Top
उत्तर प्रदेश

कोरोना का सहारा लेकर पंचायत चुनाव प्रभावित करना चाहती सरकार : अखिलेश यादव

Janjwar Desk
28 March 2021 1:30 AM GMT
कोरोना का सहारा लेकर पंचायत चुनाव प्रभावित करना चाहती सरकार  : अखिलेश यादव
x
अखिलेश यादव ने कहा कि बंगाल में विधानसभा चुनाव हैं इसलिए वहां कोरोना नहीं है, मगर यहां पंचायत चुनाव में प्रशासन से हस्तक्षेप करवाना है इसलिए यहां कोरोना है। कहा कि कोरोना की आड़ में सरकार हमारे अधिकारों को छीनने का काम कर रही है।

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा सरकार पर हमला बोला और कहा कि प्रदेश सरकार कोरोना संक्रमण का सहारा लेकर पंचायत चुनाव प्रभावित करना चाहती है। अखिलेश यादव ने शनिवार को बाराबंकी में पूर्व केंद्रीय मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा की प्रतिमा का लोकार्पण किया और जनसभा को संबोधित किया।

उन्होंने कहा कि बंगाल में विधानसभा चुनाव हैं इसलिए वहां कोरोना नहीं है, मगर यहां पंचायत चुनाव में प्रशासन से हस्तक्षेप करवाना है इसलिए यहां कोरोना है। कहा कि कोरोना की आड़ में सरकार हमारे अधिकारों को छीनने का काम कर रही है। आप सभी लोग सजग रहें और उनके बहकावे में न आएं। सरकार कोरोना का सहारा लेकर पंचायत चुनाव प्रभावित करने की सोंच रही है।

उन्होंने कहा कि योगी सरकार गरीबों, पिछड़ों, किसानों व बेरोजगारों के हक पर डाका डाल रही है। सभी सरकारी संस्थाओं को कंपनी बनाया जा रहा है। इससे आरक्षण नहीं मिलेगा। किसानों की कृषि योग्य भूमि चली जाएगी। सब कुछ उद्योगपतियों के हाथ में होगा। उन्होंने भरोसा दिलाया कि 2022 में सपा की सरकार जरूर बनेगी। उन्होंने कहा कि योगी सरकार के चार साल पूरे हो गए हैं। प्रदेश में एक भी उद्योग नहीं लगा और पांच लाख करोड़ के एमओयू का दावा किया गया था।

सपा मुखिया ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की बांग्लादेश को पाकिस्तान से अलग करवाने की बात पर तंज कसते हुए अखिलेश ने कहा कि हो सकता है उन्होंने अलग करवाया हो। हो सकता है भारत पाकिस्तान को अलग करवाने का काम किया हो। हो सकता है चीन की सीमा बनाने में भी भूमिका निभाई हो। यह तो इतिहास की बात है इतिहास के पन्ने खंगालने पड़ेंगे।

पूर्व मंत्री राकेश वर्मा ने कार्यक्रम को पूरी तरह सफल बनाने के लिए प्रयास किया तो पार्टी के दिग्गज नेताओं से लेकर कार्यकर्ताओं तक ने अपने नेता की अगवानी के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी। लखनऊ सीमा से लेकर कार्यक्रम स्थल तक का रास्ता होडिर्ंग्स और बैनर से पाट दिया गया।

समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव के सबसे करीबी साथी और राजनीति के क्षेत्र में अपना अलग मुकाम हासिल करने वाले बेनी प्रसाद वर्मा अपनी बेबाक, बेलौस और कड़क राजनीति करने के लिए जाने जाते हैं। जिले में सड़कों का जाल हो या फिर घर-घर संचार सुविधा उपलब्ध कराने का जब जिक्र होता है तो यह उपलब्धि बेनी बाबू के खाते में गिनी जाती हैं।

Next Story

विविध

Share it