Top
उत्तर प्रदेश

भूमिपूजन से पहले मंदिर में शादी करने वाले प्रेमी युगल की फावड़े से काटकर हत्या

Janjwar Desk
5 Aug 2020 4:19 PM GMT
भूमिपूजन से पहले मंदिर में शादी करने वाले प्रेमी युगल की फावड़े से काटकर हत्या
x
अमरजीत और रीमा ने कुछ एक साल पहले मंदिर में प्रेम विवाह किया था और इसके बाद से एक साथ रहने लगे थे, दोनों की पहले शादी हो चुकी है, रीमा के पति की एक्सीडेंट में मौत हो चुकी है जबकि अमरजीत की पत्नी और दो बच्चे गांव में रहते हैं.....

मनीष दुबे की रिपोर्ट

गोरखपुर। अयोध्या में जब रामराज्य की परिकल्पना सज रही थी तभी अपराधी अपने मंसूबों को अंजाम दे रहे थे। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। मंगलवार की देर रात टिनशेड में सो रहे 40 वर्षीय अमरजीत गुप्त व 35 वर्षीय रीमा गौड़ को फावड़े से काटकर मौत के घाट उतार दिया गया। रीमा के परिवार और गांव के लोगों को बुधवार को घटना के बारे में पता चला। फिलहाल अभी तक हत्या की वजह साफ हो पाई है।

सूत्रों के मुताबिक अमरजीत और रीमा ने कुछ एक साल पहले मंदिर में प्रेम विवाह किया था और इसके बाद से एक साथ रहने लगे थे। दोनों की पहले शादी हो चुकी है। रीमा के पति की एक्सीडेंट में मौत हो चुकी है जबकि अमरजीत की पत्नी और दो बच्चे गांव में रहते हैं। मौके से जेवर के खाली डिब्बे भी मिले हैं। ग्रामीणों द्वारा घटना की सूचना पर पहुंचे एसएसपी डॉ सुनील गुप्ता, एसपी नाथ अरविंद पांडे, फॉरेंसिक टीम के साथ जांच पड़ताल शुरू कर दी है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार ठाकुरपुर नंबर एक के ही शंकपुर टोला निवासी रामरक्षा गौड़ की बेटी रीमा की शादी सात साल पहले महाराजगंज के रविंद्र नाम के युवक से हुई थी। रीमा के पति की एक्सीडेंट में मौत होने के बाद पिता ने दूसरी शादी कर दी थी लेकिन उससे भी अनबन हो गई जिसके बाद रीमा ने अमरजीत के साथ बांस स्थान मंदिर में शादी रचा ली थी। और दोनों साथ रहने लगे थे।

अमरजीत गुप्त गुलरिहा इलाके में स्थित जैनपुर, टोला मोहम्मद बरवा का रहने वाला था। बुधवार को किसी काम से घर से निकले रीमा के चाचा बैजनाथ घूमते हुए उसके घर पहुंचे तो कमरे में खून से लथपथ दोनों का छतविछत शव पड़ा दिखाई दिया। बगल में खून से सना फावड़ा पड़ा हुआ था। अमरजीत के सिर में और रीमा के गले में गहरी चोट का निशान हैं।

रीमा और अमरजीत का शव देखकर घबराए बैजनाथ भाग कर घर पहुंचे और घटना की जानकारी रीमा के पिता को दी। बाद में गांव के लोगों को घटना का पता चला जिसके बाद ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। फॉरेंसिक टीम और डॉग स्क्वॉड के साथ मौके पर पहुंची गुलरिहा थाने की पुलिस घटना की छानबीन में जुटी है। रीमा और अमरजीत के परिजनों ने उनका किसी से भी कोई विवाद होने से इनकार किया है।

एसएसपी डॉ सुनील गुप्ता ने 'जनज्वार' को बताया कि मामले की कई एंगल से जांच की जा रही है। आलाकत्ल के रूप में फावड़ा बरामद किया गया है। इसी फावड़े से दोनों की हत्या की गई है। मृतक व मृतका के सिर व गले पर गहरे जख्म के निशान मिले हैं। दोनों शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवा दिया गया है। मौके पर डॉग स्क्वायड मौजूद है जांच चल रही है जो भी साक्ष्य मिलेंगे उस आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

Next Story

विविध

Share it