उत्तर प्रदेश

Manish Gupta Murder Case: मनीष गुप्ता हत्याकांड में CBI ने 6 पुलिसवालों को माना हत्यारा, सुनकर रो पड़ी पत्नी

Janjwar Desk
8 Jan 2022 4:10 AM GMT
kanpur news
x

(मनीष गुप्ता मामले में सीबीआई ने 6 पुलिसकर्मियों को माना हत्यारा)

भाई रंजीत और बेटे अविराज के साथ आजाद नगर में रह रहीं मीनाक्षी सीबीआई की कार्वाई के बाद भावुक होकर बेटे से कहती हैं, बाबू तुम्हारे पापा को इंसाफ जरूर मिलेगा। इस दौरान बेटा अविराज मां के आंसू पोंछता रहा...

Manish Gupta Murder Case: कानपुर के चर्चित व्यवसायी मनीष गुप्ता मर्डर केस मामले में सीबीआई (CBI) ने लखनऊ की सीबीआई अदालत में चार्जशीट दाखिल कर दी है। सीबीआई ने रामगढ़ताल थाने के इंस्पेक्टर जयनारायण सिंह (JN Singh) व चौकी प्रभारी अक्षय मिश्रा सहित 6 पुलिसवालों को हत्या का आरोपी करार दिया है। सीबीआई का पैसला सुनकर पत्नी मीनाक्षी भावुक होकर रो पड़ीं।

सीबीआई ने अपनी चार्जशीट में इन सभी पुलिसवालों को हत्या, गंभीर उत्तेजना के साथ आपराधिक बल का प्रयोग करना व एक समान इरादे से सभी के द्वारा किया गया आपराधिक कृत्य सहित अन्य गंभीर धाराओं में आरोपी बनाया है। इसकी जानकारी गोरखपुर की सीजेएम कोर्ट को बी दी गई है। सभी आरोपी जेल में हैं साथ ही निलंबित हैं।

सियासत गर्माने पर करानी पड़ी CBI जांच

मनीष गुप्ता की पुलिसवालों द्वारा की गई हत्या का मामला इतना अधिक गरमाया कि सरकार को सीबीआई जांच के लिए मजबूर होना पड़ा। बता दें कि, पहले इसकी जांच कानपुर पुलिस को दी गई थी। जिसके बाद एसआईटी टीम ने जांच की। फिर बाद में मामला सीबीआई को दिया गया। सीबीआई जांच के मुताबिक 27 सितंबर को एसओ जेएन सिंह अपने साथ 5 पुलिसवालों को लेकर गोरखपुर के होटल में जबरन घुसा था। आधी रात बदतमीजी का विरोध करने पर मनीष की पिटाई की गई थी। जिससे उसकी मौके पर मौत हो गई थी।

सुनियोजित ढ़ंग से होटल में जाने के साक्ष्य

सीबीआई बीते तीन महीने से जांच में जुटी थी। 90 दिन पूरे होने के एक दिन पहले ही सीबीआई ने चार्जशीट दाखिल कर दी। मामले में सीबीआई ने 21 से अधिक लोगों के बयान दर्ज किए हैं। जांच में घटना वाले दिन जेएन सिंह एंड कंपनी के सुनियोजित तरीके से होटल में जाने के साक्ष्य मिले हैं। इसी आधार पर आरोपियों पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। टीम ने माना है कि जेएन सिंह के अलावा घटना में शामिल सभी लोग बराबर के गुनहगार हैं।

पत्नी मीनाक्षी की प्रतिक्रिया

मृतक मनीष गुप्ता की पत्नी मीनाक्षी सीबीआई के फैसले के बाद भावुक हो जाती हैं। उनकी आंखों से आंसू निकल पड़े। उन्होने कहा सीबीआई ने अपना काम कर दिया है। यहां तक सभी ने मेरा बहुत साथ दिया। मनीष को इंसाफ दिलाने के लिए। मैं अपनी अंतिम सांस तक लड़ूंगी। भाई रंजीत और बेटे अविराज के साथ आजाद नगर में रह रहीं मीनाक्षी सीबीआई की कार्वाई के बाद भावुक होकर बेटे से कहती हैं, बाबू तुम्हारे पापा को इंसाफ जरूर मिलेगा। इस दौरान बेटा अविराज मां के आंसू पोंछता रहा।

Next Story

विविध