Top
उत्तर प्रदेश

दिल्ली कोर्ट में सरेंडर कर सकता है कानपुर का गैंगस्टर विकास दुबे, इनाम की राशि हुई दोगुनी

Janjwar Desk
8 July 2020 8:29 AM GMT
दिल्ली कोर्ट में सरेंडर कर सकता है कानपुर का गैंगस्टर विकास दुबे, इनाम की राशि हुई दोगुनी
x

फरीदाबाद के होटल के सीसीटीवी फुटेज में अपराधी विकास दुबे दिख रहा है।

विकास दुबे सरेंडर करने के लिए वकीलों के संपर्क में है। इस वक्त उसके पास अपना कोई वाहन भी नहीं है...

जनज्वार, कानपुर। 2 जुलाई 2020 की देर रात कानपुर के बिकरू गाँव में बदमाश विकास दुबे और उसके साथी बदमाशों ने रेड मारने गई पुलिस टीम पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाकर यूपी पुलिस के आठ जवानों को मौत के घाट उतार दिया था। अब तक फरार विकास दुबे उर्फ पंडितजी पर इनाम की धनराशि बढ़ाकर 5 लाख रुपये कर दी गई है। विकास को ढूंढने के लिए एसटीएफ सहित पुलिस की 100 टीमें दिन रात खाख छान रही हैं।

हरियाणा पुलिस ने मंगलवार को फरीदाबाद के एक होटल में छापेमारी की है, मौके से पुलिस ने तीन आरोपियों को भी हिरासत में लिया है। होटल में विकास दुबे के छिपे होनें के शक में पुलिस ने छापेमारी की थी, बताया जा रहा है 2.3 दिनों से ओयो होटल के अलावा विकास दुबे नहर पार की न्यू इंदिरा कॉलोनी में अपने कुछ दूर के रिश्तेदारों के यहां रुका हुआ था। हालाँकि छापेमारी के दौरान शातिर विकास दुबे पुलिस के आने से पहले वहां से निकल गया, लेकिन वह वहां लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया।

फरीदाबाद के होटल से पुलिस ने कार्तिकेय उर्फ़ प्रभात नामक युवक की गिरफ्तारी की है, कहा जा रहा है कि कानपुर गोलीकांड में प्रभात विकास दुबे के साथ ही था। प्रभात के पास से मौके पर 4 हथियार बरामद हुए हैं जिसमें 2 सरकारी पिस्टल यूपी पुलिस की बताई जा रही हैं।

फरीदाबाद में छिपे होने की सूचना के बाद दुर्दांत विकास दुबे की धरपकड़ तेज कर दी गयी है। हरियाणा, दिल्ली-एनसीआर में अलर्ट जारी कर दिया गया है। गुरुग्राम के पुलिस कमिश्नर केके राव ने बताया कि विकास दुबे लंगड़ा कर चलता है, उसके पास अपना कोई निजी वाहन नहीं है। वह ऑटो, टैक्सी अथवा बस से मूवमेंट कर सकता है। कोशिश है कि विकास दुबे को बचकर जानें नहीं देंगे। बता दें कि विकास दुबे को ढूढने के लिए एसटीएफ के साथ-साथ पुलिस की 100 से ज्यादा टीमें लगी हुई हैं।

बुधवार सुबह साढ़े 6 बजे यूपी पुलिस और एसटीएफ ने मिलकर हमीरपुर में विकास दुबे के दाहिने हाथ माने जाने वाले अमर दुबे को एनकाउंटर में मार गिराया। अमर दुबे विकास का दाहिना हाथ होने के अलावा उसका भतीजा भी बताया जा रहा है। अमर दुबे कानपुर के बिकरू गोलीकांड में शामिल था।

विकास के फरीदाबाद में छुपे होने के बाद गरगरमियां तेज हो गई हैं। खुफिया टीमों का कहना है कि विकास दिल्ली की कोर्ट में सरेंडर करने की फिराक में है। विकास लगातार वकीलों के सम्पर्क में बताया जा रहा है।

Next Story

विविध

Share it