Top
उत्तर प्रदेश

आगरा में RO प्लांट के मालिक ने चोरी के शक में पूरे परिवार को बनाया बंधक, करंट लगाकर दीं भयानक यातनाएं

Janjwar Desk
16 Jun 2020 5:44 AM GMT
आगरा में RO प्लांट के मालिक ने चोरी के शक में पूरे परिवार को बनाया बंधक, करंट लगाकर दीं भयानक यातनाएं
x
आरओ प्लांट के मालिक की बर्बरता की गवाही देते बच्चों के चेहरे और पीठ पर पड़े मार के निशान
जब निजाम और उसका परिवार चोरी की बात से इंकार करता रहा तो अबरार ने उन्हें करंट लगातार प्रताड़ित किया, 3 दिन तक पूरे परिवार को भूखा-प्यासा रखा गया...

जनज्वार। कोरोना की भयावहता के बीच पहले ही गरीब-मजदूर वर्ग को खाने के लाले पड़े हैं, उसके लिए दो वक्त की रोटी का जुगाड़ करना मुश्किल हो रहा है, ऐसे में जिन लोगों के पास काम है उन्हें भी मालिकों द्वारा प्रताड़ित करने की खबरें आमतौर पर सामने आती रहती हैं।

आगरा में पूरे परिवार को आरओ मालिक ने चोरी के शक में न सिर्फ बंधक बनाकर रखा, बल्कि बर्बरता की हाइट पार करते हुए करंट के शॉक दिये गये। बच्चों के चेहरों और शरीर पर भय और बर्बरता के निशान इस बात की गवाही दे रहे हैं कि उनके साथ मालिक किस तरह से पेश आया। बाद में यह मामला पुलिस के पास पहुंचा तो बंधक परिवार को मुक्त कराया गया। बंधक परिवार पर बरपायी गयी हिंसा का एक वीडियो सोशल मीडिया पर आया है, जो बयां करता है इस परिवार का दर्द और प्रताड़ना के निशान बता रहे हैं कि मालिक ने उन्हें जानवरों की तरह पीटा।

मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक यह मामला शाहगंज आगरा के सराय ख्वाजा का है। यहां आरओ प्‍लांट के मालिक अबरार के यहां निजाम काम करता था। निजाम के परिवार में मां रुखसाना, पत्‍नी मुबीना और दो बच्‍चे शामिल हैं।

5 दिन पहले 10 जून को आरओ प्‍लांट में चोरी हो गई। इसके लिये निजाम को जिम्मेदार ठहराते हुए अबरार ने उसके पूरे परिवार को बंधक बना लिया। अबरार निजाम और उसके पूरे परिवार पर लगातार दबाव डाल रहा था कि वह चोरी करने की बात स्वीकार करे। इसके लिए उसने उन्हें एक कमरे में बंद कर दिया।

तीन दिन तक निजाम के परिवार को कुछ भी खाने को नहीं दिया गया, पीने को पानी तक उपलब्ध नहीं कराया गया। हां, इस दौरान वह पूछताछ के नाम उनके साथ मारपीट करता और करवाता रहा। इसके बाद भी जब निजाम और उसका परिवार चोरी की बात से इंकार करता रहा तो अबरार ने उन्हें करंट लगातार प्रताड़ित किया।

निजाम के पूरे परिवार को अबरार ने अपने घर की दूसरी मंजिल के एक कमरे में बंधक बनाकर रखा था। अबरार का मकान इस ढंग से बना था कि कोई पड़ोसी भी उनकी मदद की गुहार को नहीं सुन पाया।

रविवार 14 जून को यह मामला तब सामने आया जब निजाम के एक रिश्तेदार समीर ने मामले की जानकारी पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने निजाम के परिवार को मुक्त कराया। अपने घर पर पुलिस को आते देख अबरार मौके से फरार हो गया। पुलिस निजाम के परिवार को छुड़वाकर चौकी लायी और शिकायत दर्ज कर उनका मेडिकल करवाया गया।

Next Story

विविध

Share it