Top
उत्तर प्रदेश

जालौन में सामने आया भाजपा नेता का घिनौना चेहरा, नाबालिग बच्चों के साथ करता था दुष्कर्म

Janjwar Desk
15 Jan 2021 4:05 AM GMT
जालौन में सामने आया भाजपा नेता का घिनौना चेहरा, नाबालिग बच्चों के साथ करता था दुष्कर्म
x

बच्चों के साथ हैवानियत का आरोपी भाजपा नेता और सेवानिवृत्त कानूनगो रामबिहारी राठौर

रामबिहारी जिन बच्चों को अपना शिकार बनाता था उन्हें नए शिकार लाने को कहता। वह पीड़ित बच्चों को पांच-पांच नए शिकार लाने का टारगेट देता था और ऐसा करने के लिए उनके पुराने वीडियो दिखाकर उन पर दबाव बनाता और उन्हें ब्लैकमेल करता था।

जनज्वार। उत्तरप्रदेश में चित्रकूट में एक जूनियर इंजीनियर द्वारा नाबालिग बच्चों का यौन शोषण किए जाने के बाद इस तरह के एक और बड़े मामले का खुलासा जालौन में हुआ है। यहां दो बच्चों द्वारा पाक्सो एक्ट के तहत शिकायत दर्ज कराने के बाद पुलिस ने इस मामले में भाजपा नेता व सेवानिवृत्त कानूनगो रामबिहारी राठौर को दो दिन पहले गिरफ्तारी के बाद अदालत में पेश किया था, जहां से उसे पुलिस को न्यायिक हिरासत में सौंप दिया गया है। अबतक उससे हुई पूछताछ में कई खुलासे हुए हैं।

इस मामले में एक नयी संभावना यह जतायी जा रही है कि उसने सिर्फ इन दो बच्चों का नहीं दर्जनों बच्चों का यौन शोषण किया है। अबतक उसके दो द्वारा सात बच्चों से दुष्कर्म किए जाने का खुलासा हुआ है।

63 वर्षीय रामबिहारी राठौर कोंच कस्बा में भाजपा का नगर उपाध्यक्ष था और बुधवार को पुलिस ने उसे उरई से गिरफ्तार किया था। यौन शोषण का मामला सामने आने के बाद पार्टी ने उससे पल्ला झाड़ लिया है और उसे पार्टी से बाहर निकाल दिए जाने का ऐलान किया है।

राम बिहारी राठौर, फाइल फोटो

रामबिहारी जिन बच्चों को अपना शिकार बनाता था उन्हें नए शिकार लाने को कहता। वह पीड़ित बच्चों को पांच-पांच नए शिकार लाने का टारगेट देता था और ऐसा करने के लिए उनके पुराने वीडियो दिखाकर उन पर दबाव बनाता और उन्हें ब्लैकमेल करता था। बच्चों अगर फिर भी ऐसे करने से मना करते तो वे उन्हें बर्बाद कर देने की चेतावनी देते जिससे बच्चे मजबूर हो जाते थे।

पुलिस ने छापेमारी में उसके घर से लैपटाॅप, एक्सटर्नल हार्ड डिस्क, पेन ड्राइव, डीवीआर व करीब दो हजार अश्लील वीडियो बरामद किया है। उसके घर पर 2016 के बाद के वीडियो अधिक हैं और इसमें नाबालिग बच्चों के साथ महिलाओं व लड़कियों के भी अश्लील वीडियो हैं। यानी पिछले चार साल में उसके कुकृत्य के मजबूत साक्ष्य हैं।

रामबिहारी ने अपनी नौकरी का समय कोंच व नदीगांव ब्लाॅक में गुजारा है, इसलिए वहां के बच्चों व महिलाओं-लड़कियों के उसके अधिक शिकार होने की भी संभावना है। उसने यह कबूला है कि उसके घर नाबालिगों का आना-जाना था। उसने गरीब बस्तियों के बच्चों को अपना आसान शिकार बनाया और उन्हें अपना प्रभाव में रखने के लिए पैसे से मदद करता और अपनी गाड़ी में घूमाता था। अगर कोई मंुह खोलने की कोशिश करता तो अपने सियासी रूतबे का प्रयोग कर भी मुंह बंद करवा देता था।

इस मामले में एसपी डाॅ यशवीर सिंह ने कहा है कि मामले की जांच विभिन्न बिंदुओं से हो रही है और आवश्यकता पड़ने पर रामबिहारी राठौर का नार्काे टेस्ट भी कराया जाएगा ताकि पूरा सच सामने आ सके।

Next Story

विविध

Share it