Top
उत्तर प्रदेश

कानपुर इनकाउंटर व विकास दुबे पर यूपी पुलिस की अहम प्रेस कान्फ्रेंस, अपराधियों ने पुलिस वालों को कैसे मारा?

Janjwar Desk
14 July 2020 4:56 AM GMT
कानपुर इनकाउंटर व विकास दुबे पर यूपी पुलिस की अहम प्रेस कान्फ्रेंस, अपराधियों ने पुलिस वालों को कैसे मारा?
x
यूपी पुलिस ने कहा है कि पुलिसकर्मियों की हत्या में 21 अपराधी शामिल थे, जिसमें छह मारे गए, चार गिरफ्तार हुए...

जनज्वार। कानपुर इनकाउंटर व गैंगस्टर विकास दुबे पर उत्तरप्रदेश के एडीजी (लाॅ एंड आर्डर) प्रशांत कुमार मंगलवार को एक महत्वपूर्ण प्रेस कान्फ्रेंस कर पूरी घटना का ब्यौरा देने के साथ पुलिस का पक्ष रखा है। एडीजी प्रशांत कुमार ने कहा कि तीन जुलाई को आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद आरोपी ने पुलिस वालों के हथियार भी लूट लिए।

एडीजी ने कहा कि कानपुर के बिकरू गांव में शहीद हुए पलिस जवानों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से यह स्पष्ट हुआ है कि अपराधियों ने पुलिस वालों की हत्या करने के लिए तेज हथियार व बंदूक का प्रयोग किया। शहीद सर्किल आफिसर देवेंद्र मिश्रा को चार गोलियां लगी थीं।

एडीजी ने कहा कि कानपुर में पुलिस कर्मियों की हत्या के कुल 21 अपराधी हैं, जिसमें चार गिरफ्तार हुए हैं और विकास दुबे सहित छह पुलिस के द्वारा मारे गए। उन्होंने कहा कि ये पुलिस की अलग-अलग कार्रवाइयों में मारे गए हैं।

पुलिस के अनुसार, विकास दुबे ने अपने गिरोह के सदस्यों को पुलिस से लूटे गए हथियारों को छिपाने के लिए कहा था, जिसे पुलिस ने बरामद कर लिया है।

पुलिस ने अपने इनकाउंटर में बताया कि सर्च के दौरान विकास दुबे के घर से एके 47 रायफल, 17 कारतूस और एक अन्य गिरफ्तार शशिकांत के घर से इंसास रायफल व 20 कारतूस बरामद किए गए हैं।


एडीजी ने कहा कि इस हत्याकांड के 11 अपराधियों की पुलिस अभी तलाश कर रही है।

एडीजी प्रशांत कुमार ने कहा कि इस मामले में शशिकांत की गिरफ्तारी भी हुई है, वह गिरफ्तार किए गए चार अपराधियों में एक है।

Next Story

विविध

Share it