Top
उत्तर प्रदेश

उत्तरप्रदेश में आज से फिर लाॅकडाउन लागू, जगह-जगह सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त

Janjwar Desk
11 July 2020 3:39 AM GMT
उत्तरप्रदेश में आज से फिर लाॅकडाउन लागू, जगह-जगह सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त
x
उत्तरप्रदेश में शुक्रवार रात से लागू हुए मिनी लाॅकडाउन का असर आज सुबह से दिख रहा है...सड़कें सुनी हैं, सुरक्षा कड़ी...

जनज्वार। उत्तरप्रदेश में आज (11 जुलाई) से फिर कल रात से लागू लाॅकडाउन का असर दिख रहा है। यह लाॅकडाउन ढाई दिन के लिए 10 जुलाई की रात दस बजे से प्रभावी है और 13 जुलाई की सुबह पांच तक लागू रहेगा। इस बेहद छोटे लाॅकडाउन को लेकर रात से ही राज्य के विभिन्न इलाकों में सुरक्षा बढा दी गई है और अलग-अलग हिस्से से लाॅकडाउन को लेकर बरती जा रही सख्ती की तसवीरें आईं हैं।

राज्य में लाॅकडाउन बढाने का यह फैसला कोरोना के बढते मामलों के मद्देनजर लिया गया है। उत्तरप्रदेश में अबतक 32, 362 करोना मामलों की पुष्टि हो चुकी है और 862 मौतें हो चुकी हैं।

प्रयागराज में सड़कों आज सुबह लाॅकडाउन के कारण सड़कें सूनी दिख रही हैं। पुलिस ने कई जगह बैरिकेड लगा दिया है ताकि लोग उन हिस्सों में प्रवेश नहीं कर सकें। हालांकि आवश्यक सेवाओं की अनुमति है।



उधर, नोएडा-दिल्ली बार्डर पर पुलिस आने-जाने वालों का आइडी चेक कर रही है और वाहनों की जांच की जा रही है।

वाराणसी में भी दैनिक कामकाज पर जाने वाले लोगों के पहचान पत्र की जांच कर ही उन्हें आने-जाने की अनुमति दी जा रही है।

इस लाॅकडाउन में किस-किस चीज में मिलेगी राहत

सरकार ने इस मिनी लाॅकडाउन के लिए अपनी गाइडलाइन पहले ही जारी की है। इसमें सभी कार्यालय, बाजार व व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे। हालांकि आवश्यक सेवाओं को छूट दी गई है। पहले से शिड्यूल विशेष ट्रेनें चलती रहेंगी और शिड्यूल हवाई यात्रा होती रहेगी। जरूरी सेवाओं की बसों को छोड़ कर बसों का परिचालन नहीं होगा। मालवाहक वाहनों पर रोक नहीं रहेगी। हाइवे के किनारे ढाबे व पेट्रोल पंप खुले रहेंगे।

सरकार की खुद की घोषणा के अनुसार, कोरोना वायरस के बढते संक्रमण और संक्रामक रोगों जैसे एनालिसफेलाइटिस, मलेरिया, डेंगू, कालाजार के संक्रमण को रोकने के लिए सरकार ने लाॅकडाउन लगाने का निर्णय लिया है।

ग्रामीण इलाकों के कारखाने फैक्टरी में कामकाज होता रहेगा और उसके लिए सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना होगा। आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों को आवाजाही के लिए पहचान पत्र दिखाना होगा शहरी इलाकों में लगातार चालू रहने वाले कारखाने ही चलेंगे। मेडिकल सर्विलांस टीमें इस दौरान घर-घर जाकर लोगों की मेडिकल स्क्रीनिंग करेंगी।

Next Story

विविध

Share it