Top
उत्तर प्रदेश

गैंगस्टर विकास दुबे कांड : जय वाजपेयी की पत्नी श्वेता वाजपेयी आयी सामने, बोलीं - 'मेरे पति को फंसाया जा रहा है'

Janjwar Desk
11 Aug 2020 2:47 AM GMT
गैंगस्टर विकास दुबे कांड : जय वाजपेयी की पत्नी श्वेता वाजपेयी आयी सामने, बोलीं - मेरे पति को फंसाया जा रहा है
x

जय वाजपेयी का फाइल फोटो व श्वेता वाजपेयी। 

जय वाजपेयी को गैंगस्टर विकास दुबे का सबसे करीबी शख्स माना जाता था। पुलिस ने कई चरण की पूछताछ के बाद गुंडा एक्ट के तहत जय वाजपेयी को बीते दिनों गिरफ्तार किया। अब उसकी पत्नी अपने पति को बेकसूर बता रही हैं...

जनज्वार। कानपुर के कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे मामले में एसआइटी जांच दायरे में आए जय वाजपेयी की पत्नी श्वेता वाजपेयी पहली बार मीडिया के सामने आयी हैं और अपने पति का बचाव किया है। श्वेता ने मीडिया के सामने अपना पक्ष रखते हुए कहा है कि उनका पति जय वाजपेयी बेकसूर है। जय वाजपेयी गैंगस्टर विकास दुबे के खजांची के रूप में चर्चित रहा है और वही उसके सारे काले धन का हिसाब-किताब रखने वाला शख्स बताया जाता हैै।

जय वाजपेयी व उसके भाइयों पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है। जय वाजपेयी की पत्नी ने कहा है कि उनके पति को जबरन फंसाया जा रहा है। उन्होंने कोई गलत काम नहीं किया है। श्वेता ने यह भी कहा है कि उनके परिवार को इस मामले में घसीटा जा रहा है और उनका इस मामले से कोई लेना-देना नहीं है।

श्वेता ने कहा कि घटना के वक्त उनके पति घर पर थे, फिर भी उन्हें आरोपी बनाया गया है। पुलिस ने सारे सीसीटीवी फुटेज चेक कर लिए हैं। एसआइटी ने बिकरू कांड मामले में विकास दुबे के खजांची जय वाजपेयी व उससे जुड़े दस लोगों की संपत्तियों का ब्यौरा मांगा है।

कानपुर देहात के बिकरू गांव में अपराधी विकास दुबे ने अपने गुंडों के साथ दो-तीन जुलाई की मध्य रात्रि पुलिस टीम पर हमला कर दिया था, जिसमें आठ पुलिस वालों की मौत हो गई थी। पुलिस टीम विकास दुबे को गिरफ्तार करने पहुंची थी।

इसके बाद विकास दुबे फरार हो गया था, हालांकि उज्जैन से उसे गिरफ्तार किया गया और वहां से कानपुर लाए जाने के दौरान दस जुलाई को उसका इनकाउंटर कर दिया गया।

जय वाजपेयी पर हैं कई गंभीर आरोप

जय वाजपेयी पर आठ पुलिसकर्मियों की हत्या से पहले विकास दुबे को रुपये व 25 कारतूस देने का आरोप है। उस पर अपने आसपास के इलाके में लोगों का भयादोहन करने का भी आरोप है। उसके डर से उसके खिलाफ लोग कोई बयान भी देने से बचते थे। उसने अपनी फारच्यूनर गाड़ी में एटा के अलीगंज के भाजपा विधायक सतपाल सिंह राठौर का फर्जी पास लगा कर रखा था। उस मामले में उस पर 420 का मामला भी दर्ज किया गया है।

Next Story

विविध

Share it