Top
उत्तर प्रदेश

हिस्ट्रीशीटर से कथित पत्रकार बने युवक की मिली लाश, कार के अंदर गला कसकर मारे जाने का अंदेशा

Janjwar Desk
2 Jan 2021 1:43 PM GMT
हिस्ट्रीशीटर से कथित पत्रकार बने युवक की मिली लाश, कार के अंदर गला कसकर मारे जाने का अंदेशा
x
मृतक आशु यादव के परिजनों की अगर माने तो क्षेत्रीय पार्षद राजू सोनकर 'अपना' के पुत्र आदित्य सोनकर से बीते दिन उसका झगडा हुआ था, उस समय आशु यादव ने आदित्य की जमकर पिटाई कर दी थी....

मनीष दुबे की रिपोर्ट

जनज्वार ब्यूरो/कानपुर। उत्तर प्रदेश के कानपुर में बर्रा सीटीआई चौराहे स्थित सरस्वती शिशु मंदिर के पास एक कार में युवक का शव मिलने से इलाके में सनसनी फैल गई। सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है। मौके पर पुलिस के अलावा फारेंसिक की टीम भी पहुंच चुकी है। मृतक युवक की शिनाख्त रेल बाज़ार थाना क्षेत्र के शांति नगर निवासी आशु यादव के रूप में हुई है। जिस गाडी में शव बरामद हुआ है वह गाड़ी आशु यादव की बताई जा रही है।

जानकारी के मुताबिक कानपुर के शांति नगर निवासी आशु यादव पिछले दो दिनों से घर से लापता चल रहा था। इस दौरान उसका मोबाइल भी बंद आ रहा था। इसी सिलसिले में परिजनों ने स्थानीय पुलिस को जानकारी भी उपलब्ध करवाई थी। परिजनों की माने तो पुलिस ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया जिसके बाद इतनी बड़ी घटना हो गई।

बताया जा रहा है कि मृतक आशु यादव पर रेल बाज़ार थाने में दस से अधिक मामले दर्ज है। क्षेत्र में उसकी पहचान मनबढ़ किस्म के युवक के तौर पर थी। आशु यादव ने पिछले लगभग दो वर्षो से अपराधिक ज़मीन को छोड़ कर पत्रकरिता का दामन थाना था। वह सोशल मीडिया पर 'आशु यादव की खास रिपोर्ट' के तौर पर चर्चित था। फिलहाल पुलिस ने शव को कब्ज़े में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।


मृतक आशु यादव के परिजनों की अगर माने तो क्षेत्रीय पार्षद राजू सोनकर 'अपना' के पुत्र आदित्य सोनकर से बीते दिन उसका झगडा हुआ था। उस समय आशु यादव ने आदित्य की जमकर पिटाई कर दी थी। जिसके बाद आदित्य के पिता राजू सोनकर और उसके साथियों ने आदित्य के साथ मिलकर आशु यादव की पिटाई कराई थी। स्थानीय थाने में दोनों पक्षों की तरफ से तहरीर के आधार पर मुकदमा कायम हुआ था और विवेचना चल रही थी।

कथित मृतक के परिजनों का आरोप है आदित्य सोनकर और राजू सोनकर 'अपना' ने आशु यादव की हत्या की धमकी दी थी। इस घटना के बाद से आशु यादव को भी अपनी सुरक्षा पर खतरा महसूस हो रहा था। परिजनों की माने तो पुलिस ने राजू सोनकर और आदित्य सोनकर पर कोई कड़ी कार्यवाही नहीं की, जिससे उनका मनोबल बढ़ गया और उनके बेटे की हत्या कर दी गई।

शनिवार 2 जनवरी की दोपहर पुलिस ने जानकारी दी कि सीटीआई नहर किनारे कार में शव मिला है। शिनाख्त में शव 31 तारीख की रात लापता हुए आशु यादव का पाया गया। फोरेंसिक टीम ने जांच पड़ताल कर साक्ष्य जुटाए। डीआआईजी प्रीतिंदर सिंह ने बताया युवक की टाई या किसी अन्य चीज से गला कसकर हत्या की गई है। सर्विलांस सेल, फोरेंसिक और पुलिस की टीम खुलासे के लिए लगाई गई है। मौके पर कई थानों का फ़ोर्स मौजूद है।

Next Story
Share it