Top
उत्तर प्रदेश

विकास दुबे के गुर्गे जय बाजपेई की पत्नी और माँ को बाहर कर पुलिस ने 4 मकानों पर जड़े ताले

Janjwar Desk
7 Sep 2020 9:18 AM GMT
विकास दुबे के गुर्गे जय बाजपेई की पत्नी और माँ को बाहर कर पुलिस ने 4 मकानों पर जड़े ताले
x
जय बाजपेई की पत्नी श्वेता ने पति के गैंगस्टर विकास से संबंधों से इनकार किया है। उन्होंने कहा कि यह संपत्ति हमलोगों ने अपनी मेहनत से बनायी है। हर किसी को बुरे वक्त में हमलोगों ने मदद की...

जनज्वार। बिकरू वाले विकास दुबे के मैनेजर रहे गैंगस्टर जय बाजपेई के चार मकानों पर कानपुर पुलिस ने ताला जड़ दिया है। ताला डाले गए मकानों से एक में कुख्यात की पत्नी व बच्चे रहते थे तथा बगल में भाई अभयकांत सहित उसका परिवार व मां रहती है। ताला मारे जाने के दौरान परिजनों ने जय व उसके भाइयों को बेगुनाह बताया। पूरा दोष उन्होंने अधिवक्ता, पुलिस और मीडिया को दिया है।

गैंगस्टर जय और उसके भाइयों की 11 संपत्तियों की जब्ती आदेश के बाद रविवार दोपहर सदर तहसीलदार अतुल कुमार की अगुवाई में टीम ब्रह्मनगर स्थित जय विला पहुंची। शनिवार रात को ही किरायेदारों द्वारा खाली किये गए इस मकान को सील किया गया। इसके बाद एक एक कर चार मकानों पर ताला जड़ दिया गया। इन सील किये गए मकानों में जय की पत्नी श्वेता छोटे भाई अभयकांत, मां, पत्नी पूजा समेत बच्चों को घर से बाहर किया गया।

कार्रवाई के दौरान प्रशाशनिक टीम के साथ नजीराबाद, फजलगंज, अर्मापुर सहित कर्नलगंज थाने की फ़ोर्स सहित पीएसी बल भी मौजूद रहा। तहसीलदार सदर अतुल कुमार ने बताया कि जय और उसके भाइयों की अभी 4 संपत्तियां जब्त की गई हैं। आगे भी आलाधिकारियों के आदेश के बाद कार्रवाई जारी रहेगी। इस कार्रवाई के बीच जय की पत्नी श्वेता रह-रह कर बौखलाती रही।


सब बुरा बता रहे, सबूत तो दो

गैंगस्टर जय बाजपेई की पत्नी श्वेता ने पुलिस व मीडिया को भी खरी खोटी सुनाई। उसने कहा इस मुहल्ले में कभी मैंने सिर से पल्लू नहीं हटाया। लेकिन यहां के लोगों को हम खटकते रहे। आज मेरे पति को बुरा बताने वाले यह नहीं बताते की उनके बुरे वक्त में हमने ही सबका साथ दिया था। श्वेता ने जय द्वारा विकास से रुपयों के लेन-देन कि बात भी नकारी। उसने कहा किसी के पास सबूत हो तो दिखाए।

विकास से नहीं मतलब, हमारी मेहनत की कमाई

जय की पत्नी श्वेता का कहना है कि उनके पति का विकास दुबे से कोई लेना देंना नहीं था, यह सब हमारी मेहनत की कमाई गई संपत्तियां हैं। दुबई थाईलैंड में उनकी कोई संपत्ति नहीं है। उसके पास महज 6 संपत्तियां हैं जिनकी कीमत दो से तीन करोड़ है। जिसमे एक मकान पर लोन भी है। श्वेता का आरोप है कि उसके परिवार को इस हाल में पहुंचाने वाला वकील सौरभ भदौरिया है। सौरभ पर भी 4-5 मुकदमे हैं। उस पर भी गैंगस्टर एक्ट लगाना चाहिए था।

वहीं पूरे मामले में जय बाजपेई के खिलाफ कार्रवाई करवाने वाले अधिवक्ता सौरभ भदौरिया का कहना है कि जय बाजपेई और उसके भाइयों के खिलाफ जो भी जांच हो रही है वह वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों व मजिस्ट्रेट की जांच के बाद हो रही है। मेरे खिलाफ सार्वजनिक तौर पर अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल किया गया, जिसके लिए मैं मानहानि का मुकदमा दर्ज कराऊंगा।

Next Story

विविध

Share it