Top
उत्तर प्रदेश

कानपुर का गैंगस्टर विकास दुबे उज्जैन से पकड़ा गया

Janjwar Desk
9 July 2020 4:26 AM GMT
कानपुर का गैंगस्टर विकास दुबे उज्जैन से पकड़ा गया
x

File photo

कानपुर का कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे पुलिस से भागते छिपते हुए मध्यप्रदेश के उज्जैन पहुंच गया था और आखिरकार उसने इनकाउंटर में मौत के डर से खुद को गिरफ्तार करवा लिया...

जनज्वार। कानपुर इनकाउंटर केस का मुख्य आरोपी व हिस्ट्रीशीटर बदमाश विकास दुबे आखिरकार मध्यप्रदेश के उज्जैन में गिरफ्तार कर लिया गया। विकास दुबे ने अपने साथियों के साथ कानपुर के बिकरू गांव में दो-तीन जुलाई की मध्य रात्रि को आठ पुलिस कर्मियों की हत्या कर दी थी।

विकास दुबे की गिरफ्तारी महाकाल मंदिर के पास हुई। इससे पहले वह पुलिस को चकमा देकर फरीदाबाद से भाग गया था। उसने महाकाल मंदिर के सिक्यूरिटी में तैनात पुलिसकर्मियों को अपनी पहचान बतायी जिसके बाद उसे अरेस्ट कर लिया गया। उसने मंदिर के अंदर जाकर सरेंडर करने की कोशिश की थी।



विकास दुबे की गिरफ्तारी से पहले उसके पांच सहयोगियों को पुलिस ने इनकाउंटर में मार गिराया, जबकि कई अन्य सहयोगियों को जीवित गिरफ्तार करने में सफलता पायी।

विकास दुबे फिलहाल उज्जैन की स्थानीय पुलिस की हिरासत में है और उसकी गिरफ्तारी की पुष्टि की पुष्टि उत्तरप्रदेश पुलिस ने की है। विकास दुबे कोर्ट में सरेंडर करने की कोशिश में था, लेकिन इसमें सफल नहीं हो पाया। ऐसे में उसने पुलिस को खुद अपनी पहचान बताकर गिरफ्तारी दी। शायद उसे यह भय था कि अगर वह यूं ही छिपता भागता रहा तो इनकाउंटर में मारा जा सकता है, इसलिए पुलिस के समक्ष सरेंडर कर दिया।

मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि यह पुलिस की एक बड़ी कामयाबी है। उन्होंने कहा कि कानपुर की नृशंस घटना के बाद हमने पूरे मध्यप्रदेश और पुलिस को अलर्ट कर रखा था और जैसे ही संदेह हुआ उसे उज्जैन के महाकाल मंदिर के पास से गिरफ्तार कर लिया गया है।

विकास दुबे के ये पांच करीबी इनकाउंटर में मारे गए

यूपी एसटीएफ व पुलिस विकास दुबे के पांच लोगों का दो-तीन जुलाई की रात की घटना के बाद इनकाउंटर कर चुकी है। आज भी उसके करीबी प्रभात मिश्रा व रणवीर शुक्ला का पुलिस ने इनकाउंटर किया। प्रभात मिश्रा को कानपुर में तो रणबीर शुक्ला को इटावा में पुलिस ने मार गिराया। इससे पहले उसके भतीजे व करीबी व अमर दुबे को आठ जुलाई को पुलिस ने मार गिराया था। जबकि उस घटना से पहले उसके एक मामा व एक चचेरे भाई को पुलिस ने इनकाउंटर में मारा था। इसके अलावा उसके कुछ सहयोगियों को पुलिस ने जिंदा गिरफ्तार किया है।


शिवराज सिंह चौहान ने योगी आदित्यनाथ से बात

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस मामले में उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से बात की है। उन्होंने यह भी दावा किया है कि उसे मध्यप्रदेश पुलिस ने गिरफ्तार किया है। मध्यप्रदेश पुलिस विकास दुबे को यूपी पुलिस को सौंपेगी।

Next Story

विविध

Share it