Top
उत्तर प्रदेश

योगी राज में अपराधियों के हौसले बुलंद, पुलिस की वर्दी पहनकर घर में घुसे बदमाशों ने लूट लिए 50 लाख

Janjwar Desk
3 Oct 2020 4:19 AM GMT
योगी राज में अपराधियों के हौसले बुलंद, पुलिस की वर्दी पहनकर घर में घुसे बदमाशों ने लूट लिए 50 लाख
x
गाजियाबाद में आपराधिक वारदातों का सिलसिला थम नहीं रहा है. इस बीच मोदी नगर इलाके में एक सनसनीखेज वारदात को अंजाम दिया गया है. यहां एक कारोबारी के घर में पुलिस के वर्दी में बदमाश घुसे और पूरे घर को बंधक बनाकर लाखों की डकैती को अंजाम दे डाला.

जनज्वार। गाजियाबाद में पुलिस की वर्दी में बदमाशों ने 50 से 60 लाख की डकैती को अंजाम दिया है. डकैती गाजियाबाद के थाना मोदीनगर इलाके के किदवई नगर कालोनी में रहने वाले कारोबारी के घर हुई. कारोबारी के मुताबिक बदमाशों ने उन्हें बंधक बनाया और घर में रखी नगदी और ज्वैलरी लूट कर फरार हो गए. पीड़ित के मुताबिक 60 लाख का माल डकैत ले गए हैं. डकैती के बाद जाते हुए बदमाश सीसीटीवी में कैद हो गए. पुलिस वाले थाना इंदिरापुरम इलाके में एटीएम में हुई लूट की जांच के बहाने घर में घुसे थे.

सीसीटीवी में साफ तौर पर देखा जा सकता है कि सड़क पर पांच लोग जा रहे हैं. जिसमें से दो शख्स पुलिस की खाकी वर्दी दिख रहे थे. यह सभी लोग गाजियाबाद के थाना मोदीनगर किदवई नगर कॉलोनी से निकले. इन्होंने यहां रहने वाले बड़े कारोबारी समीर सिद्दीकी के घर से तकरीबन 60 लाख रुपए जिसमें नगदी और जेवरात शामिल हैं, वह लूट लिये. पीड़ित का आरोप है कि सुबह तड़के तीन बजे सुबह इन लोगों ने दरवाजा खटखटाया और कहा कि यह लोग पुलिस वाले हैं और गाजियाबाद के थाना इंदिरापुरम में जो एटीएम लूट हुई थी, उस मामले की जांच के लिये आए हैं.

पुलिस वाले को देखकर कारोबारी की मां ने दरवाजा खोल दिया. घर में घुसने के बाद उन्होंने पूरे घर की तलाशी लेनी शुरू कर दी. घर में करीब 4 लाख का कैश और बाकी जेवरात थे, सबको ले कर बदमाश चले गए. इस दौरान घर में मौजूद सभी लोगों को उन्होंने बंधक बना लिया था. वहीं, पुलिस अधिकारी मान रहे हैं कि दो लोग पुलिस की वर्दी में थे, सीसीटीवी के मुताबिक छानबीन की जा रही है.

आपको बता दें कि गाजियाबाद में लगातार अपराधिक वारदातें बढ़ती जा रही हैं. कुछ दिन पहले ही अवंतिका में बंधक बनाकर डकैती को अंजाम दिया गया था. उससे पहले चिरंजीव विहार में डकैती हुई थी. इंदिरापुरम में एटीएम तोड़कर बदमाश ले गए थे. हाल ही में एक सुनार के यहां डकैती को अंजाम दिया गया था. सुनार के यहां डकैती की घटना का प्रयास किया गया था, लेकिन सुनार की बहादुरी से बदमाश फरार हो गए. इसके अलावा बिल्डर विक्रम त्यागी 26 जून से लापता हैं, जिसका गाजियाबाद पुलिस अब तक कोई पता नहीं लगा सकी है. इन सारी अपराधिक वारदातों में पुलिस सिर्फ एक का ही अब तक खुलासा कर पाई है. अब इस घटना ने गाजियाबाद पुलिस की कार्यशैली पर सवालिया निशान लगा दिए हैं.

Next Story

विविध

Share it