Top
उत्तर प्रदेश

कानपुर इनकाउंटर : इस पुलिस अधिकारी ने बताई विकास दुबे की गुंडागर्दी की कहानी

Janjwar Desk
6 July 2020 4:35 AM GMT
कानपुर इनकाउंटर : इस पुलिस अधिकारी ने बताई विकास दुबे की गुंडागर्दी की कहानी
x
विकास दुबे के गुंडागर्दी की कहानी परत दर परत सामने आ रही है। उसके लोगों के साथ घटनास्थल पर मौजूद पुलिस अधिकारी के बयान भी उसके खिलाफ ठोस आधार बनेंगे...


जनज्वार। दो-तीन जुलाई की मध्यरात्रि हुए कानपुर इनकाउंट मामले में नए खुलासे हो रहे हैं और ऐसे तथ्य सामने आ रहे हैं, जो गैंगस्टर विकास दुबे के खिलाफ केस को मजबूत बनाएंगे। इस मामले में बिठूर थाना के घायल एसएचओ कौशलेंद्र कुमार का रविवार को बयान आया है। कौशलेंद्र कुमार ने कहा है कि हमारी टीम 12.30 बजे विकास दुबे के गांव बिकरू छापामारी के लिए रवाना हुई। हमलोगों ने उसके घर के पास पहुंचने पर अपनी कार पार्क कर दी और पैदल चल कर उसके घर की ओर जा रहे थे, तभी हम पर उंची जगह से गोलियां चलाई गईं।

उन्होंने कहा कि जब हम जा रहे थे तो एक जेसीबी पहले से वहां रास्ते पर था और जब उसके घर के करीब पहुंचे तो हमारी टीम पर फायरिंग शुरू कर दी गई। हम उन्हें देख नहीं पाये लेकिन वे एक ऊंची जगह से ऐसा कर रहे थे, जहां से हमें साफ तौर पर देख सकते थे।



पुलिस ने इससे पहले विकास दुबे के करीबी दयाशंकर अग्निहोत्री को जिंदा पकड़ने में कामयाबी पाई और उससे राज उगलवा रही है। दयाशंकर खुद भी एक अपराधी है और घटना के वक्त विकास दुबे के घर पर था। उसने कहा है कि पुलिस थाने से विकास के पास फोन आया था, जिसके बाद उसने 25-30 लोगों को अपने घर पर बुला लिया।

विकास दुबे के घर से पुलिस ने हथियार सहित दो किलो विस्फोटक भी बरामद किया है। वह अपने घर पर बम बनाता था और उसका हमले में उपयोग किया जाता था। कानपुर देहात के एसपी बीके श्रीवास्तव ने कहा है कि जब्त किए गए हथियार उसके सहयोगियों के नाम पर हैं, लेकिन इनका उपयोग विकास खुद करता था।



उधर, विकास दुबे की पुलिस तलाश कर रही है और छापेमारी चल रही है। उसकी शिनाख्त के लिए पुलिस ने जगह-जगह उसके पोस्टर भी चिपकवाये हैं। उन्नाव टोल प्लाजा पर भी ऐसे ही पोस्टर चिपकाये गए हैं।



विकास के भाई ने हड़प ली थी कार

विकास दुबे ही नहीं उसका भाई दीप प्रकाश भी गुंडागर्दी किया करता था। लखनऊ में शनिवार को दीप प्रकाश के घर से बरामद की गई कार एक युवक ने हड़पी गई थी। इस मामले में पीड़ित युवक विनीत पांडेय ने विकास दुबे और उसके भाई के खिलाफ धोखाधड़ी, जान से मारने की धमकी देने, गाली गलौज करने और रंगदारी मांगने सहित विभिन्न धाराओं में प्राथमिकी दर्ज कराई है। इस मामले की पुलिस पड़ताल कर रही है।

Next Story

विविध

Share it