Top
राष्ट्रीय

KBC में 'मनुस्मृति' से जुड़ा सवाल पूछने पर अमिताभ बच्चन के खिलाफ FIR दर्ज, हिंदू भावनाओं को आहत करने का आरोप

Janjwar Desk
3 Nov 2020 9:11 AM GMT
KBC में मनुस्मृति से जुड़ा सवाल पूछने पर अमिताभ बच्चन के खिलाफ FIR दर्ज, हिंदू भावनाओं को आहत करने का आरोप
x
पुलिस को दी शिकायत में कहा गया है कि सोनी टीवी पर प्रसारित होने वाले कार्यक्रम केबीसी में अमिताभ बच्चन के एक सवाल से धार्मिक भावनाएं आहत हुई हैं....

मुंबई। 'कौन बनेगा करोड़पति शो' के निर्माताओं और होस्ट अमिताभ बच्चन के खिलाफ हिंदू भावनाओं को आहत करने के आरोप में एफआईआर दर्ज की गई है। बता दें कि केबीसी शुरु से ही अपने दर्शकों के बीच इसलिए लोकप्रिय रहा है क्योंकि इसमें प्रतिभागियों के संघर्ष, किस्से और कहानियों को प्रेरणा के रूप में बताया जाता है।

खबरों के मुताबिक केबीसी के 12वें स्पेशल कर्मवीर एपिसोड में स्पेशल गेस्ट के रूप में सामाजिक कार्यकर्ता बेजवाड़ा विल्सन और अभिनेता अनूप सोनी थे। इस दौरान यहां एक सवाल के जवाब में 6,40,000 रूपये का इनाम रखा गया था।

इसके लिए जैसे ही अमिताभ बच्चन ने सवाल किया- 25 दिसंबर 1927 को डॉ. बी.आर अंबेडकर और उनके अनुयायियों ने कि धर्मग्रंथ की प्रतियां जलाई थीं? इसके लिए चार विकल्प दिए गए- (ए) विष्णु पुराण (बी) भगवत गीता (सी) ऋग्वेद (डी) मनुस्मृति। इसका जवाब मनुस्मृति था जिसे प्रतिभागियों ने सही बताया।

जवाब के बाद बच्चन ने भी ऐतिहासिक घटना पर विस्तार से कहा, 1927 में डॉ. बी.आर.अंबेडकर ने प्राचीन हिंदू धर्मग्रंथ मनुस्मृति की वैचारिक रूप से जातिगत भेदभाव और छुआछूत को उचित ठहराने की निंदा की और उन्होंने प्रतियां भी जलाईं ।

मनुस्मृति एक प्राचीन हिंदू ग्रंथ है जो जाति व्यवस्था का समर्थन करता है। दलित और अन्य सामाजिक रूप से पिछड़े समुदाय इस धर्मग्रंथ की निंदा करने में सबसे मुखर रहे हैं। इसके अलावा 1927 में शास्त्र को जलाना एक जाना-माना तथ्य है- जैसे कि आमतौर पर इंफोटेनमेंट शो के लिए प्रश्नों को फ्रेम करने के लिए उपयोग किया जाता है।

सोशल मीडिया पर अब इस कार्यक्रम का कुछ यूजर्स ने बहिष्कार करना शुरू कर दिया है। इसके साथ ही 'बॉटकॉट केबीसी' के हैशटैग चलाए जा रहे हैं। हालांकि कुछ यूजर्स इसका समर्थन भी कर रहे हैं। विवेक रंजन अग्निहोत्री ने वीडियो क्लिप शेयर करते हुए लिखा, "केबीसी को कम्युनिस्टों ने हाईजैक कर लिया है। मासूम बच्चे, सीखिए कल्चर वॉर किस तरह जीतते हैं। इसे कोडिंग कहते हैं।"

जानकारी के मुताबिक यह एफआईआर भाजपा के विधायक अभिमन्यु पवार की शिकायत पर दर्ज की गई है। पवार ने अमिताभ बच्चन के खिलाफ हिंदू धार्मिक भावनाओं को भड़काने का आरोप लगाते हुए महाराष्ट्र के लातूर में शिकायत दर्ज करवाई है।

भाजपा विधायक के मुताबिक यह चारों विकल्प हिंदू धर्म से जुड़े ग्रंथों के थे। अगर उनकी मंशा सही थी तो उन्हें चार अलग-अलगधर्म ग्रंथों का नाम भी देना चाहिए था लेकिन यहां सिर्फ हिंदू धर्म ग्रंथों का जिक्र विकल्प में किया गया। अमिताभ बच्चन ने ऐसा करके हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाई है। हिंदू और बौद्ध धर्म के लोगों के बीच में दूरियां पैदा करने की कोशिश अमिताभ बच्चन और सोनी टीवी ने की है।

अभिमन्यु पवार महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के बेहद करीबी माने जाते हैं, वह उनके पीए भी रह चुके हैं। उन्होंने इसे सोची समझी साजिश बताया है।

Next Story

विविध

Share it