उमर गौतम का फतेहपुर शहर से गहरा जुड़ाव मिला था, जिसमें नूरूलहुदा स्‍कूल में उमर गौतम के आने जाने और धर्मान्‍तरण कराने का खुलासा हुआ था। स्‍कूल के प्रबन्‍धक मौलाना उमर शरीफ महाजरी पर बाकरगंज मोहल्‍ले की रहने वाली पूर्व शिक्षिका कल्‍पना सिंह ने खुलासा किया था कि विद्यालय में कुछ बच्‍चों के मना करने के बावजूद उनसे धामिर्क क्रिया कलाप करवाये जाते थे और धर्मान्‍तरण के लिये प्रलोभन दिया जाता था। कल्‍पना सिंह मई 2019 से मार्च 2021 तक विद्यालय में बतौर शिक्षिका बच्‍चों को पढ़ाती थीं। इसी दौरान मौलाना उमर गौतम विद्यालय में आया करता था और हिन्‍दू शिक्षक और शिक्षिकाओं को इकट्ठा करके स्‍कूल के प्रबन्‍धक मौलाना उमर शरीफ महाजरी और उसका बेटा मोहम्‍मद उमैर शरीफ ने सभी हिन्‍दू अध्‍यापकों के सामने गलत शब्‍दों का प्रयोग करते हुये देवी-देवताओं को अपमानित किया था और धर्म परिवर्तन का दबाव बनाया था। इसके अलावा उसने अच्‍छी सुविधाओं के साथ विदेश भेजने का प्रलोभन दिया था। जिसका विरोध करने पर शिक्षिका कल्‍पना सिंह को नौकरी से निकाल दिया गया और उनका वेतन भी नहीं दिया गया, जिसका मुकदमा कोतवाली सदर में उनके द्वारा दर्ज कराया गया था।

विदेशी मौलाना पर धर्मांतरण का आरोप

जिले के गाजीपुर बड़ी मस्जिद कमेटी के सदस्य अब्दुल मजीद खां ने पुलिस के आलाधिकारी को बताया था कि विदेशी मौलाना हाफिज फिरोज आलम अपनी पहचान छिपाकर पिछले 15 सालों से उनके गांव में रहकर अवैध धर्मांतरण की पाठशाला चला रहा है। विदेशी मौलाना कभी अपने आप को बंगलादेश का रहने वाला तो कभी नेपाल का नागरिक बताता है। वह मजहबी तालीम देने के नाम पर नाबालिग मुस्लिम बच्चो का ब्रेनवॉश कर उन्हें हिन्दू धर्म की लड़कियों को अपने प्यार में फंसाने की पाठशाला चलाता है। इतना ही नहीं वह अब तक प्रलोभन देकर कई हिन्दू परिवार की लड़कियों का जबरन धर्मांतरण करवाकर मुस्लिम युवकों से निकाह भी करवा चुका है।

गाजियाबाद की सुमित्रा बनी रुकसाना

फतेहपुर के ललौली कस्बा का रहने वाला हसन मोहम्मद उर्फ मोनू खान सुमित्रा को बहला-फुसलाकर गाज़ियाबाद ले गया और वहां किसी मस्ज़िद में जबरन धर्मांतरण कराने के बाद उससे निकाह कर लिया। इस मामले में धर्मांतरण की धाराओं में मुकदमा दर्ज करते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था।

Next Story