Top
उत्तर प्रदेश

IPL सट्टे से लेकर बेनामी संपत्ति तक जय बाजपेई का परचम, विकास दुबे का था पैसा

Janjwar Desk
17 July 2020 9:41 AM GMT
IPL सट्टे से लेकर बेनामी संपत्ति तक जय बाजपेई का परचम, विकास दुबे का था पैसा
x
जय बाजपेई ने पुलिस को बताया कि वह विकास के रुपयों को अलग अलग धंधों में खपाता था। जिसके बदले वह हर महीने एक मोटी रकम विकास तक पहुंचाता था...

कानपुर। कुख्यात विकास दुबे और उसके खजांची रहे जय बाजपेई के बीच लगभग आधा दर्जन बैंक खातों से एक साल के भीतर 75 करोङ का लेनदेन हुआ था। यह खुलासा पुलिस की पूछताछ और जांच में हुआ है। पुलिस ने इससे संबंधित सभी दस्तावेज जुटा लिए ह्यन। अब इन सबूतों को ईडी को भेज जाएगा। इसके अलावा करोङो रुपये का नकद लेनदेन भी हुआ है। जिसका कोई लेखाजोखा नहीं है।

बिकरु कांड के बाद पुलिस ने विकास दुबे के करीबी जय बाजपेई को हिरासत में ले लिया था। पूछताछ में जय ने कई राज पूइस के सामने उगले हैं। उसने बताया कि वह विकास के रुपयों को अलग अलग धंधों में खपाता था। जिसके बदले वह हर महीने एक मोटी रकम विकास तक पहुंचाता था। जय ने विकास से ली गई कुछ रकम को ब्याज पर भी उठा दिया था और कुछ को प्रॉपर्टी में खपा दिया था। पुलिस अब जय के पिछले चार साल के बैंक का डिटेल खंगाल रही है।

सट्टे में भी लगाए थे 5 करोङ

एसटीएफ और पुलिस की जांच में खुलासा हुआ है कि जय बाजपेई बीसी चलाने के साथ विकास की रकम का काफी हिस्सा आईपीएल के सट्टे में भी लगाता था। उसने मैच में करीब 5 करोण रुपये का सट्टा लगाया था। जय ऑनलाइन सट्टा खेलता था। कई एक सबूत ऐसे मीले हैं कि जय बाजपेई के सट्टे में विदेशी लोग भी शामिल होते थे।

डॉक्टर से जाता था 5 लाख महीना

बिकरु के विकास का पैसा एक डॉक्टर ने अपने अस्पताल में लगा रखा था। कल्याणपुर का रहने वाला एक डॉक्टर हर महीने विकास को 6 से 7 लाख रुपये पहुंचाता था। पुलिस और एसटीएफ ने डॉक्टर से भी पूछताछ की है। जिसमे उसका भी करोङो रुपये का लेनदेन सामने आया है। सबूत मिलने के बाद डॉक्टर पर भी कार्रवाई हो सकती है।

कार्रवाई में देरी की आशंका

बिकरु गांव में 2/3 तारीख कि रात हुई इस वारदात के वाद जय बाजपेई पुलिस की हिरासत में है। पुलिस ने न ही अभी तक उसपर केस दर्ज किया है और न ही छोड़ा है। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि पुलिस जय बाजपेई के मामले में इतनी देरी क्यों कर रही है। पूछताछ कर रहे अधिकारियों का कहना है कि विकास के साथ जय बाजपेई के संबंध अंतरंग रहे हैं। लेकिन जय बाजपेई पर कोई कार्रवाई होगी कि नहीं ये अभी कंफर्म नहीं हो पा रहा है।

शहर के कई अस्पतालों प्रोपटियों में विकास का पैसा

कानपुर के ब्रह्मनगर, आर्यनगर, पनकी, स्वरूपनगर, इत्यादि में विकास की कृपा से जय बाजपेई ने करोङो के फ्लैट और जमीन बना रखी थी। फिलहाल शहर के नए नवेले अरबपति पर पुलिस ने अपनी जांच का जाल डाल दिया है। इसके अलावा विकास का पैसा शहर के कुछ प्रतिष्ठित होटलों में भी जय बाजपेई के माध्यम से लगा था जिनकी पुलिस पड़ताल कर रही है।

Next Story

विविध

Share it