Top
उत्तर प्रदेश

पूर्व आइएएस सूर्य प्रताप सिंह ने सीएम योगी से पूछा, विकास दुबे के साथी और संरक्षक दोनों भाजपा के विधायक कब अरेस्ट होंगे?

Janjwar Desk
10 July 2020 5:27 AM GMT
पूर्व आइएएस सूर्य प्रताप सिंह ने सीएम योगी से पूछा, विकास दुबे के साथी और संरक्षक दोनों भाजपा के विधायक कब अरेस्ट होंगे?
x
अपने ठोस सवालों से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार के लिए असहज स्थिति उत्पन्न कर देने वाले पूर्व आइएएस ने गैंगस्टर विकास दुबे इनकाउंटर मामले में मुख्यमंत्री से तीखे सवाल पूछे हैं...

जनज्वार। उत्तरप्रदेश सरकार को कई मुद्दों पर घेरने वाले रिटायर्ड आइएएस अधिकारी सूर्य प्रताप सिंह ने गैंगस्टर विकास दुबे इनकाउंटर प्रकरण पर भी सवाल उठाया है। उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ट्वीट कर पूछा है कि विकास दुबे के साथी और संरक्षक दोनों भाजपा के विधायक कब अरेस्ट होंगे। हालांकि सूर्य प्रताप सिंह ने अपने ट्वीट में उन दोनों भाजपा विधायकों के नाम का उल्लेख नहीं किया है, जिस पर वे संरक्षण का आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने पुलिस इनकाउंटर में विकास दुबे के मारे जाने पर टिप्पणी की है : गणतंत्र से गनतंत्र तक।



सूर्य प्रताप सिंह ने पूछा है कि विकास दुबे के अहम गुर्गे जय वाजपेयी को क्यों बचाया जा रहा है। उन्होंने यह भी पूछा है कि जय वाजपेयी व अवनीश अवस्थी के क्या संबंध हैं। किसके कहने पर उसे बचाया जा रहा है। अवनीश अवस्थी योगी सकरार के अहम अधिकारी हैं और वे अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह के पद पर तैनात हैं।

सूर्य प्रताप सिंह ने कहा है कि आज जो हुआ अगर उच्च न्यायालय उसका स्वतः संज्ञान लेते हुए जांच का आदेश नहीं देता तो मेरा न्याय व्यवस्था पर से विश्वास उठ जाएगा। पुलिस अपराधियों जैसा व्यवहार करने लगी तो जिसकी भी सरकार बनी वो तानाशाह हो जाएगा और लोकतंत्र का पतन हो जाएगा। उन्होंने कहा है कि आज चुप रहे तो कल इसके शिकंजे में आप आएंगे।

उन्होंने यह भी पूछा है कि तत्कालीन एसएसपी अनंत देव, प्रमुख सचिव गृह अवनीश अवस्थी और उत्तरप्रदेश के डीजीपी कब इस्तीफा देंगे। सवाल पूछने पर एफआइआर की परंपरा कब समाप्त होगी। अभिव्यक्ति की आजादी है या नहीं उत्तरप्रदेश में? सरकार की जनता के प्रति कोई जवाबदेही है या नहीं?

उन्होंने विकास दुबे मामले की सीबीआइ जांच की मांग की है और कहा है कि उसके करीबी अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से गिरफ्तार कर उनसे पूछताछ की जाए। उन्होंने मुख्यमंत्री पर आरोप लगाया है कि वे सीधे आस्तीन के सांपों को बचा रहे हैं, कल ये विकास दुबे जैसे और चार नए माफिया खड़े करेंगे जो आठ की जगह 80 जवानों को शहीद करेंगे। उन्होंने लिखा है चिट्ठियां गायब, सबूत दफन, अपराधी पस्त और संरक्षक मस्त। विकास दुबे ने योगी सरकार का असली चेहरा जनता के सामने लाकर रख दिया।

Next Story

विविध

Share it